प्रज्ञा सिंह को चुनाव आयोग का नोटिस जारी, हेमंत करकरे पर दिए गए बयान पर मांगा जवाब

ताज़ातरीन

भोपाल:

भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी की प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को जिला निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में नोटिस जारी किया है और उनसे गुरुवार को शहीद हेमंत करकरे पर दिए गए बयान पर जवाब मांगा है. प्रज्ञा ने 26/11 के मुम्बई आतंकी हमले में शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के बारे में विवादित बयान दिया था.

प्रज्ञा सिंह ठाकुर 29 सितम्बर, 2008 को मालेगांव में हुए बम धमाकों के मामले में आरोपी हैं और तकरीबन नौ साल जेल में रही हैं. वे इस बहुचर्चित मामले में वह इन दिनों जमानत पर चल रही हैं. जिला निर्वाचन अधिकारी एवं भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े ने प्रज्ञा के बयान पर स्वत: संज्ञान लिया और इस मामले में सहायक निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट मांगी थी. कार्यक्रम के आयोजक और प्रज्ञा सिंह के खिलाफ नोटिस जारी किया गया है. उनसे 24 घंटे में जवाब मांगा गया है.

खाड़े ने कहा कि वे सहायक निर्वाचन अधिकारी की रिपोर्ट को निर्वाचन आयोग को भेजेंगे. खाड़े ने बताया कि उन्होंने आचार संहिता के दौरान इस कार्यक्रम के आयोजक को कुछ शर्तों पर कार्यक्रम करने की अनुमति दी थी.

गुरुवार शाम को भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी कार्यकर्ताओं की बैठक में मुम्बई एटीएस के तत्कालीन प्रमुख हेमंत करकरे पर जेल में यातना देने का आरोप लगाते हुए प्रज्ञा ने कहा था कि ‘मैंने करकरे का सर्वनाश होने का श्राप दिया था और इसके सवा माह बाद आतंकवादियों ने उन्हें मार दिया.’

बीजेपी ने हेमंत करकरे पर बयान से पल्ला झाड़ा, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने वापस लिए अपने शब्द

हालांकि, इस बयान के एक दिन बाद चारों तरफ से आलोचना होने के बाद प्रज्ञा ने अपना बयान वापस ले लिया था और माफी भी मांग ली थी.

VIDEO : प्रज्ञा ठाकुर ने वापस लिया बयान

टिप्पणियां

(इनपुट एजेंसियों से)

Products You May Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *