अब आप भी देसी पिल्लों को ले पाएंगे गोद

देश

इनकी ब्रीडिंग करीब 15 सालों बाद हो रही है

ओप्पिली पी, चेन्नै

अगर आपको कुत्तों की देसी नस्लों से प्यार है तो आपके लिए एक खुशखबरी है। पशुपालन विभाग की सैदापेट स्थित डॉग ब्रीडिंग यूनिट देसी प्रजाति ‘कन्नी‘ का प्रजनन कराएगी। यह नस्ल दक्षिण भारत में बहुत लोकप्रिय है। इनकी ब्रीडिंग करीब 15 सालों बाद हो रही है। पिल्लों को गोद लेने की प्रक्रिया अगले तीन महीने में शुरू हो जाएगी।

नवंबर 2016 में विरुधुनगर के एक ब्रीडर से कन्नी के तीन पपीज़ का अधिग्रहण किया गया था। अब ये बड़े हो चुके हैं और प्रजनन के लिए तैयार हैं। इन तीनों में से एक नर है और दो मादा हैं। विभाग इनका प्रजनन केंद्र सरकार के नियमों के तहत कराएगा। पशुपालन विभाग के निदेशक ए. ज्ञानशेखरन ने हमारे सहयोगी टीओआई से बताया कि विभाग ने देसी कुत्तों के प्रजनन के लिए एक तय प्रक्रिया बनाई हुई है। एक मादा और नर कुत्तों के जोड़े का प्रजनन तभी कराया जा सकता है जब दोनों करीब डेढ़ साल के हों।

उन्होंने बताया कि इन कुत्तों की देखभाल के लिए दिन में दो बार इन्हें अच्छी डाइट दी जाती है। विभाग के पास सभी नस्लों के कुत्तों के प्रजनन का अनुभव है। इन्हें करीब 5500 स्क्वेयर फीट के प्ले एरिया में रखा जाता है और दिन में करीब 30 मिनट तक के लिए बाहर निकाला जाता है।

Products You May Like

Articles You May Like

श्राद्ध कर्म के लिए इन 7 तीर्थ स्‍थानों का महत्‍व सबसे ज्‍यादा
MP – राजस्थान चुनाव : आयोग ने दाखिल किया हलफनामा, कहा- सारे आरोप गलत और भ्रामक
पंचांग 22 सितंबर 2018: आज ही है शनि प्रदोष व्रत
Airtel ने लॉन्च किए पांच नए प्रीपेड प्लान, मिलेगा 126 जीबी तक डेटा
केवल सीता हरण नहीं, रावण की मौत की वजह बनी उसकी यह 1 कमी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *