घाटी में पुलिसकर्मियों की हत्या पर कांग्रेस बोली: भारत के मुकुट के साथ खेल रही मोदी सरकार, कहां हैं 56 इंच का सीना?

ताज़ातरीन

नई दिल्ली: कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमलों और राज्य के कई पुलिसकर्मियों के इस्तीफे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘सत्ता लालच’ में भाजपा एवं इस सरकार ने ‘भारत के मुकुट’ के साथ खिलवाड़ किया है और ऐसे में मोदी सरकार को बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है. पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह भी आरोप लगाया कि जम्मू-कश्मीर के साथ विश्वासघात के लिए प्रधानमंत्री मोदी, केंद्र सरकार और भाजपा जिम्मेदार है.

UGC ने 29 सितंबर को ‘सर्जिकल स्ट्राइक दिवस’ मनाने का निर्देश जारी किया, विपक्षी दलों ने विरोध जताया

 उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘आज जम्मू-कश्मीर में हमारे वीर जवानों का अपहरण किया जा रहा है, उनकी हत्या की जा रही है, जबरन इस्तीफा लिया जा रहा है. हमारा सवाल है कि पाक परस्त आतंकवाद का अंत कब होगा? 56 इंच का सीना और लाल आंख कब दिखेंगी?’ सिंघवी ने कहा, ‘24 घंटे के अंदर तीन पुलिसकर्मियों का अपहरण किया गया. 10 पुलिसकर्मियों ने इस्तीफा दिया है. 2014 के बाद 414 जवान शहीद हुए हैं.  256 आम लोग मारे गए हैं.  संघर्ष विराम उल्लंघन में पांच गुना की बढ़ोतरी हुयी है.  जवानों के शवों को क्षत-विक्षत किए जाने की भी कई घटनाएं हुई हैं.’    

Advertisement

जम्मू कश्मीर में पुलिसकर्मियों के इस्तीफे को केंद्र सरकार ने बताया ‘प्रोपोगैंडा’, कहा- किसी ने नहीं दिया इस्तीफा
 
उन्होंने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर भारत का मुकुट है. वहां सत्ता लालच की वजह से भाजपा और मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के साथ खिलवाड़ किया है. आज वहां जो स्थिति है उसके लिए सत्तारूढ़ पार्टी जिम्मेदार है. प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं. जम्मू-कश्मीर के सभी इलाकों के लोगों के साथ विश्वासघात हुआ है.’ 

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में अगवा किये गये 3 पुलिसकर्मियों की आतंकवादियों ने की हत्या

टिप्पणियां

सिंघवी ने कहा, ‘‘सिर्फ संप्रग सरकार के समय जम्मू-कश्मीर की स्थिति सामान्य हो गई थी और वह पूरे देश के साथ मिलकर आगे बढ़ रहा था. लेकिन आज वहां शासन नाम की चीज नहीं नजर आ रही है.’    उन्होंने कहा, ‘‘भारत के मुकुट के साथ खेल रही मोदी सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है.’    
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Products You May Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *