अब रोकी जा सकेंगी चलती ट्रेन में चढ़ने से होने वाली दुर्घटनाएं, रेलवे करने जा रहा है यह काम

ताज़ातरीन

नई दिल्ली :

अब चलती ट्रेन में चढ़ने की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए रेलवे ने कमर कस ली है. मुम्बई के उपनगरीय ट्रेनों के गेट पर नीले रंग का एक खास संकेतक लगाया जा रहा है, जो गार्ड की स्टार्टिंग सर्किट से जुड़ा होगा और जब ट्रेन चलने लगेगी, तो यह चमकने लगेगा. यह इस बात का संकेत होगा कि यात्री चलती ट्रेन में न चढ़ें. फिलहाल एक ईएमयू कोच के गेट पर नीले रंग का प्रकाश संकेतक लगाया जा रहा है. रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि, ‘जब ट्रेन चलने लगेगी तो दृश्य संकेतक से प्लेटफार्म पर एक रेखा बन जाएगी जो यात्रियों को हादसों से बचने के लिए बिल्कुल आगे नहीं बढ़ने का संकेत होगा. इससे प्लेटफार्म पर एक प्रकाश रेखा बन जाएगी जो यात्रियों को किसी बाहरी वस्तु या विपरीत दिशा से आने वाली ट्रेनों की टक्कर के खतरों की चेतावनी देगी’.

चलती ट्रेन को पकड़ने को कोशिश कर रहा था यात्री, हाथ छूटा तो हुआ ऐसा, देखें VIDEO

आपको बता दें कि आए दिन चलती ट्रेन से गिरकर दुर्घटना की खबरें आती रहती हैं. मुंबई की लोकल ट्रेनों में अक्सर ऐसी शिकायते आती हैं. पिछले दिनों खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने चलती ट्रेनों से गिरकर बड़ी संख्या में लोगों के घायल होने पर चिंता जताई थी. इसके बाद ही प्रयोग के तौर पर यह परियोजना आजमाने का फैसला किया गया. अधिकारियों ने बताया कि मेट्रो ट्रेनों या वातानुकूलित ईएमयू, जहां इलेक्ट्रोनिक दरवाजे लगे होते हैं, गैर एसी ईएमयू डिब्बों में नीले रंग का संकेतक आजमाया जा रहा है, क्योंकि इन ट्रेनों में ऐसे दरवाजे लगाना अव्यावहारिक है. (इनपुट- भाषा से भी) 

Video: ट्रेन से बाहर खिड़की पर लटका था शख्स, हाथ छूटते ही हुआ ऐसा खतरनाक हादसा  

टिप्पणियां

VIDEO : रोका जा सकता था हादसा

Products You May Like

Articles You May Like

BSNL के 99 रुपये वाले प्रीपेड पैक की वैधता हुई कम
बदला नजर आया मौसम का मिजाज: शनिवार रहा सबसे गर्म दिन, 26 जनवरी को बारिश के आसार 
IAS बी. चंद्रकला अखिलेश यादव सहित सिर्फ 10 लोगों को करतीं हैं फॉलो, योगी आदित्यनाथ का लिस्ट में नाम नहीं
70 रुपये में खरीदें Oppo R17 Pro, जानें ऑफर के बारे में
Ind vs Aus 3rd ODI LIVE: ऑस्ट्रेलिया को लगा चौथा झटका, एक ही ओवर में चहल ने झटके दो विकेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *