फ़िल्म रिव्यू

रेणुका व्‍यावहारेकहानी: ‘बुलबुल’ की कहानी का प्‍लॉट 19वीं सदी का बंगाल है। बुलबुल (तृप्ति‍ डिमरी) एक ठकुराइन है। उसकी रहस्यमयी लेकिन दमदार छव‍ि है। बुलबुल के मन के भीतर एक तूफान घुमरता रहता है। सत्‍या ठाकुर (अविनाश तिवारी), बुलबुल का हमउम्र है। वह लंदन से लौटता है। गांव का माहौल बदल चुका है। सत्‍या को
0 Comments
टाइम्स न्यूज नेटवर्क, Fri,19 Jun 2020 09:51:42 +05:30 हमारी रेटिंग 2.5 / 5 पाठकों की रेटिंग 2.5 / 5 कलाकारकीर्ति सुरेश,मुख्यमंत्री चंद्रू,रागिनी चंद्रन,श्री प्रह्लाद,लिंगा,माधमपट्टी रंगराज निर्देशक ईश्वर कार्तिक मूवी टाइपDrama,Thriller,Suspense
0 Comments
Pallabi Dey Purkayasthaस्टोरी: डायरेक्टर शूजित सरकार की यह कहानी है फातिमा महल की मालकिन के पति मिर्जा (अमिताभ बच्चन) और उसके एक जिद्दी किराएदार बांके रस्तोगी (आयुष्मान खुराना) की, जिनके बीच लंबे समय से चले आ रहे झगड़े में कई और लोग अपना फायदा लूटने पहुंच जाते हैं। रिव्यू: लखनऊ में मौजूद 100 साल पुरानी
0 Comments
कभी-कभी कुछ फिल्में बिजनस करने के इरादे से नहीं बनाई जाती हैं। इन फिल्मों की कहानी, ऐक्टिंग और ट्रीटमेंट को देखकर आपको अच्छा महसूस होता है। कुछ ऐसा ही है हालिया रिलीज फिल्म ‘चिंटू का बर्थडे‘ के साथ। इस फिल्म को एआईबी वाले तन्मय भट्ट, गुरसिमर खांबा, रोहन जोशी और आशीष शाक्य ने प्रड्यूस किया
0 Comments
श्रीपर्णा सेनगुप्ताकोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन में सिनेमाघर बंद हो गए हैं और नई फिल्में रिलीज नहीं हो रही हैं। ऐसे में ज्यादातर फिल्म मेकर्स ऑनलाइन अपनी फिल्में रिलीज कर रहे हैं। डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने भी अपने लेटेस्ट फिल्म ‘चोक्ड: पैसा बोलता है‘ को ओटीटी प्लैटफॉर्म पर रिलीज किया है। कहानी: फिल्म की
0 Comments
आजकल रियल कहानियों पर आधारित क्राइम बेस्ड ड्रामा सीरीज काफी पसंद की जा रही हैं। ‘मिर्जापुर’, ‘सेक्रेड गेम्स’, ‘अपहरण’ और ‘पाताल लोक’ जैसी पॉप्युलर वेब सीरीज के बाद एक बार फिर ऑडियंस के लिए फ्री स्ट्रीमिंग ओटीटी प्लैटफॉर्म एमएक्स प्लेयर अपनी ऑरिजनल बेब सीरीज ‘रक्तांचल’ का पहला सीजन लेकर आया है। यह कहानी उत्तर प्रदेश
0 Comments
इरफान खान की वापसी का फैन्स को बेसब्री से इंतजार था। जाहिर है, कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से क्योर होकर इरफान ने जबसे इस फिल्म की शूटिंग शुरू की थी, तभी से उनके चाहनेवाले फिल्म की बाट जोह रहे थे। इसमें कोई दो राय नहीं कि इरफान ने अपने फैन्स को इस फिल्म में उम्मीद
0 Comments
यह सच है कि हिंदी फिल्मों में ऐक्शन की तूती बोलती है और आमतौर पर किसी बदले की भावना या करीबी रिश्ते के लिए फिल्मी पर्दे पर मार-धाड़ करते हीरो द्वारा जब विलन या गुंडों की धुनाई होती है तो ऑडियंस खूब इंजॉय करती है। निर्देशक अहमद खान ने भी भाई को बचानेवाले और दहशतगर्दी
0 Comments
हीरो, हिरोइन और विलेन के बगैर हिंदी फिल्म की कल्पना नहीं की जा सकती, मगर जिस तरह से आलू हर सब्जी में खप जाता है, उसी तरह से हिंदी सिनेमा के सह-चरित्र अदाकार वह प्रजाति होते हैं, जिनके बगैर हिंदी फिल्म की कहानी आगे नहीं बढ़ सकती, मगर सैकड़ों फिल्में करने बावजूद वे अपनी जमीन
0 Comments
निर्देशक गगनपुरी ने ‘दूरदर्शन’ के रूप में कॉमिडी और आधुनिक रिश्तों के ताने-बाने को दर्शाने के लिए दूरदर्शन जैसे मजेदार विषय को चुना तो सही, मगर कमजोर स्क्रीनप्ले और कहानी के कारण वे मजे को बरकरार नहीं रख पाए। वह चाहते तो इस विषय के साथ बहुत खूबसूरती से प्ले कर सकते थे। कहानी: घर
0 Comments
बस एक थप्पड़ ही तो था। क्या करूं? हो गया ना। ज्यादा जरूरी सवाल है ये है कि ऐसा हुआ क्यों? बस इसी ‘क्यों’ का जवाब तलाशती है अनुभव सिन्हा की ये फिल्म थप्पड़। इसका ट्रेलर आपने देखा होगा तो कहानी का मोटा अंदाजा लग गया होगा कि अमृता (तापसी पन्नू) कैसे अपने पति विक्रम
0 Comments
रोज हमें लड़ाई लड़नी पड़ती है जिंदगी में, पर जो लड़ाई परिवार के साथ होती है, वो सारी लड़ाई सबसे बड़ी और खतरनाक होती है। आनंद एल राय निर्मित और हितेश केवल्या निर्देशित ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ का यह डायलॉग समलैंगिक कम्युनिटी की बेबसी और संघर्ष को बयां करता है। वाकई आज भले कानून ने
0 Comments
आज से तकरीबन 17 साल पहले रिलीज़ हुई राम गोपाल वर्मा की ‘भूत’ को भारतीय सिनेमा की यादगार हॉरर फिल्मों में गिना जाता है। इसीलिए जब सालों बाद धर्मा जैसा बड़ा प्रॉडक्शन हाउस विकी कौशल जैसे समर्थ कलाकर के साथ इसी शीर्षक वाली ‘भूत’ लेकर आता है, तो दर्शक के रूप में आपको लगता है
0 Comments
आपने आमतौर पर सोशल मीडिया पर युवाओं के रिलेशनशिप स्टेटस के आगे पढ़ा होगा ‘इट्स कॉम्प्लिकेटेड’। इम्तियाज अली की ‘लव आज कल’ भी प्यार और रिलेशनशिप के उसी कॉम्प्लिकेशंस को दर्शाती है। प्यार जटिल होता है और वो परफेक्ट नहीं हो सकता। इम्तियाज ने इसी तर्ज पर ‘लव आज कल’ को बुना है। आज से
0 Comments
बीस साल पहले निर्माता-निर्देशक विधु विनोद चोपड़ा रितिक-संजय दत्त अभिनीत ‘मिशन कश्मीर’ लाए थे। एक बार फिर वे शिकारा के जरिए दर्शकों को नब्बे के उस दशक में ले चलते हैं, जब तकरीबन 4 लाख कश्मीरी पंडितों को अपने घरों से निकाल कर विस्थापित कर दिया गया था। फिल्म के संवेदनशील विषय के कारण फिल्म
0 Comments
टाइम्स न्यूज नेटवर्क, Thu,6 Feb 2020 09:48:30 +05:30 हमारी रेटिंग 3.5 / 5 पाठकों की रेटिंग 3.5 / 5 कलाकारआदित्य रॉय कपूर,अनिल कपूर,दिशा पाटनी,कुणाल खेमू निर्देशक मोहित सूरी मूवी टाइपRomance,Action,Drama अवधि2 घंटा 14 मिनट
0 Comments