अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश का 94 साल की उम्र में निधन

दुनिया

वाशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश (George HW Bush) का शुक्रवार को निधन हो गया. वह 94 वर्ष के थे. उनके कार्यालय ने यह जानकारी दी. करीब आठ महीने पहले उनकी पत्नी बारबरा बुश (73) का निधन हुआ था. उनके बेटे एवं अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने एक बयान में कहा, ‘जेब, नील, मार्विन, डोरो और मैं यह घोषणा करते हुए काफी दुखी हैं कि 94 वर्ष के सराहनीय जीवन के बाद हमारे प्रिय पिता का निधन हो गया.’

बुश जुनियर ने कहा, ‘वह एक सद्चरित्र व्यक्ति और सर्वश्रेष्ठ पिता थे. पूरा बुश परिवार उन सभी मित्रों और देश के नागरिकों का आभारी है जिन्होंने 41वें राष्ट्रपति के जीवन के लिए प्रार्थना की और उनके निधन पर अपने शोक का इजहार किया.’ बुश पार्किंसन रोग से पीड़ित थे, जिस कारण वह कई वर्षों से व्हीलचेयर पर थे. पिछले कुछ महीनों में उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती भी कराया गया.

अप्रैल में उनकी पत्नी बारबरा के निधन के बाद से ही बुश के स्वास्थ्य को लेकर चिंता बनी हुईं थी. पूर्व प्रथम महिला के निधन के अगले दिन 23 अप्रैल को ही बुश को रक्त में संक्रमण के कारण अस्तपाल में भर्ती कराया गया था. वह वहां 13 दिन तक भर्ती रहे थे.    रक्तचाप और थकान की शिकायत के चलते उन्हें मई में भी अस्पताल में भर्ती कराया गया. कुछ दिन बाद उन्हें वहां से छुट्टी दे दी गई और 12 जून को उन्होंने अपना 94वां जन्मदिन मनाया. बुश अमेरिका के सबसे उम्रदराज जीवित राष्ट्रपति थे.

सीआईए के पूर्व अध्यक्ष आठ नवम्बर 1988 को राष्ट्रपति चुने गए. 20 जनवरी 1989 को उन्होंने पद की शपथ ग्रहण की और 20 जनवरी 1993 तक पद पर रहे. राजनीतिक स्थिरता और अंतरराष्ट्रीय आम सहमति के पक्षधर रहे बुश की विचारधारा मौजूदा रिपब्लिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बिल्कुल विपरीत थी. वर्ष 2016 के चुनाव में बुश ने ट्रम्प को अपना मत तक नहीं दिया था. जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश का जन्म 12 जून 1924 को मैसचुसेट्स के मिल्टन में हुआ था. 

टिप्पणियां

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Products You May Like

Articles You May Like

शक्तिकांत दास को गवर्नर बनाने की क्या रही वजह?
खतरे में मास्टरकार्ड की सुरक्षा! कंपनी ने किया आगाह
योगी सरकार के मंत्री ने बताया, तीन राज्यों में क्यों हारी बीजेपी
सारा अली खान को ‘केदारनाथ’ फिल्म से मिली ये सीख, बोलीं- ‘इसके बिना मेरी जिंदगी अधूरी…’
NASA को मिली बड़ी सफलता, क्षुद्रग्रह बेनू पर मिले पानी के संकेत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *