370 पर ममता- ‘कश्मीर नहीं जा सकती क्योंकि…’

देश
पीएम मोदी और ममता बनर्जीपीएम मोदी और ममता बनर्जी
हाइलाइट्स

  • पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने 370 को लेकर मोदी सरकार पर किया वार
  • ममता ने कहा कि मैंने कश्मीर पर राजनीति नहीं की लेकिन वहां नहीं जा सकती हूं
  • पीएम के बेलूर मठ संबोधन में सीएए-एनआरसी का जिक्र करने पर साधा निशाना
  • ममता ने पूछा सवाल- बहुत अच्छा तो असम में क्यों नहीं लागू हो रहा है एनआरसी

कोलकाता
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीएए, एनआरसी और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के मुद्दे पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। हमारे सहयोगी समाचार चैनल टाइम्स नाउ को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में ममता ने ने हाल ही में पीएम मोदी के बंगाल दौरे को लेकर भी प्रतिक्रिया दी। ममता ने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि देने पर केंद्रित रहने की बजाए पीएम ने सीएए और एनआरसी की चर्चा की।

बेलूर दौरे को बताया राजनीतिक प्रॉपेगैंडा

ममता बनर्जी ने इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी के बेलूर मठ दौरा का जिक्र करते हुए कहा, ‘यह एक निजी यात्रा थी। लेकिन हकीकत में यह उनका राजनीतिक प्रॉपेगैंडा था। वे पूरी तरह से उनके विचार थे। अगर मेरे पास कुछ कहने का अधिकार है तो उनके पास भी कुछ कहने का हक है। स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि देने की बजाए वह सीएए और एनआरसी पर बोलते रहे।’

पढ़ें: बेलूर मठ में मोदी बोले- सीएए पर कुछ अब भी अफवाहों के शिकार

‘बीजेपी शासित असम में सीएए क्यों नहीं’

सीएए पर मोदी सरकार को घेरते हुए ममता ने कहा, ‘मैं इस बात से सहमत हूं कि सीएए किसी की नागरिकता नहीं छीन सकता, क्योंकि वे पहले से ही इस देश के नागरिक हैं। उनके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, इतनी सारी चीजें हैं। लेकिन अगर आप लोगों को गुमराह कर रहे हैं तो मेरा एक सवाल है- अगर यह बहुत अच्छा है तो इसे असम में लागू क्यों नहीं किया जा रहा है, जो बीजेपी शासित राज्य है? इस विशेष समूह को नागरिकता मिलेगी या उस विशेष समूह को नागरिकता नहीं मिलेगी, ये उनकी चॉइस है।’

पढ़ें: कटमनी का जिक्र कर पीएम मोदी ने ममता पर बोला बड़ा हमला

‘अपनी मां का बर्थ सर्टिफिकेट नहीं दे सकती’

ममता ने आगे कहा, ‘अगर वे मुझसे पूछते हैं कि मेरी मां का जन्म प्रमाण पत्र कहां है, तो क्या मैं इसे दे सकती हूं? जब मैं राज्य की सत्ता में आई तो अस्पताल में जन्म लेने वाले बच्चों की दर केवल 65 प्रतिशत थी। अब यह 90 प्रतिशत है, लेकिन तब बच्चे केवल मिट्टी के घरों में पैदा हुआ करते थे। इसलिए मैं अपनी मां का बर्थ सर्टिफिकेट नहीं दे सकती।’

‘नरेंद्र’ के घर पहुंचे नरेंद्र

  • 'नरेंद्र' के घर पहुंचे नरेंद्र

    स्‍वामी विवेकानंद के जन्‍मदिन राष्‍ट्रीय युवा दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता के बेलूर मठ पहुंचे और कहा कि यह लोगों के लिए तीर्थयात्रा की तरह से है लेकिन उनके लिए ‘घर’ आने जैसा ही है। प्रधानमंत्री ने स्‍वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि भी दी।
  • जनसेवा का मिला रास्‍ता

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बेलूर मठ से ही मुझे जनसेवा का रास्‍ता मिला था और अब मैं 130 करोड़ भारतीयों की सेवा का कर्तव्‍य निभा रहा हूं। रामकृष्‍ण मिशन मुझे हमेशा रास्‍ता दिखाता रहेगा।
  • बेलूर मठ में मां का प्‍यार

    पीएम मोदी ने कहा कि हममें से ज्‍यादातर लोग बेलूर मठ में खिंचे चले आते हैं। विवेकानंद की वाणी और उनका व्‍यक्ति हमें यहां तक खींचकर ले आता है। इस भूमि पर आने के बाद मां शारदा देवी का आंचल यहां बस जाने के लिए एक मां का प्‍यार देता है।
  • परिवर्तन के लिए जोश जरूरी

    स्वामी विवेकानंद जी की वह बात हमें हमेशा याद रखनी होगी जब वह कहते थे कि ‘अगर मुझे सौ ऊर्जावान युवा मिल जाएं, तो मैं भारत को बदल दूंगा।’ यानि परिवर्तन के लिए हमारी ऊर्जा, कुछ करने का जोश ही आवश्यक है।
  • स्‍वामी विवेकानंद एक जीवन शैली

    स्‍वामी विवेकानंद सिर्फ व्‍यक्ति नहीं बल्कि जीवनधारा, जीवनशैली हैं। आज युवाओं को यह मानना चाहिए कि हम कभी अकेले नहीं होते हैं। ईश्‍वर हमेशा हमारे साथ रहता है। इसकी सीख हमें स्‍वामी जी ने दी थी। इस दौरान पीएम मोदी ने संतों के साथ ध्‍यान भी लगाया।
  •  रामकृष्‍ण परमहंस को श्रद्धांजलि

    प्रधानमंत्री मोदी ने बेलूर मठ के अंदर ही रात बिताई और सुबह रामकृष्‍ण मंदिर जाकर रामकृष्‍ण परमहंस को श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने कहा कि बेलूर मठ में उन्‍हें तमाम गुरुओं का सानिध्‍य मिला।
  • युवा जोश बदलेगा भारत

    पीएम मोदी ने कहा कि युवा जोश, युवा ऊर्जा ही 21वीं सदी के इस दशक में भारत को बदलने का आधार है। नए भारत का संकल्प, आपके द्वारा ही पूरा किया जाना है। ये युवा सोच ही है जो कहती है कि समस्याओं को टालो नहीं, उनसे टकराओ, उन्हें सुलझाओ।
  • विरोधियों पर हमला

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ लोग नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भ्रम फैला रहे हैं। मुझे खुशी है कि आज का युवा ही ऐसे लोगों का भ्रम भी दूर कर रहा है। हालांकि कुछ राजनी‍तिक दल इसे जानबूझकर समझना नहीं चाहते हैं।
  • गांधी के विचारों को कर रहे लागू

    पीएम मोदी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून लाकर हमने वही किया है जो गांधी जी कहकर गए थे। उन्‍होंने कहा कि यह दूसरे देशों में प्रताड़‍ित लोगों को नागरिकता देने का कानून है, लेने का नहीं।
  • नॉर्थ ईस्‍ट पर असर नहीं पड़ेगा

    प्रधानमंत्री ने कहा कि नॉर्थ ईस्‍ट हमारा गर्व है, वहां की संस्‍कृति, रीति-रिवाज, जनसंख्‍या पर नागरिकता संशोधन कानून का कोई विपरीत प्रभाव न पड़े, इसका प्रभाव केंद्र सरकार ने किया है।

‘कश्मीर नहीं जा सकती क्योंकि खास कुर्सी से संबंध’

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने के मोदी सरकार के कदम पर सवाल उठाते हुए ममता ने कहा, ‘कश्मीरियों को विश्वास में क्यों नहीं लिया गया? कश्मीर मुद्दे पर सभी राजनीतिक दलों से विचार-विमर्श क्यों नहीं किया गया। मैं कश्मीर जाना चाहती हूं, मैं अपने कश्मीरी भाइयों और बहनों से मिलना चाहती हूं। मैंने कोई राजनीति नहीं की लेकिन मैं वहां नहीं जा सकती क्योंकि मैं एक विशेष कुर्सी से संबंधित हूं।’

Articles You May Like

आधार से लिंक नहीं किया तो 31 मार्च के बाद पैन कार्ड हो जाएगा ‘बेकार’
अपकमिंग: Oppo Reno 3 Pro का 4G वेरिएंट भारत में जल्द होगा लॉन्च, कंपनी ने किया कंफर्म
सर्दी के दिनों पर चटपटी कविता : शीत लहर के पंछी
चीन से आए 658 भारतीय कोरोना टेंशन से मुक्त
भारत दौरे से पहले बोले डोनाल्ड ट्रंप- PM मोदी मेरे दोस्त हैं और मैं भारत जाने का इंतजार कर रहा हूं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *