तेजस्वी-तेज में मतभेद? बयान से पलटीं मीसा

देश

आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव परिवार के साथ

पटना

बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से राज्यसभा सदस्य और पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ने सोमवार को यह स्वीकारा कि उनके दोनों भाइयों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच मनमुटाव है। हालांकि बाद में उन्होंने अपने बयान पर सफाई भी दी। इससे पहले कई बार दोनों भाइयों के बीच मतभेद की बात आई लेकिन दोनों की तरफ से इसे नकार दिया गया था।

‘हमारे परिवार में भाई-भाई में मनमुटाव’

मनेर में एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मीसा ने कहा, ‘अगर आप सामने से लड़ेंगे तो हम झांसी की रानी की तरह लड़ लेंगे लेकिन पीठ में खंजर मारेंगे तो इसे हम अब बर्दाशत नहीं करेंगे। चाहे वह पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता हो।’

मीसा ने आगे कहा, ‘थोड़ा मनमुटाव किसमें नहीं। जब हमारे हाथ की पांच अंगुली बराबर नहीं है। हमारे परिवार में भाई-भाई में मनमुटाव है तो फिर राष्ट्रीय जनता दल तो बहुत बड़ा परिवार है। वोट की कमी आरजेडी को नहीं है।’

बयान पर मीसा ने दी यह सफाई

इस बयान पर बाद में मीसा की तरफ से सफाई भी दी गई। मीसा ने कहा, ‘मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। मैंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से मतभेदों को भुलाकर एकजुट होने को कहा था। वह बयान मेरे परिवार पर नहीं था। परिवार एक है, हमारे बीच कोई मतभेद नहीं हैं।’

इस बीच जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने चारा घोटाला के मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि जिस परिवार के सभी लोग राजनीति करेंगे तो वहां ऐसा होना स्वभाविक है। लालू यादव का इलाज रांची में चल रहा है।

उन्होंने कहा कि वह इस बात को लगातार कहते रहे हैं कि पिता जेल में हैं और उनके पुत्र सत्ता संघर्ष में लगे हुए हैं। यह कैसी मानसिकता है । उल्लेखनीय है कि आरजेडी प्रमुख के जेल जाने के बाद से विरोधी दल लालू परिवार में सत्ता संघर्ष और मनमुटाव के आरोप लगाते रहे हैं जिसका तेजप्रताप और तेजस्वी खंडन करते रहे हैं।

Products You May Like

Articles You May Like

CSBC आज जारी करेगा ऐडमिट कार्ड
विजय माल्‍या को भारत लाने का रास्‍ता हुआ साफ, ब्रिटेन की अदालत ने दिए प्रत्‍यर्पण के आदेश
साप्‍ताहिक टैरो राशिफल 10 से 16 दिसंबर: इन राशियों के लिए लाभ का वक्‍त
क्यों कतर को अब ओपेक की जरूरत नहीं रही?
ब्रेक्जिट के समर्थन में हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारियों ने किया मार्च

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *