शुरूआती कारोबार में रुपया 24 पैसे गिरकर 74.45 के सर्वकालिक निचले स्तर पर

बिज़नेस
​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

सांकेतिक तस्वीर।

मुंबई
रुपया शुरुआती कारोबार में गुरुवार को डॉलर के मुकाबले 24 पैसे गिरकर 74.45 के अपने सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया। इसकी प्रमुख वजह आयातकों की तरफ से डॉलर की मांग बढ़ना और घरेलू शेयर बाजार का अचानक लुढ़कना है। विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे कमजोर होकर 74.37 पर खुला और जल्दी ही लुढ़कर कर 74.45 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया।

बाजार में हाहाकार: 5 मिनट में निवेशकों के 4 लाख करोड़ स्वाहा

शुरूआती कारोबार में रुपया 24 पैसे लुढ़का। विदेशी मुद्रा कारोबारियों का कहना है कि आयातकों की तरफ से डॉलर की मांग बढ़ने, राजकोषीय घाटा बढ़ने का डर और पूंजी के बाहर जाने का रुपया पर दबाव पड़ा। बुधवार को रुपया 18 पैसे टूट कर डॉलर के मुकाबले 74.21 के स्तर पर बंद हुआ था।

उधर, सुबह-सुबह दलाल स्ट्रीट पर भी कत्लेआम मच गया। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 31 शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों का सूचकांक निफ्टी, दोनों 2 प्रतिशत से ज्यादा की

गिरावट

+ के साथ खुले। इसका असर निवेशकों की संपत्ति पर पड़ा और महज 5 मिनट में 4 लाख करोड़ रुपये बाजार से बाहर हो गए।

  

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    गुरुवार को सेंसेक्स और निफ्टी, दोनों 2 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट के साथ खुले। हालांकि, थोड़ी ही देर में सेंसेक्स की गिरावट और बढ़ गई और आंकड़ा 1000 अंक को पार कर गया। वहीं, निफ्टी भी 307अंकों कमजोर हो गया। हालत ऐसी थी कि सेंसेक्स के 31 में 30 शेयर जबकि निफ्टी के 50 में से 45 शेयर लाल निशान में थे। आखिर, बाजार में मचे कत्लेआम की वजहें क्या रहीं? आइए जानते हैं…

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    अमेरिकी बाजार में बड़ी गिरावट का असर दुनियाभर के बाजारों पर पड़ा। दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ब्याज दरें बढ़ाने की योजना पर फेडरल रिजर्व को सनकी बता दिया, तो वॉल स्ट्रीट के निवेशक मायूस हो गए। बुधवार को S&P500 3.29 प्रतिशत, नैस्डैक कंपोजिट इंडेक्स 4.08 प्रतिशत जबकि डॉ जोन्स इंडस्ट्रियल ऐवरेज 2.2 प्रतिशत कमजोर हो गए।

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    अमेरिकी शेयरों में रातोंरात गिरावट के कारण गुरुवार को एशियाई शेयर 5 प्रतिशत तक टूट गए। शंघाई शेयर 2014 के सबसे निचले स्तर पर आ गए जबकि चीन की दिग्गज कंपनियों के शेयरों में 3 प्रतिशत की गिरावट आ गई। एशियाई बाजारों में ताइवान का प्रमुख सूचकांक 5.21 प्रतिशत कमजोर हो गया। वहीं, जापान का निक्केई भी 3.7 प्रतिशत, कोरिया का कोस्पी 2.9 प्रतिशत और शंघाई कंपोजिट 2.4 प्रतिशत टूट गए। एशियाई देशों के शेयर बाजारों में गिरावट ने भारतीय बाजारों को भी प्रभावित किया।

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    गुरुवार को रुपये ने भी गिरने का नया रेकॉर्ड बना लिया। यह अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 10 पैसे कमजोर होकर 74.31 पर खुला और 74.46 के सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया। रातोंरात 8 महीने के निचले स्तर पर आने की वजह से निवेशकों ने अमेरिकी शेयरों से पैसे निकाल लिए जिससे डॉलर दुनिया की कई प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले मजबूत बना रहा।

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    विदेशी संस्थागत निवेशकों (FIIs) द्वारा लगातार पूंजी की निकासी से भारतीय शेयर बाजारों पर दबाव बढ़ा। सितंबर महीने में 10 हजार 824 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचने के बाद विदेशी संस्थागत निवेशकों ने अक्टूबर महीने के महज सात कारोबारी सत्रों में ही 14 हजार 97 करोड़ रुपये बाजार से निकाल लिए।

  • ​क्यों 1000 अंक टूटा सेंसेक्स, जानें वजहें

    गुरुवार को सुबह-सुबह दलाल स्ट्रीट पर कत्लेआम मचने से महज 5 मिनट में 4 लाख करोड़ रुपये बाजार से बाहर हो गए। आंकड़ों से पता चलता है कि शुरुआती कारोबार में बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 134.38 लाख करोड़ रुपये घट गए। बुधवार को इन कंपनियों का कुल मार्केट कैप 1 करोड़ 38 लाख 39 हजार 750 करोड़ रुपये था। ध्यान रहे कि 30 अगस्त को इन कंपनियों का मार्केट कैप 1 करोड़ 59 लाख 34 हजार 696 करोड़ के सर्वकालिक स्तर पर पहुंच गया था।


Products You May Like

Articles You May Like

Happy Hug Day 2019 : ‘हग डे’ पर शाहरुख खान हैं डिमांड में, रणबीर कपूर-रणवीर सिंह में कांटे की टक्कर
अखिलेश को रोके जाने पर कुमार विश्वास का योगी सरकार पर तंज, ‘और फिर देते हो लोकतंत्र की दुहाई…भाई रे भाई’
Pulwama Terror Attack: आदिल अहमद डार ही था वह आतंकी, जिसने CRPF के काफिले पर हमले को अंजाम दिया
राशिफल 14 फरवरी: आज वेलेंटाइन डे पर इन राशियों के जीवन में खिलेंगे प्‍यार के फूल
Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah: सोढी को चढ़ा पार्टी का चस्का, फंसे महिला मंडल के चंगुल में- देखें Video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *