विचार

इब्राहिम मोहम्मद सोलिह पड़ोसी द्वीपीय देश मालदीव की जनता ने साफ कर दिया है कि वह लोकतांत्रिक व्यवस्था में रहना चाहती है, तानाशाही उसे मंजूर नहीं है। यह बताने के लिए ही उसने मौजूदा राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन को नकार कर विपक्ष के साझा उम्मीदवार इब्राहिम मोहम्मद सोलिह को नया प्रेजिडेंट चुना है। यामीन के खिलाफ
0 Comments
देश भर में विधायकों की सालाना आमदनी को लेकर आई ताजा स्टडी हमारे लोकतंत्र के कुछ अंधेरे पक्षों पर नए सिरे से रोशनी डालती है। यह स्टडी चुनाव सुधारों पर काम करने वाले एनजीओ असोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने की है और यह भारत के कुल 4086 विधायकों में से 3145 द्वारा दिए गए
0 Comments
राहत की बात है कि स्वास्थ्य मंत्रालय का ध्यान इधर मरीजों के अधिकारों की ओर गया है। उसने अस्पताल में मरीजों के साथ होने वाले व्यवहार और उन अन्य अधिकारों को लेकर एक घोषणापत्र (चार्टर) का मसौदा जारी किया है। पिछले दिनों राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस तरह का चार्टर जारी करने की सिफारिश की
0 Comments
केन्या के इलियुद किपचोगे ने मैराथन दौड़ में एक नई ऊंचाई को छुआ है। यह वह मंजिल है, जहां आज तक कोई नहीं पहुंचा, और 2 घंटे की उस समय सीमा से भी यह सांस भर की ही दूरी पर है, जिसे मैराथन के मामले में इंसानी हद की भी हद माना जाता है। 33
0 Comments
खुद को ‘सांस्कृतिक संगठन’ बताने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भारत के भविष्य को लेकर अपना नजरिया बताने की एक बड़ी पहल की है। राजधानी दिल्ली में सोमवार से शुरू हुए तीन दिवसीय कार्यक्रम में संघ नेतृत्व देश-विदेश से आमंत्रित अतिथियों के सामने यह स्पष्ट कर रहा है कि भारत के भविष्य से जुड़े विविध
0 Comments
इसरो के पूर्व वैज्ञानिक नंबी नारायणन को अत्यधिक कठिन और बेहद लंबी लड़ाई के बाद आखिरकार सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली। कोर्ट ने गलत ढंग से गिरफ्तारी के इस मामले में न केवल उन्हें 50 लाख रुपये मुआवजा दिए जाने का निर्देश दिया है, बल्कि उन्हें फंसाने में संबंधित पुलिस ऑफिसरों की भूमिका की जांच
0 Comments
यह कुछ हद तक राहत की बात है कि मानव विकास सूचकांक (ह्यूमन डिवेलपमेंट इंडेक्स) में इस बार भारत की रैंकिंग में एक पायदान का सुधार हुआ है, लेकिन इतने से काम नहीं चलने वाला। भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में एक है। हमें आज एक महत्वपूर्ण वैश्विक शक्ति के रूप
0 Comments
प्रतीकात्मक चित्र राजनेताओं के आदर्शवादी दावों के बावजूद देश की आम राय आज भी यही है कि वे लोगों को गुमराह करते हैं। अंतरराष्ट्रीय मार्केट रिसर्च एजेंसी इप्सॉस ने इस संबंध में एक रोचक सर्वेक्षण किया, जिसमें शामिल 56 प्रतिशत भारतीयों ने माना कि राजनेता लोगों को अपनी बातों से भरमा लेते हैं। 47 फीसदी
0 Comments
हम हादसों से कोई सबक नहीं लेते। रविवार को एक बार फिर राजधानी दिल्ली में सीवर की सफाई करते हुए पांच सफाईकर्मी मारे गए। घटना इस बार भी कदम-दर-कदम पहले की घटनाओं की तरह ही आगे बढ़ी। चार लोगों ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया, पांचवें की इलाज के दौरान मौत हुई।
0 Comments
पिछले दिनों भारत आए नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने कहा कि उनका देश सार्क को पुनर्जीवित करने के साथ ही इसके स्थगित सम्मेलन को जल्द-से-जल्द आयोजित कराना चाहता है। उनके इस बयान से सार्क को लेकर एक बार फिर चर्चा छिड़ गई है। भारत के सियासी और राजनयिक दायरे में दक्षिण
0 Comments
राष्ट्रीय अपराध रेकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) बताता है कि 18 साल से कम उम्र की लड़कियों के साथ रेप के मामलों में मध्य प्रदेश अव्वल है। इस राज्य की सरकार ने इसी साल सुप्रीम कोर्ट को बताया कि रेप होने पर वह पीड़िता को छह से साढ़े छह हजार रुपये निर्भया कोष से देता है। निर्भया
0 Comments
बीजेपी ने पिछले दिनों दिल्ली में आयोजित अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अगले आम चुनाव का बिगुल बजा दिया है। उसने साफ कर दिया है कि पार्टी वर्तमान नेतृत्व के सहारे ही लोकसभा चुनाव में उतरेगी। इसके लिए उसने अध्यक्ष अमित शाह का जनवरी 2019 में खत्म होने वाला कार्यकाल एक साल बढ़ा दिया है। पार्टी
0 Comments
चीन से नेपाल की बढ़ती नजदीकियां भारत की चिंता बढ़ाने वाली हैं। पिछले हफ्ते काठमांडू में दोनों में हुए एक व्यापार समझौते के बाद चीन ने नेपाल के लिए समुद्र के वैकल्पिक रास्ते खोल दिए हैं और उसे अपने चार बंदरगाहों तथा तीन लैंड पोर्टों के इस्तेमाल की इजाजत दी है। अभी तक बाहर से
0 Comments
देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगभग रोज ही नए रेकॉर्ड बना रही हैं। हैरत की बात यह है कि सरकार और सत्तारूढ़ दलों में इस सवाल पर गजब की निश्चिंतता दिख रही है। समय-समय पर केंद्र सरकार का कोई मंत्री आकर ज्ञानवर्धन कर जाता है कि ऐसा अंतरराष्ट्रीय बाजारों में तेल की चढ़ी
0 Comments
भारत और अमेरिका के बीच 2+2 वार्ता के बाद पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि आपसी रिश्तों के इस नक्शे में हमारी जगह कहां है। एक नजर में लगता है कि भारत-अमेरिका और करीब आए हैं, पर दूसरे सिरे से देखने पर लगता है कि अमेरिकी दबाव हमारे ऊपर बढ़ता जा रहा है
0 Comments
दुनिया के 19 लाख लोगों की रोजाना की शारीरिक सक्रियता का अध्ययन करने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन एक चिंताजनक नतीजे पर पहुंचा है। इस सैंपल के आधार पर उसका निष्कर्ष है कि संसार भर में कोई 140 करोड़ लोगों की शारीरिक सक्रियता बेहद कम है। 19 लाख लोगों के सैंपल में 77 हजार भारतीय
0 Comments