Navratri vaishno devi yatra: नवरात्र में मां वैष्णो के दर्शन के लिए जा रहे हैं, जानें ये काम की बातें

राशि


माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए यूं तो पूरे साल भक्तों का आना-जाना लगा रहता है। लेकिन नवरात्र के दिनों में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। कहते हैं माता की गुफा में एक साथ तीन देवियों के साथ माता वैष्णो के दर्शन प्राप्त होते हैं। इसलिए माता के दरबार में भक्तों की गहरी आस्था है। अगर आप भी नवरात्र में माता के दरबार में जा रहे हैं तो इन बातों को जान लें।

1/5इस मामले में दूसरे नंबर पर है माता का यह मंदिर

माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जाएं तो सबसे पहले कटरा में जहां से पैदल यात्रा शुरू होती है यात्रा पर्ची कटवा लें। इस पर्ची के बिना आपको दर्शन के लिए गुफा में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। माता के इस मंदिर में हर साल लाखों श्रद्धालु आते हैं जिससे यह तीर्थयात्रियों के मामले में देश का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है। इससे पहले तिरूमला वेंकटेश्वर मंदिर का स्थान है।

2/5माता वैष्णों से जुड़ी हैं कई कथाएं

भारतीय धर्मशास्त्र कथा-कहानियों से भरा हुआ है। माता वैष्णों देवी के बारे में कहा जाता है कि माता ने अपने अनन्य भक्त श्रीधर की भक्ति से प्रसन्न होकर उन्हें दर्शन दिए। कथा के अनुसार, श्रीधर कटरा कस्बे से करीब 2 किलोमीटर दूर हंसली गांव में रहते थे। मां के आदेश पर उन्होंने कन्या भोजन कराया, जिसमें भैरव नाथ भी पहुंचे। मां को पहचानने के बाद वह मां को मारने के लिए दौड़ा लेकिन माता वैष्णो भैरो के साथ लुका-छिपी करते हुए अादिकुमारी गुफा में आकर छुप गईं। लेकिन भैरोनाथ युद्ध के लिए लालायित हो रहा था। अंत में माात ने भौरो से युद्ध करते हुए अपने त्रिशूल से उसका वध कर दिया। आदिकुमारी गुफा के दर्शन से फिर से गर्भ में नहीं आना पड़ता है ऐसी मान्यता है।

3/5यहां जाए बिना अधूरी है यात्रा

माता वैष्णों मंदिर में दर्शन के बाद भैरों मंदिर में दर्शन करना अनिवार्य है। इसका धार्मिक कारण यह बताया जाता है कि जब मां ने भैरो का वध कर दिया तो उसके कटे हुए सिर ने माता से कहा कि हे माता, मैंने तो आपके हाथों मुक्ति पाने के लिए यह सब किया किन्तु आनेवाले समय में दुनिया मुझे दुष्ट और पापी के रूप में जानेगी इससे मेरा उद्धार कीजिए। तब माता ने भैरोनाथ को वरदान दिया कि जो भी मेरे दर्शनों के लिए आएगा, उसकी यात्रा तब तक पूरी नहीं मानी जाएगी जब तक वह तुम्हारे दर्शन नहीं कर लेगा।

4/5नवरात्र व्रत के लिए व्यवस्था

नवरात्र के विशेष अवसर पर श्रद्धालुओं के लिए श्राइन बोर्ड की तरफ से आधार शिविरों में कई प्रबंध किए गए हैं। उपवास करनेवाले लोगों के लिए यहां फलाहार और व्रत सामग्री की व्यवस्था है।

Products You May Like

Articles You May Like

हार्ट रेट सेंसर के साथ Honor Band 4 लॉन्च, 2,599 रुपये है कीमत
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से सूचना आयुक्तों की नियुक्ति में पारदर्शिता अपनाने के लिए कहा
वनप्लस 6टी मैक्लेरन पुराने वनप्लस की केबल से भी होगा चार्ज
सलमान खान ने कैटरीना कैफ, आलिया भट्ट, श्रद्धा कपूर और जैकलीन फर्नींडिस के साथ मनाया न्यू ईयर, देखें Video
वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख से शेयर बाजारों में मामूली तेजी, सेंसेक्स 33.29 अंक मजबूत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *