OPEC से बाहर होगा कतर, 60 साल से था समूह का सदस्य, प्राकृतिक गैस का बढ़ाएगा उत्पादन

बड़ी ख़बर

दोहा: कतर ने करीब 60 वर्षो तक तेल उत्पादक देशों के समूह (ओपेक) का सदस्य रहने के बाद सोमवार को संगठन से अलग होने के अपने इरादे की घोषणा की. कतर ने प्राकृतिक गैस उत्पादन को बढ़ाने की अपनी योजना पर ध्यान केंद्रित करने को इसका कारण बताया है. कतर ने दोहा में एक संवाददाता सम्मेलन में एक जनवरी 2019 को संगठन से बाहर होने की अपनी योजना की घोषणा की, जिसकी पुष्टि कतर पेट्रोलियम ने ट्विटर पर की. कतर पेट्रोलियम तेल और गैस गतिविधियों के लिए जिम्मेदार सरकार के स्वामित्व वाला निगम है.

देश के ऊर्जा मंत्री साद शेरिदा अल काबी ने ट्वीट कर कहा, ‘संगठन से बाहर होने का फैसला कतर के प्राकृतिक गैस उत्पादन विकसित और उसे बढ़ाने की योजना के अपने प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करने की इच्छा को दर्शाता है.’ समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि ओपेक को फैसले के बारे में सूचित कर दिया गया है. कतर 1961 से ओपेक का सदस्य रहा है. 
ओपेक के फैसले के मुताबिक यूएई तेल उत्पादन में करेगा प्रतिदिन 1,39,000 बैरल की कटौती

अल काबी ने कहा कि यह फैसला कतर के आगामी वर्षो में प्राकृतिक गैस के उत्पादन को सालाना 7.7 करोड़ टन से बढ़ा कर 11 करोड़ टन करने के मकसद को दर्शाता है.

टिप्पणियां

(इनपुट- आईएएनएस)

ओपेक देश जिम्मेदारी निभाते हुये कच्चे तेल का दाम उचित स्तर पर रखें : धर्मेंद्र प्रधान
 

Products You May Like

Articles You May Like

UAN को EPFO वेबसाइट पर एक्टिवेट करने का तरीका
यूपी के किसानों के खाते में 2000 रुपये पहुंचाने के लिए दिन रात हो रहा काम, 24 फरवरी को PM जारी करेंगे पहली किश्त
Oppo F11 Pro का हैंड्स ऑन वीडियो लीक, डिज़ाइन की मिली झलक
हमेशा याद आएंगी नामवर सिंह की ये यादें
कुंभ राशिफल 18 फरवरी 2019: सहकर्मियों का सहयोग मिलने की संभावना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *