‘2030 तक टॉप-3 इकॉनमी में होगा भारत’

देश

फाइल फोटो: राजनाथ सिंह

देहरादून

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि अगर वृद्धि की मौजूदा दर कायम रही तो भारत 2030 तक विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जाएगा। देहरादून में चल रही दो दिनी ‘इन्वेस्टर्स समिट’ के आखिरी दिन समापन सत्र को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘भारत आज सबसे तेज गति से विकसित हो रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। विश्व की 10 सबसे बडी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में हम नौवें नंबर पर थे लेकिन पिछले कुछ वर्षों में उछाल भरकर हम छठे स्थान पर पहुंच गए हैं।’

उन्होंने कहा, ‘अगर इसी गति से हमारी अर्थव्यवस्था चलती रही तो 2030 तक हम विश्व की सबसे बडी तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक होंगे।’ विश्वभर के निवेशकों के लिए भारत में निवेश को मौजूदा समय को सर्वश्रेष्ठ बताते हुए सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विश्वसनीय अगुवाई में देश में इस समय प्रमुख संरचनात्मक और प्रक्रियात्मक सुधार चल रहे हैं।

पढ़ें: PM मोदी ने दिया ‘वन वर्ल्ड, वन सन और वन ग्रिड’ का मंत्र

राजनाथ सिंह ने यह भी कहा, ‘आप देखेंगे कि आने वाले समय में जीएसटी देश के लिए वरदान साबित होगा। सरकार की नीतियों पर बहस हो सकती है लेकिन प्रधानमंत्री की विश्वसनीयता कभी संदेह में नहीं रही। यह उनकी असंदिग्ध विश्वसनीयता ही है कि कई कारकों की वजह से डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरावट के बावजूद देश में निवेशकों का भरोसा बना हुआ है।’

निवेशकों को उत्तराखंड में आमंत्रित करते हुए उन्होंने कहा, ‘राज्य में पर्यटन और वेलनेस के क्षेत्र में बडी संभावनाएं हैं और यहां की अच्छी कानून व्यवस्था उन्हें कभी शिकायत का मौका नहीं देगी। आयुष्मान भारत योजना के तहत देशभर में डेढ़ लाख वेलनेस सेंटर बनने हैं और निवेशकों के पास इस क्षेत्र में बहुत मौके हैं क्योंकि उत्तराखंड योग, ध्यान और आयुर्वेद की राजधानी है। देश का गृहमंत्री होने के नाते उन्होंने निवेशकों को भरोसा दिलाया कि निवेशकों को आवेदन करने के 60 दिन के भीतर उनके मंत्रालय से सुरक्षा मंजूरी मिल जाएगी।’

राजनाथ ने यह भी कहा, ‘सुरक्षा मंजूरी मिलने में गृह मंत्रालय से होने वाली देरी निवेशकों के लिए एक बडा सिरदर्द है। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि ज्यादा से ज्यादा 60 दिनों में आपको यह मंजूरी मिल जाएगी और अगर नहीं मिले तो आप मेरे पास आ सकते हैं।’ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि 1.20 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के निवेश को आकर्षित कर इन्वेस्टर्स समिट ने अपना उद्देश्य हासिल कर लिया है। रावत ने कहा, ‘हमें 1,20,150 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं और विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी कंपनियों के साथ कुल 601 एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं।’ उन्होंने इसके लिए अपने अधिकारियों की टीम और गृहमंत्री का आभार भी जताया, जिन्होंने इस समिट में आने के उनके आग्रह को तत्काल स्वीकार कर लिया। रावत ने राजनाथ सिंह को अपना बड़ा भाई बताया और कहा कि उनसे उन्होंने सांगठनिक मामलों को अच्छी तरह से संभालने की कला सीखी है।

Products You May Like

Articles You May Like

वृश्चिक राशिफल 20 अक्टूबर 2018: धार्मिक आस्था बढ़ेगी
Canara Bank PO: नोटिफिकेशन जारी, जानें पूरी डीटेल
Lenovo S5 Pro, Motorola One Power, Nokia 6.1 Plus और Xiaomi Redmi Note 5 Pro में कौन बेहतर?
उत्तराखंड की चार धाम राजमार्ग परियोजना पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव : वोटरों को रिझाने के लिए जादू करेगी बीजेपी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *