मां-बाप और बहन की हत्या के बाद इंटरनेट पर बचने के रास्ते खोजे

क्राइम

अपने माता-पिता और बहन की हत्या करने के बाद आरोपी सूरज ने करीब पौने दो घंटे तक अपने बचाव के रास्ते तलाश किए। इसके लिए वह इंटरनेट पर क्राइम शो देखता रहा। इसके बाद उसने लूट की कहानी रची। फिर उसने घर का सामान फैला दिया और खुद को घायल करने के बाद सुबह करीब 4.45 बजे बालकानी में आकर शोर मचाने लगा। हालांकि, पुलिस पूछताछ के दौरान वह अपनी ही कहानी में फंस गया।

मोबाइल से डाटा डिलीट कर दिया: आरोपी सूरज ने अपराध शो में देखा था कि पुलिस अक्सर मोबाइल की जांच करती है। ऐसे में वारदात के बाद आरोपी ने अपने व्हाट्सअप मैसेज और इंटरनेट पर सर्च किया सभी डाटा डीलिट कर दिया, ताकि पुलिस अगर जांच के दौरान उसके मोबाइल की पड़ताल करे तो वह उसकी कहानी को गलत साबित नहीं कर सके। 

खौफनाक: बेटे ने मां-बाप और बहन को मार डाला, पिता की डांट से था गुस्सा

सोते हुए पिता की हत्या की: पुलिस अधिकारी ने बताया कि अरोपी सूरज एक निजी पॉलीटेक्तिक से सिविल इंजीनियरिंग के प्रथम वर्ष का छात्र था। पढ़ाई के लिए रोज टोकने और पिटाई करने के चलते आरोपी सूरज अपने पिता मिथलेस से नफरत करने लगा था। ऐसे में सबसे पहले उसने कमरे में सोते हुए अपने पिता पर चाकू से वार किया। आरोपी ने करीब आधा दर्जन वार उनकी हत्या कर दी। इसके बाद सूरज कमरे से बाहर निकला, उसी दौरान साथ बने कमरे से उसकी मां सिया शोर सूनकर बाहर आ गइंर्। उन्होंने बेटे के हाथ में चाकू देखकर उसे डांटा। 

इस पर आरोपी ने गेट के पास ही अपनी मां पर भी चाकू से वार कर दिए। करीब तीन वार करने के बाद आरोपी ने मां को धक्का देकर नीचे गिरा दिया। उसी दौरान नेहा अपनी मां को पकड़ने के दौड़ी। इस पर सूरज ने उसे पकड़ कर बिस्तर पर गिरा दिया और चाकू घोंपकर उसकी भी हत्या कर दी। 

200 रुपये में चाकू खरीदा : पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि वह महरौली से मंगलवार दोपहर को 200 रुपये में चाकू खरीद कर लाया था। चाकू को उसने अपने कमरे में छिपा दिया था। 

लोधी समाज के प्रदेश महामंत्री थे मृतक मिथलेस: मृतक मिथलेस मूल रूप से कन्नौज के रहने वाले थे। वह अपने परिवार के साथ करीब 25 साल पहले दिल्ली गए थे। मिथलेस ने अपने गांव से आने वाले लोगों की यह बसने में मदद की थी। दिल्ली में लोधी समाज के लिए काम करने वाली समिति में मिथलेस प्रदेश महामंत्री के पद पर थे।

समलैंगिक संबंधों के चलते हुई थी ‘आप’ नेता की हत्या

किराए पर कमरा लिया था: प्राथमिक जांच के बाद सामने आया है कि सूरज नशा करता था। इसके लिए उसने महरौली के पास एक कमरा किराए पर लिया हुआ था। यहां वह दोस्तों के साथ आता था। इस कमरे का इस्तेमाल सभी दोस्त नशा व अन्य गलत कामों के लिए करते थे। पुलिस ने मकान मालिक से भी पूछताछ की है। 

‘छोटी बहन को नहीं मारना चाहता था’

पुलिस पूछताछ में आरोपी सूरज ने बताया है कि वह केवल पिता और मां की हत्या करना चाहता था, लेकिन मां की हत्या के दौरान नेहा उन्हें बचाने आ गई। इसके चलते उसे नेहा ही भी हत्या करनी पड़ी। आरोपी ने पुलिस को बताया कि नेहा की हत्या के लिए आरोपी ने उसे दो बार चाकू मारे। पहली बार जब उसने नेहा पर वार किया तो नेहा काफी देर तक तड़पती रही। उसे तड़पता देख सूरज ने उस पर दोबारा वार किया और जब तक वह बेसूध नहीं हो गई। आरोपी ने बताया कि उसे बहन की हत्या का अफसोस है।

इन कारणों से गिरफ्त में आया सूरज

1. मौत सिर्फ तीन की 
घर में जिस समय वारदात हुई, उस समय चार लोग मौजूद थे। तीन लोगों की निर्मम तरीके से हत्या की गई। चौथे सदस्य की केवल अंगुली में हल्की चोट थी। पुलिस को इस हत्याकांड में शुरू से ही परिवार के चौथे सदस्य सूरज पर शक था। यही वजह थी कि सूरज को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ शुरू की।

2. लूट या चोरी नहीं होना 
सूरज ने पुलिस को बताया था कि आरोपी लूट की वारदात को अंजाम देने आए थे। तीन हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी खाली हाथ क्यों लौट गए? यह बड़ा सवाल था। जिसका जवाब सूरज के पास नहीं था। ऐसे में पुलिस का शक यकीन में बदल गया कि सूरज की कहानी फर्जी है।  

3. बार-बार बयान बदलना
पुलिस पूछताछ में सूरज ने बताया कि उसको बचाने के चक्कर में मां की जान गई, लेकिन पूछताछ आगे बढ़ी तो वह अपने बयान से मुकर गया और कहा कि बदमाशों ने पहले नेहा की हत्या की। लगातार बयान बदलने के चलते पुलिस का शक गहरा गया।

4. चाकू घर में मिलना
हत्या के बाद चाकू घर में मिला। रसोई के चाकू से ही तीन कत्ल किए गए थे। घर में लूटपाट करने आए बदमाशों ने रसोई से चाकू लिया, यह कहानी पुलिस को सही नहीं लगी। पुलिस की जांच में चाकू के मामले में सूरज के बयान पर सवाल खड़े हो गए। 

5. जबर्दस्ती प्रवेश नहीं 
सूरज ने बताया कि बदमाश किराएदार के कमरे से घर में घुसे थे, लेकिन पुलिस को इसका सुबूत नहीं मिला। घर में जबरन घुसने के कोई निशान नहीं थे। सूरज पुलिस को यह नहीं बता पाया कि बदमाश कहां से आए और वारदात के बाद कहां चले गए? 

Products You May Like

Articles You May Like

UPTET Result 2018: आज आएगा उच्च प्राथमिक का रिजल्ट, मोबाइल पर ऐसे कर पाएंगे चेक
2.0 Box Office Collection Day 16: रजनीकांत-अक्षय कुमार की ‘2.0’ ने मचाई धूम, हिंदी वर्जन ने कमाए इतने करोड़
Nokia 8.1 का रिव्यू
मृत्यु के बाद ही इस हद को पार कर पाते हैं हनुमानगढ़ी के महंत
पापा ने पूरा नहीं किया ‘टॉयलेट’ बनवाने के प्रॉमिस, लड़की पहुंची पुलिस स्टेशन और फिर…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *