यूपी: SDM ने मांगे 5 लाख, CM पोर्टल पर शिकायत

देश

सांकेतिक तस्वीर

पीलीभीत

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले के पूरनपुर क्षेत्र के उपजिलाधिकारी पर 5 लाख रुपये रिश्वत मांगने का आरोप लगा है। एक व्यक्ति ने उपजिलाधिकारी पर कॉल करके ऑफिस में अकेले बुलाकर हड़काने और बिल्डिंग को अवैध बताकर गिरवाने अन्यथा मामला निपटाने के एवज में 5 लाख रुपये की मांग का आरोप लगाया। व्यक्ति ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर इस मामले की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की। जिसपर डीएम ने मामला संज्ञान में लेकर जांच कमिटी गठित कर जांच आख्या प्रस्तुत करने का आदेश दिया है।

पीलीभीत जिले के पूरनपुर शहर निवासी सुग्रीव सिंह पुत्र दलसिंगार सिंह ने शिकायत में कहा कि उपजिलाधिकारी जे पी चौहान ने 8 अक्टूबर की सुबह फोन कर के 9 अक्टूबर को अकेले कार्यालय में आकर मिलने को कहा। जिसपर बताए हुए दिन सुग्रीव उपजिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। जहां एसडीएम पूरनपुर ने पूछा कि यूनियन बैंक वाली बिल्डिंग किसकी है? पीड़ित ने खुद को जब बिल्डिंग का मालिक बताया तो एसडीम ने पीड़ित को हड़काना शुरू कर दिया। कहा कि या तो 5 लाख रुपये दे दो नहीं तो बिल्डिंग गिरा दी जाएगी।

जमीन के मामले में रिश्वत मांगने का आरोप

पीड़ित ने मामले में बताया कि तकरीबन 16 साल पहले जमीन लेकर बिल्डिंग का निर्माण कार्य उसके द्वारा कराया गया, जिसमें वर्तमान में किराए पर यूनियन बैंक स्थित है। अब इतने समय के बाद उन्हें बताया जा रहा है कि उसकी बिल्डिंग अवैध है जबकि वह कई सालों से बिल्डिंग का टैक्स नगर पालिका को दे रहा है। पीड़ित ने इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर की है।

वहीं एसडीएम पूरनपुर जेपी चौहान ने खुद पर लगे सभी आरोप को नकारते हुए बताया कि उन्होंने सुग्रीव सिंह को नगर पालिका की जमीन पर अवैध तरीके से बिल्डिंग बनाए जाने कि शिकायत पर ऑफिस बुलाया था। जहां उनसे केवल बिल्डिंग के कागजों को दिखाने की बात कही गई थी। पीलीभीत डीएम डॉ अखिलेश मिश्र ने इस मामले को संज्ञान में लेकर निष्पक्ष जांच हेतु अपर जिलाधिकारी न्यायिक और अपर पुलिस अधीक्षक की जांच समिति का गठन किया है। जो इस प्रकरण की सत्यता की जांच कर अपनी जांच आख्या डीएम को प्रस्तुत करेंगे।

Products You May Like

Articles You May Like

#MeToo की तर्ज पर #ManToo : पुरुष करेंगे महिलाओं के हाथों अपने यौन शोषण का ‘खुलासा’
Android फोन निर्माताओं को अब गूगल इस्तेमाल करने पर देने होंगे पैसे
टेलिकॉम सेक्टर में कम हो सकती हैं 60 हजार नौकरियां
क्यों गया अकबर का ताज? जानें अंदर की पूरी कहानी…
दिवाली: बिकेंगे पटाखे, पर 8-10 तक ही जलेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *