WB: रेप का विरोध कर रहे लोगों पर पुलिसिया कहर

देश

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर किया लाठीचार्ज

कोलकाता

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में मंगलवार को नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस कहर बनकर टूट पड़ी। जानकारी के मुताबिक, स्कूल में टीचर द्वारा बच्ची से दुराचार के बाद गुस्साए परिजनों ने स्कूल के अंदर प्रदर्शन किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों पर लाठीचार्ज करके उन्हें इतनी बुरी तरह पीटा कि कई लोग घायल हो गए।

बताया गया कि 26 सितंबर को शिक्षक ने पांच साल की बच्ची से स्कूल में दुष्कर्म किया, जिसके बाद से बच्ची ने स्कूल जाना बंद कर दिया था। आरोपी शिक्षक को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। घटना से गुस्साए परिजनों ने स्कूल को घेर लिया, जिससे स्कूल की छुट्टी हो जाने के बाद भी बाकी बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे थे।

परिजनों ने की मेन गेट को तोड़ने की कोशिश

परिजनों ने स्कूल में तोड़फोड़ करने के साथ-साथ मेन गेट को भी तोड़ने की कोशिश की। हर तरफ से ईंटें बरस रही थीं। कुछ लोगों ने मोटरसाइकल और कार भी तोड़ डाली। स्थिति बिगड़ते देख लेक पुलिस स्टेशन से भारी मात्रा में पुलिस बल मौके पर पहुंचा। लोगों ने आसपास की बिल्डिगों से भी ईंट फेंकनी शुरू कर दी, जिससे तीन पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। स्थिति बेकाबू होते देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। लाठीचार्ज के बाद कई बच्चों की मांएं भी लहूलुहान देखी गईं।

प्रदर्शनकारियों ने मुख्य गेट को बंद कर रखा था। पुलिस ने किसी तरह बच्चों और शिक्षकों स्कूल से निकाला। स्थानीय पार्षद रतन डे कहते हैं, ‘हमने फैसला किया है कि मॉर्निंग सेक्शन में सिर्फ लड़कियां पढ़ती हैं इसलिए अब पुरुष टीचर सुबह नहीं पढ़ाएंगे। स्कूल में और सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे, जिससे स्कूल के अंदर की गतिविधियों पर नजर रखी जा सके।’ पीड़िता की मां ने कहा, ‘मेरी बेटी घटना के बाद से ही बुरी तरह डरी हुई है। वह उसी दिन से स्कूल भी नहीं जा रही है। मुझे मेरी बेटी के लिए न्याय चाहिए।’

Products You May Like

Articles You May Like

ज्यादा है फीस
हिमाचल सरकार 220 इलेक्ट्रिक बसों की खरीद के लिये निविदा लाएगी
दिवाली से पहले जूलरी की खरीद पर कहां कितनी मिल रही छूट
कंगना रनौत बोलीं- नहीं चाहती कि मेरे बच्चे मेरी जैसी लाइफ जिएं…
हयात में गुंडागर्दी : दिल्ली पुलिस ने BSP नेता के बेटे के खिलाफ गैर जमानती वारंट मांगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *