भारतीय राजनयिकों का पाकिस्तान में हो रहा उत्पीड़न, कभी पीछा करते हैं तो कभी फर्जी कॉल

ताज़ातरीन

नई दिल्ली:

भारत ने पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के कथित उत्पीड़न की चार अलग-अलग घटनाओं को लेकर इस्लामाबाद के समक्ष विरोध दर्ज कराया है और इन घटनाओं की तत्काल जांच कराये जाने की मांग की है. आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.सूत्रों ने बताया कि भारत ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को 18 मार्च को एक नोट वर्बल जारी (राजनयिक पत्राचार) किया है जिसमें दो पाकिस्तानी कर्मियों द्वारा भारतीय नौसेना सलाहकार का पीछा करने समेत इन घटनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है.सूत्रों के अनुसार नोट वर्बल में कहा गया है कि दो पाकिस्तानी कर्मियों ने एक कार से नौसेना सलाहकार का उस समय पीछा किया जब वह 15 मार्च को अपने घर से उच्चायोग जा रहे थे.

यह भी पढ़ें- जब पाकिस्तान से बढ़ा था तनाव, भारत ने परमाणु हथियारों से लैस पनडुब्बी कर दी थी तैनात…  

टिप्पणियां

सूत्रों ने बताया कि नोट में कहा गया है कि एक अन्य मामले में मिशन के एक अन्य अधिकारी को फर्जी कॉल की गई जबकि मिशन के एक अन्य कर्मी को 14 मार्च को एक पाकिस्तानी कर्मी के ‘‘आक्रामक” व्यवहार का सामना करना पड़ा.नोट में भारत ने पाकिस्तान से भारतीय अधिकारियों के उत्पीड़न के मामलों की तत्काल जांच कराये जाने के लिए कहा है.भारत ने 13 मार्च को भी पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को इसी तरह का एक नोट वर्बल जारी किया था जिसमें आठ मार्च से 11 मार्च के बीच भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के कथित उत्पीड़न की कई घटनाओं को लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया गया था.

वीडियो- चीन ने जैश सरगना मसूद अजहर को फिर बचाया

Products You May Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *