वसुंधरा के नेतृत्व में राजस्थान में लड़ेंगे: जावड़ेकर

देश
फाइल फोटो: वसुंधरा राजे

जयपुर

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने मंगलवार को कहा है कि वह राजस्थान का आगामी विधानसभा चुनाव वसुंधरा राजे के ही नेतृत्व में लड़ेगी और इस बार पार्टी ‘बीजेपी फिर से’ के नारे के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी। बीजेपी ने इसके साथ ही मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को ‘विकास’ के मुद्दे पर बहस के लिए ललकारते हुए विश्वास जताया है कि प्रदेश के मतदाता ‘एक बार कांग्रेस-एक बार बीजेपी’ की परिपाटी बंद करके ‘लगातार बीजेपी’ को वरीयता देंगे।

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘हम वसुंधरा राजे जी, जो यशस्वी मुख्यमंत्री रही हैं, जिन्होंने विकास के नए आयाम छुए हैं, उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं। हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष इस बारे में स्पष्ट घोषणा कर चुके हैं, इसलिए हमारे यहां इस बारे में कोई संशय नहीं है।’ जावड़ेकर ने कहा, ‘राजस्थान के चुनाव मैदान में हम विश्वास के साथ उतरे हैं। फिर ‘एक बार बीजेपी सरकार’ कहकर हम लोगों के पास जा रहे हैं। ‘बीजेपी फिर से’, ऐसे ही नारा लेकर हम लोगों के पास जाएंगे और उसका कारण भी बताएंगे।’

पढ़ें: बागियों से बीजेपी और कांग्रेस दोनों का नुकसान, किसका होगा राजस्थान?


‘एक बार बीजेपी-एक बार कांग्रेस की परिपाटी होगी बंद’

राज्य में दो दशकों से एक बार कांग्रेस एक बार बीजेपी की सरकार बनने की परिपाटी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘अब यह बंद होगा, अब फिर से बीजेपी, फिर एक बार बीजेपी सरकार।’ उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में बदलाव का यह चिह्न इससे पहले उत्तर प्रदेश, गुजरात, तमिलनाडु में देखा जा चुका है। जावड़ेकर ने कहा, ‘2014 में जब मोदी की सरकार बनी उसके बाद राज्यों में बीजेपी की सरकारों की संख्या छह से 19 हो गई है जबकि कांग्रेस की सरकारों की संख्या घटकर 16 से चार रह गई है क्योंकि जनता अब वोट बैंक की राजनीति को नकारने लगी है।’

उन्होंने कहा, ‘अब वोट बैंक की, एक ही परिवार की राजनीति नहीं चलेगी। अब गरीब भी आकांक्षी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गरीब अपने में से एक मानते हैं। कांग्रेस झुनझुने दिखाकर जो राजनीति करती थी वह अब खत्म है, इसलिए राजस्थान मेंं बीजेपी अपने दम पर पूर्ण बहुमत के साथ फिर सत्ता में आएगी। पार्टी विकास को चुनावी मुद्दा बनाएगी। बीजेपी विकास के मुद्दे के साथ चुनाव मैदान में है जबकि कांग्रेस मुद्दा विहीन है। इसलिए हम चैलेंज देते हैं कांग्रेस को, विकास ही हमारा मुद्दा है विकास पर बहस करो। 2008 से 2013 तक राज्य व केंद्र में आपकी सरकार थी, 2014 से 2018 में हमारी यहां (राज्य में) भी सत्ता है और दिल्ली में भी सत्ता है। आओ तुलना करें। हम चुनौती देते हैं, करो विकास पर चर्चा, जाने दो जनता के सामने, जनता भी सब देखेगी कि कौन कितना खरा है।’


पढ़ें: राजस्थान में कुल 200 सीटों में से 100 नए चेहरों पर दांव लगा सकती है बीजेपी

‘जिताऊ कैंडिडेट को ही मिलेगा टिकट’

टिकट वितरण संबंधी एक सवाल पर जावड़ेकर ने कहा, ‘जिसमें जीतने की ज्यादा संभावना है उसे ही टिकट मिलेगा।’ कांग्रेस पर मुद्दाविहीन और नेतृत्वविहीन होने का आरोप लगाते हुए जावड़ेकर ने कहा कि पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में अपने ‘मुख्यमंत्री के चेहरे’ की भी घोषणा नहीं कर पा रही है। बीजेपी और कांग्रेस की तुलना करते हुए उन्होंने कहा, ‘दोनों पार्टियों के चरित्र में फर्क है। कांग्रेस एक परिवार की पार्टी है जबकि बीजेपी पूरा एक परिवार है।’

Products You May Like

Articles You May Like

छिपकर परमाणु हथियार बना रहा है उत्तर कोरिया, अघोषित साइट का हुआ खुलासा
Moto G7, Moto G7 Play, Moto G7 Power और Moto G7 Plus की तस्वीरें लीक, कीमतें भी सार्वजनिक
अच्छा प्रदर्शन करने वाले कुछ बैंक हो सकते हैं पीसीए-पाबंदी से बाहर : कुमार
Kumbh Mela 2019: CII का अनुमान, कुंभ से उत्तर प्रदेश सरकार को होगी 1200 अरब रुपये की आमदनी
इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ बीसीसीआई ने किया दो भारत ‘ए’ टीमों का ऐलान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *