11 अक्टूबर : ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस’ पर जानिए इसे मनाने का उद्देश्य

नन्ही दुनिया








हर साल को ‘इंटरनेशनल डे ऑफ गर्ल चाइल्ड’ यानी कि ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस’ मनाया जाता है। इसे मनाने की शुरुआत यूनाइटेड नेशन ने 2012 में की थी। इस दिन को मनाने के पीछे का मुख्य उद्देश्य था लड़कियों के विकास के लिए अवसरों को बढ़ाना और लड़कियों की दुनियाभर में कम होती संख्या के प्रति लोगों को जागरूक करना, जिससे कि लिंग असमानता को खत्म किया जा सके।

इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह भी है कि समाज में जागरूकता लाकर लड़कियों को वे समान अधिकार दिलाए जा सकें, जो कि लड़कों को दिए गए हैं।
‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस’ को बढ़ावा देने के लिए इस दिन अलग-अलग देशों में कई तरह के आयोजन भी किए जाते हैं जिसके अंतर्गत लड़कियों की शिक्षा, पोषण, उनके कानूनी अधिकार, चिकित्सा देखभाल के प्रति उन्हें और समाजजनों को जागरूक किया जाता है।

लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराना, उनके प्रति भेदभाव व हिंसा खत्म करना। बाल विवाह पर प्रतिबंध लगाना भी इस दिन को मनाने के कारणों में शामिल है।

Products You May Like

Articles You May Like

हिंदू धर्म की इन 6 मान्यताओं में छिपा है जीवन का सार
जम्मू कश्मीर के पुलवामा में IED ब्लास्ट, CRPF के 15 जवान घायल
पाकिस्तान की करीब 200 बेबसाइटों पर मोमबत्ती जल रही! भारतीय हैकरों की अनूठी श्रद्धांजलि, देखें-VIDEO
WBP: फिजिकल टेस्ट के ऐडमिट कार्ड जारी
ताज के लिए क्या करेंगे, 4 हफ्ते में बताएं: SC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *