जानें- इंदिरा नूयी ने क्यों कहा, मेरा राजनीति में आना तीसरे विश्व युद्ध का कारण होगा

दुनिया

न्यूयॉर्क : पेप्सिको की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) इंद्रा नूयी ने कहा कि अगर वह राजनीति में उतरती हैं तो यह तीसरे विश्व युद्ध का कारण होगा क्योंकि वह “बहुत ही बेबाकी से अपनी बात रखती हैं”.  गैर-लाभकारी संस्था एशिया सोसायटी ने 62 वर्षीय नूयी को मंगलवार को ‘गेम चेंजर ऑफ द ईयर अवार्ड’ से नवाजा गया. पेप्सिको के सीईओ का पद छोड़ने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मंत्रिमंडल में शामिल होने के सवाल पर नूयी ने कहा, “मेरा और राजनीति का कोई मेल-जोल नहीं है. मैं बहुत ही बेबाक हूं, मैं कूटनीतिज्ञ नहीं हूं. यहां तक की मैं कूटनीति भी नहीं जानती हूं. मैं तीसरे विश्व युद्ध का कारण हो सकती हूं. मैं ऐसा नहीं करूंगी.” 

यह भी पढ़ें :  जानिए पेप्सीको की इंदिरा नूयी को आखिर महिलाओं से क्या शिकायत है…

इंद्रा नूयी ने दो अक्टूबर को पेप्सिको की सीईओ का पद छोड़ दिया था. इसके बाद रेमन लगुआर्ता को नयी सीईओ बनाया गया है. नूयी 2019 तक कंपनी की चेयरमैन बनी रहेंगी. नूयी ने पिछले 40 वर्ष से एक दिन में 18 से 20 घंटे काम करने के बाद अब आराम करने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, “जब मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया तो मैं सोचती थी कि यह बहुत कठिन होगा. सुबह 4 बजे उठना और काम के लिए दौड़ना, दिन में 18-20 घंटे काम करना है. इसके अलावा मैंने पिछले 40 वर्षों में कुछ नहीं किया है.” उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने के बाद मैंने महसूस किया कि काम के अलावा भी जिंदगी में बहुत कुछ है. 

यह भी पढ़ें :  12 साल तक पेप्सिको की CEO रहने के बाद इंदिरा नूयी 3 अक्‍टूबर को पद छोड़ेंगी 

टिप्पणियां

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Products You May Like

Articles You May Like

अब बिजनस बैंकिंग से दें करियर को नई ऊंचाई
मशहूर एक्टर Sudesh Berry ऑस्ट्रेलिया से लौटे अपने बेटे को देख हुए भावुक, वायरल हुई तस्वीरें
रानी चटर्जी का Valentines Day पर खो गया ‘दिल’, Video ने इंटरनेट पर मचाया तहलका
Puducherry: उपराज्यपाल किरण बेदी से हुआ विवाद तो घर के बाहर सड़क पर सो गए मुख्यमंत्री
वृश्चिक राशिफल 19 फरवरी 2019: आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *