नन्ही दुनिया

स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजादका जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा नामक स्थान पर हुआ। उनका जन्मस्थान भाबरा अब ‘आजादनगर’ के रूप में जाना जाता है। उनके पिता का नाम पंडित सीताराम तिवारी एवं माता का नाम जगदानी देवी था। उनके पिता ईमानदार, स्वाभिमानी, साहसी और वचन के पक्के
0 Comments
एक बार की बात है किसी गांव में एक लड़का रहता था। उसका नाम छोटू था, वो दिनभर खेतों में काम करता और खेती करके ही अपने परिवार का गुजारा चलता था। छोटू वैसे तो अब बड़ा हो गया था लेकिन उसने बचपन से ही बहुत गरीबी देखी थी। छोटू को हमेशा लगता था कि
0 Comments
टीवी पर एक विज्ञापन में एक बच्चा अपनी मम्मी से पूछता है कि फरवरी में 28 दिन क्यों होते हैं? क्या आपने कभी सोचा फरवरी के साथ यह अन्याय क्यों किया गया? आखिर क्यों फरवरी सिर्फ 28 दिन का होता है? आइए हम आपको बताते हैं कि ऐसा क्या हुआ जो फरवरी लगातार तीन सालों
0 Comments
मराठा गौरव शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी को शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम भारत के उन वीर सपूतों में शुमार है जिन्होंने अपनी वीरता और पराक्रम के दम पर मुगलों को घुटने टेकने पर विवश कर दिया था। बहुत से लोग इन्हें ‘हिन्दू हृदय सम्राट’ कहते हैं, तो कुछ
0 Comments
बहुमुखी प्रतिभा के धनी छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती महाराष्ट्र में वैसे तो 19 फरवरी को मनाई जाती है लेकिन कई संगठन शिवाजी का जन्मदिवस‍ हिन्दू कैलेंडर में आने वाली तिथि के अनुसार मनाते हैं। देश के अनेक महापुरुषों ने वैशाख मास में जन्म लिया, उसी में वैशाख शुक्ल पक्ष में छत्रपति शिवाजी का जन्म
0 Comments
सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी 1879 को हैदराबाद में हुआ था। उनके पिता अघोरनाथ चट्टोपाध्याय था, जो एक प्रसिद्ध वैज्ञानिक थे। मात्र 14 वर्ष की उम्र में सरोजिनी ने सभी अंग्रेजी कवियों की रचनाओं का अध्ययन कर लिया था। 1895 में हैदराबाद के निजाम ने उन्हें वजीफे पर इंग्लैंड भेजा। 1898 में उनका विवाह
0 Comments
प्रत्येक वर्ष 14 फरवरी के दिन वेलेंटाइन डे मनाया जाता है। वेलेंटाइन डे को प्रेम दिवस के रूप में भी जाना जाता है। यह दिन प्रेमी युगलों के लिए एक उत्सव की तरह होता है, जब खास तौर से अपने प्रिय को प्रेम अभिव्यक्त किया जाता है। वेलेंटइन डे की शुरुआत अमेरिका में सेंट वेलेंटाइन
0 Comments
यूं तो राजस्थान की तेजस्वी व ओजस्वी, जप-तप, धर्म-कर्म गुणों से परिपूर्ण माटी में कई वीर-वीरांगनाओं ने जन्म लेकर इसका रुतबा ऊंचा किया है लेकिन महाराणा प्रताप उन चुनिंदा शासकों में से एक हैं जिनकी वीरता, शौर्य-पराक्रम के किस्से और गौरवमयी संघर्ष गाथा को सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। अमर राष्ट्रनायक,
0 Comments
अमेरिका के प्रमुख गणेश मंदिर * फ्लोरिडा स्थित गुजरात समाज हिन्दू मंदिर। * एरिजोना के फीनिक्स शहर स्थित महागणपति मंदिर। * ऊटाह की सॉल्टलेक सिटी स्थित श्री गणेश मंदिर। * सीएटेल स्थित श्री गणेश मंदिर। * अलास्का स्थित श्री गणेश मंदिर। * उत्तरी टेक्सास स्थित श्री गणेश मंदिर। * कैलीफोर्निया के सेंट जोज स्थित वैदिका
0 Comments
मैं माता हूं, अपने बेटों की खुशहाली चाहती हूं। मेरी हैरानी-परेशानी का सबब आज का बदलता परिवेश है। मैं जानती हूं समय के साथ सब बदलता है और यही प्रकृति का नियम है। लेकिन यह बदलाव मेरे पुत्रों को पतन के रास्ते पर ले जाते दिखे तो दिल में पीड़ा होती है। कभी मैं गुलामी
0 Comments
प्रतिवर्ष 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। लेकिन क्या तुम जानते हो कि जो राष्ट्रीय ध्वज हम फहराते हैं उसको फहराने का सही तरीका क्या है? अगर आपको पता नहीं है तो कोई बात नहीं। हम आपको बता रहे हैं झंडा फहराने का सही तरीका और वे जरूरी बातें
0 Comments
अगर आप अपने विद्यालय में रिपब्लिक डे के अवसर पर स्पीच से शुरुआत कर रहे हो और आपको बोलने का अवसर मिला हो, तो एक सुनियोजित स्पीच कैसी हो? आइए, जानते हैं कि आप स्पीच में क्या बातें बोल सकते हैं। मंच पर पहुंचकर आप सबसे पहले तो सभा में उपस्थित सभी लोगों का अभिवादन
0 Comments
हम सभी नए साल के रिसोल्यूशन बनाने का तो सोचते हैं लेकिन क्या आपने कभी इंडिपेंडेंस डे और रिपब्लिक डे पर देश के लिए कुछ करने का सोचा है? आपको लगता होगा आप अकेले क्या कर सकते हैं, लेकिन सच तो यह है कि आपमें से हर एक अगर कुछ बेसिक बातों को आदत में
0 Comments
हम सभी नए साल के रिसोल्यूशन बनाने का तो सोचते हैं लेकिन क्या आपने कभी इंडिपेंडेंस डे और रिपब्लिक डे पर देश के लिए कुछ करने का सोचा है? आपको लगता होगा आप अकेले क्या कर सकते हैं, लेकिन सच तो यह है कि आपमें से हर एक अगर कुछ बेसिक बातों को आदत में
0 Comments
* सांप्रदायिक सद्भाव और दुनिया का सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रगान है ‘जन गण मन’ – ज्योत्सना भोंडवे राष्ट्रगीत हो या राष्ट्रध्वज देशवासियों के आन-बान और शान के साथ प्रेरणा स्रोत होता है। जो राष्ट्रीय सार्वभौमिकता का प्रतीक है। राष्ट्र के सम्मान का राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ तमाम हिन्दुस्तानियों की शान और जोश का संचार करने वाला ऐसा
0 Comments
रिपब्लिक डे जैसे खास मौकों पर अधिकतर जगहों पर आयोजन होते है। ऐसे में मंच पर जाकर स्पीच देने की जरूरत भी कई लोगों को पड़ती है। अगर आप भी गणतंत्र दिवस के दिन कही पर स्पीच देने वाले हैं, तो आइए हम आपकी थोड़ी मदद करदें और आपको ये बताएं कि आप अपनी स्पीच
0 Comments