Remove China Apps गूगल प्ले-स्टोर से हटा, अब भी इस तरह खोज कर हटा सकते हैं चीनी एप

विज्ञान

भारतीय मोबाइल यूजर्स के सॉफ्टवेयर से चीनी एप का पता लगाने और फिर उन्हें डिलीट करने में मददगार बने Remove China Apps को गूगल प्ले-स्टोर ने हटा दिया है. इस एप को हटाने की कोई वजह गूगल ने नहीं दी है.

Google Play Store

नीतियों के उल्लंघन पर हटा दया Remove China Apps (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • प्ले-स्टोर से Remove China Apps हटा. पहले हटाया था Mitron को.
  • गूगल ने कोई कारण नहीं बताया, लेकिन कंपनी ने साझा की जानकारी.
  • साथ ही बताया इसके बावजूद चीनी एप खोज कर उन्हें हटाने का तरीका.

नई दिल्ली:

चीन (China) की दोगली नीतियों को लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता है. भारतीय मोबाइल यूजर्स के सॉफ्टवेयर से चीनी एप का पता लगाने और फिर उन्हें डिलीट करने में मददगार बने Remove China Apps को गूगल प्ले-स्टोर ने हटा दिया है. इस एप को हटाने की कोई वजह गूगल ने नहीं दी है. हालांकि इसे हटाए जाने करी जानकारी एप बनाने वाली भारतीय कंपनी ने ट्वीट के जरिये साझा की है. भारतीयों को धन्यवाद देते हुए कंपनी ने चीनी एप हटाने का दूसरा तरीका भी बताया है. हालांकि जानकारों की मानें तो इस भारतीय एप को हटाने की वजह गूगल की नीतियां बनी हैं, जिन्हें भ्रामक व्यवहार नीति के नाम से जाना जाता है. इसके पहले गूगल प्ले-स्टोर ‘टिक टॉक’ की तरह काम करने वाले मित्रों (Mitron) एप को भी हटा चुका है. गौरतलब है कि Remove China Apps ने कुछ ही दिनों में जबर्दस्त लोकप्रियता हासिल कर ली थी, जिसे देख चीन तक में अफरा-तफरी का माहौल था.

यह भी पढ़ेंः रोहिणी कोर्ट के जज Corona पॉजिटिव, पत्‍नी पहले ही हो चुकीं संक्रमित

कंपनी ने बताया अब कैसे खोज सकते हीं चीनी एप
भारतीय कंपनी वन टच एप लैब्स की आधिकारिक ट्वीट से पता चला कि गूगल प्ले-स्टोर ने Remove China Apps को हटा दिया है. 17 मई को गूगल प्ले पर लाइव होने वाले इस एप को अभी तक 50 लाख से ज्यादा यूजर्स डाउनलोड कर चुके थे. यही नहीं, गूगल प्ले पर इस एप को 4.9 रेटिंग के साथ अधिकतर पॉजिटिव रिव्यूज भी मिले. हालांकि कंपनी ने चीनी एप को डिलीट करने वाले एप को हटाए जाने के बावजूद चीनी एप का पता लगाकर उन्हें डिलीट करने का नया तरीका भी सुझाया है. कंपनी की ट्वीट के मुताबिक origin country गूगल पर सर्च करके कोई भी जान सकता है कि संबंधित एप किस देश का है. इस तरह भारतीय अभी भी चीनी एप को खोज कर उन्हें अपने मोबाइल से डिलीट कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः चीन में Remove China App से अफरा-तफरी, भारत को दी ‘जैसे को तैसा’ अंदाज वाली धमकी

Mitron को भी हटाया गया प्ले-स्टोर से
जानकारों का कहना है कि इस एप ने गूगल प्ले स्टोर की भ्रामक व्यवहार नीति (Deceptive Behaviour Policy) का उल्लंघन किया है. इस नीति के तहत कोई भी एप यूजर की डिवाइस सेटिंग्स में या एप के बाहर के फीचर में कोई बदलाव नहीं कर सकता, साथ ही किसी अन्य थर्ड पार्टी एप को हटाने के लिए प्रेरित नहीं कर सकता है. ऐसे में गूगल ने अपनी नीतियों के चलते रिमूव चाइना एप्स को प्ले-स्टोर से हटाया है. गौरतलब है कि इससे पहले मंगलवार को ही प्ले-स्टोर से टिकटॉक की तरह ही काम करने वाले Mitron एप को भी हटाया है.

यह भी पढ़ेंः शादी में मास्‍क नहीं पहने थे दूल्‍हा-दुल्‍हन, हाई कोर्ट ने लगा दिया 10 हजार रुपये का जुर्माना

चीन ने धमकी तक दे डाली
यह अलग बात है कि गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध होने के चंद हफ्तों के भीतर ही इस एप ने चीनी प्रशासन की नाक में दम कर दिया था. यहां तक कि भारत-चीन सीमा विवाद और चीनी एप के धड़ाधड़ तरीके से डिलीट होते देख चीन के अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ की रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि यह सॉफ्टवेयर भारत के जिस इंजीनियर ने बनाया है वह चीन की एक कंपनी में काम करता था और उसे कोरोना वायरस की महामारी के दौरान नौकरी से निकाल दिया गया. ‘ग्लोबल टाइम्स’ का कहना है कि इंजीनियर भारत में बने चीन-विरोधी माहौल का फायदा उठा रहा है और यह सॉफ्टवेयर सीमा विवाद के बीच भारत और चीन के रिश्तों के लिए खराब हो सकता है. ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने चेतावनी तक दे डाली कि है कि अगर भारत सरकार चीन-विरोधी भावनाओं को द्विपक्षीय संबंधों को खराब करने देती है तो बीजिंग से उसे ‘जैसे को तैसे’ की सजा मिल सकती है. अखबार से बातचीत में बीजिंग के एनालिस्ट लिउ डिंगडिंग ने दावा किया है कि भारत में इस भावना से चीनी कंपनियों पर कुछ असर नहीं होगा क्योंकि ‘मेड इन इंडिया’ की पहल बिना चीनी उत्पादन के कुछ नहीं कर सकती.


For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 03 Jun 2020, 09:50:39 AM

Articles You May Like

कराची में पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर आतंकी हमला, दो की मौत : स्थानीय मीडिया
लॉकडान की वजह से महाराष्ट्र से चीनी निर्यात प्रभावित
कोरोनावायरस की वैक्सीन से जुड़ी खबर, अमेरिकी बायोटेक फर्म की रिपोर्ट में मिले बेहतर नतीजों के संकेत
यूरोपीय संघ ने चीन, अमेरिका को छोड़कर 15 राष्ट्रों की सीमाओं को फिर से खोला
पेटीएम पेआउट्स ने किया उद्यमों के लिये 1,500 करोड़ रुपये के वेतन-भत्ते के हस्तांतरण का काम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *