राशि

हिंदू धर्म में महिलाएं पति की दीर्घ आयु के लिए कई व्रत रखती हैं और करवाचौथ उन्‍हीं में से एक है। इस दिन पत्‍नियां सारा दिन निर्जला व्रत रखकर शाम को चांद को अर्घ्‍य देकर और भगवान की पूजा करके अपने पति के हाथ से जल ग्रहण करके अपना व्रत तोड़ती हैं। कार्तिक मास के
0 Comments
दीपावली पर धन की देवी लक्ष्मी और बुद्धि के देवता गणपति की पूजा की जाती है। हमारे समाज में इस पूजा से जुड़ा एक और विधान है कि दीपावली पर लक्ष्मी और गणेशजी की नई मूर्ति की पूजा होती है। ऐसे में आप भी नई मूर्ति खरीदने की तैयारी कर रहे हैं तो यहां जानिए
0 Comments
संत राजिन्दर सिंह जी महाराजलोग ऐसा प्रेम नहीं चाहते जो क्षणभंगुर हो। वे एक सरसरी नजर या अल्पकालीन मिलन नहीं चाहते। वे एक शाश्वत दृष्टि, एक शाश्वत मिलन चाहते हैं- अपने प्रियतम के साथ एकमेव होने की शाश्वत अवस्था में रहना चाहते हैं। इस भौतिक संसार के सबसे उत्तम व करीबी रिश्ते भी अंततः खत्म
0 Comments
संकलन : त्रिलोक चन्द जैनबात उन दिनों की है, जब भारत भूषण पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा स्थापित सेंट्रल कॉलेज बनारस में प्रो. रिचर्डसन नामक अंग्रेज प्रधानाचार्य थे। बनारस में रहते हुए रिचर्डसन पर भारतीय संस्कृति और भारतीय जीवन दर्शन का बड़ा प्रभाव पड़ा। वह लगातार दर्शन और अध्यात्म का अध्ययन करते और उसी राह
0 Comments
साझेदारी में किया व्यापार काफी फायदा पहुंचाएगा। व्यापार में जोखिम उठाने का परिणाम आज हितकर रहेगा। अपनी बुद्धि का प्रयोग करके आप वह सब कुछ पा सकते हैं, जिसकी आपको अभी तक कमी रही है।
0 Comments
किसी वरिष्ठ व्यक्ति से मानसिक मतभेद आपके कार्यक्षेत्र में ना हो, इसका ध्यान रखें। विवेक से काम लें, क्रोध पर काबू रखें।
0 Comments
किसी भी कार्य में आलस्य हानिकारक होगा। आपको अपने परिवार के स्वास्थ्य, बीमारी या अन्य किसी क्षति पर कुछ पैसा खर्च करना पड़ सकता है।
0 Comments
आज का दिन मिश्रित फलदायी है। सर्दी, कफ और बुखार के कारण स्वास्थ्य खराब हो सकता है। मानसिक अस्वस्थता का अनुभव हो सकता है। धार्मिक और सामाजिक कार्यों के पीछे अधिक धन खर्च हो सकता है। गलत जगह पूंजी निवेश न करें, इसका ध्यान रखें। परिजनों के साथ वाद-विवाद होने की आशंका है। आर्थिक स्थिति
0 Comments
आचार्य कृष्ण दत्त शर्मा(फिल्म बाहुबली में अपनी दमदार एक्टिंग से छा जाने वाले एक्टर प्रभास और हिन्दी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री, डांसर, मॉडल मलाइका अरोड़ा का आज जन्मदिन है। इनके साथ आज आज जिन लोगों का भी जन्मदिन है उन्हें उज्ज्वल भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनाएं।) तुला राशि का बृहस्पति और शनि आपके मूल अंक
0 Comments
आचार्य कृष्ण दत्त शर्माराष्ट्रीय मिति कार्तिक 01, शक संवत् 1940 आश्विन शुक्ल त्रयोदशी मंगलवार विक्रम संवत् 2075। सौर कार्तिक मास प्रविष्टे 07 सफर 13 हिजरी 1440 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 23 अक्टूबर सन् 2018 ई०। दक्षिणायण, दक्षिण गोल, हेमन्त ऋतु। राहुकाल अपराह्न 3 बजे से 4 बजकर 30 मिनट तक। चतुर्दशी तिथि रात्रि 10 बजकर
0 Comments
हस्तरेखा विज्ञान के अनुसार, आपके हाथों की लकीर या निशान आपके भविष्य का आईना होता है। इन लकीरों को पढ़कर आप अपने भविष्य को और अच्छा बना सकते हैं। साथ ही आप यह भी जान सकते हैं कि आपका भविष्य पैसों के मामले में कितना अच्छा और बुरा है। आपके हाथ की हर रेखा आपके
0 Comments
आचार्य चाणक्य ने जीवन के हर क्षेत्र को लेकर मानव जाति का मार्गदर्शन किया है। फिर चाहे युद्ध क्षेत्र और नीतियों की बात हो, सामाजिक जीवन, स्वास्थ्य या आधात्मिक पक्ष। जीवन के हर क्षेत्र में सरल और उच्च कोटि का जीवन जीने के लिए चाणक्य ने सूत्र दिए हैं। आचार्य के अनुसार, भगवान को कौन,
0 Comments
शरद पूर्णिमा आश्विन मास की पूर्णिम को कहा जाता है। पुराणों के अनुसार देवी लक्ष्मी इसी पूर्णिमा तिथि को समुद्र मंथन से उपन्न हुई थीं। इसीलिए शरद पूर्णिमा की रात का हिंदू धर्म में अपना विशेष महत्व है। इस रात में चंद्रमा अपनी 16 कलाओं से पूर्ण होकर आकाश से अमृत वर्षा करता है और वैभव
0 Comments
कार्तिक कृष्ण चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत किया जाता है। इस बार यह तिथि 27 अक्टूबर दिन शनिवार को है। हिंदू धर्म में सुहागिन महिलाओं के लिए इस व्रत का विशेष महत्व है। महिलाएं अखंड सौभाग्य की कामना के साथ निर्जल व्रत रखती हैं और पति की दीर्घायु के लिए चंद्र देव की
0 Comments
हिंदू धर्म में सभी त्योहार तिथियों के हिसाब से मनाए जाते हैं। तिथियों के आने और जाने का समय हर साल अंग्रेजी कैलेंडर की समान तारीख को नहीं रहता है। जबकि हम अपनी सुविधा के लिए रोजमर्रा में अंग्रेजी कैलेंडर का प्रयोग करते हैं। इसलिए अक्सर त्योहार के समय, तिथि और तारीख को लेकर असमंजस
0 Comments
आश्विन शुक्ल पूर्णिमा का महत्व प्राचीन काल से रहा है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि इसदिन धन की देवी मां लक्ष्मी समुद्र मंथन से उत्पन्न हुई थीं। द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्ण ने शरद पूर्णिमा की रात में धवल चांदी में महारास का आयोजन किया था। ऐसी मान्यता है कि इस रात चंद्रमा
0 Comments