महंगा तेल: BJP-कांग्रेस दोनों जिम्मेदार-मायावती

देश

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर बीजेपी-कांग्रेस पर बरसीं मायावती

लखनऊ

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) अध्यक्ष मायावती ने पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी और महंगाई के लिए केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सरकार के साथ-साथ कांग्रेस को भी जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि मोदी सरकार पूर्ववर्ती कांग्रेस (यूपीए) सरकार की गलत आर्थिक नीतियों को ही आगे बढ़ा रही है। बता दें कि सोमवार को कांग्रेस द्वारा बुलाए गए ‘भारत बंद’ को बीएसपी ने समर्थन नहीं दिया था।

भारत बंद के दौरान हुई हिंसा की मायावती ने निंदा की। साथ ही बीजेपी शासित राज्यों में आंदोलनकारियों के खिलाफ पुलिस के रवैयै की भी निंदा की। मंगलवार को मायावती ने कहा, ‘पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी और महंगाई के खिलाफ हुए भारत बंद की स्थिति उत्पन्न होने के लिए हम बीजेपी और कांग्रेस दोनों को ही बराबर का जिम्मेदार मानते हैं। कांग्रेस ने ही यूपीए-2 के शासनकाल में पेट्रोल को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करने का फैसला किया था और उसके बाद केंद्र की सत्ता में आई बीजेपी सरकार भी उसी आर्थिक नीति को आगे बढ़ाती रही। यही नहीं, बीजेपी ने एक कदम और आगे निकलते हुए डीजल को भी सरकारी नियंत्रण से मुक्त कर दिया, जिसके चलते खेती-किसानी काफी प्रभावित हुई है।’

fuel prices hike bjp congress both responsible for it says mayawati

Fuel prices hike: BJP, Congress both responsible for it, says Mayawati
Loading


‘पूंजीपतियों को नाराज नहीं करना चाहती बीजेपी’


उन्होंने कहा कि जहां डीजल-पेट्रोल और रसोई गैस की बढ़ती कीमत से जनता पेरशान है, वहीं भारतीय रुपये की कीमत भी रिकार्ड तेजी से अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिर रही है लेकिन जनविरोधी और अहंकारी मोदी सरकार जनता की इन परेशानियों से जरा भी विचलित नजर नहीं आ रही। मायावती ने कहा, ‘बीजेपी सरकार इस चुनावी वर्ष में अपने पूंजीपति और धन्नासेठ साथियों को नाराज करना नहीं चाहती, जिनके धनबल पर वह केंद्र की सत्ता में आई है और फिर आने का सपना देख रही है।’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही बिग टिकट रिफॉर्म यानी बड़े आर्थिक सुधार के नाम पर पूंजीपतियों और धन्नासेठों के समर्थन में और गरीब, किसान व जनविरोधी नीतियों और फैसलों को वापस लेने के मामले में एक जैसे और एक ही एक ही थैली के चट्टे-बट्टे लगते हैं।

‘सरकार चाहे तो तुरंत कंट्रोल कर सकती है कीमतें’

मायावती ने कहा, ‘केंद्र सरकार का कहना है कि वह पेट्रोल व डीजल के मूल्य को नियंत्रित नहीं कर सकती क्योंकि यह उसके नियंत्रण के बाहर है। इससे बीएसपी सहमत नहीं है। केंद्र की यह प्रतिक्रिया उसके अड़ियल रवैया को दर्शाती है। सरकार चाहे तो मौजूदा जबरदस्त महंगाई के चलते इमर्जेंसी जैसे हालात को देखते हुए खासकर पेट्रोल और डीजल की कीमतों को दोबारा सरकारी नियंत्रण में तुरंत वापस ले सकती है या फिर इनकी कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए कुछ सख्त नीति भी बनाकर तेल कंपनियों की मनमानी को भी काफी हद तक रोक सकती है, जिससे जनता को काफी राहत मिल सकती है लेकिन अहंकार में चूर मोदी सरकार को जनता से नहीं, पूंजीपतियों से मतलब है, जो इन्हें फिर चुनाव लड़ने के लिए काफी पैसा देने वाले हैं।’

Products You May Like

Articles You May Like

चाणक्य नीति: इन 4 लोगों को बहुत बुरी लगती हैं सही बातें
BSNL ने 5G सेवाओं की शुरुआत के लिए सॉफ्टबैंक, एनटीटी के साथ किया करार
पाकिस्तान में प्लेन के अंदर पायलट और क्रू मेंबर्स के बीच हुई हाथापाई, पीछे की वजह थी यह
गोवा: सीएम मनोहर पर्रिकर के विकल्प की तैयारी, श्रीपद नाइक का नाम सबसे आगे: सूत्र
बिहार: संदिग्ध चोर की पीट-पीटकर हत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *