Ganesh Chaturthi 2018: गणेशजी की प्रतिमा घर लाने से पहले इन बातों को जान लें

राशि


गणेश चतुर्थी इस बार 13 सितंबर को है और घर-घर में भगवान के स्‍वागत की तैयारियां चल रही हैं। इस खास अवसर पर गणेश जी मूर्ति घर में स्‍थापित की जाती है और फिर अनंत चतुर्दशी तक इसकी रोजाना विधि-विधान से पूजा की जाती है और भोग लगाया जाता है। आज हम आपको बता रहे हैं कि इस खास अवसर के लिए गणेशजी की मूर्ति खरीदते वक्‍त किन-किन बातों पर गौर करना चाहिए…

1/6गणेशजी होने चाहिए ऐसे

वैसे तो आपको भगवान गणपति की खड़े हुए, नृत्‍य करते हुए, आराम करते हुए जैसी कई अवस्‍थाओं की मूर्तियां मिल जाती हैं। लेकिन घर के लिए सबसे शुभ माने जाते हैं बैठे हुए गणेश जी। ऐसी मूर्ति की पूजा करने से घर में स्‍थायी धन लाभ होता है और बरकत बनी रहती है। ऑफिस के लिए खड़े हुए गणेशजी की प्रतिमा को सबसे अच्‍छा माना जाता है। यह सफलता और तरक्‍की की सूचक मानी जाती है।

2/6बप्‍पा की सूंड होनी चाहिए ऐसी

एक बात गौर करने वाली यह भी है कि गणेश प्रतिमा में सूंड बाईं ओर मुड़ी होनी चाहिए। ऐसी प्रतिमा को ही वक्रतुंड माना जाता है।

3/6मूषक और मोदक

गणेश जी का वाहन चूहा है और मोदक उनको अतिप्रिय हैं। इसलिए बप्‍पा की मूर्ति भी ऐसी होनी चाहिए, जिसमें ये दोनों ही चीजें उपस्थित हों।

4/6ऐसे बनी हो बप्‍पा की मूर्ति

वैसे तो घर पर मिट्टी से गणेशजी की मूर्ति बनाकर उसको स्‍थापित करना सबसे शुभ होता है। लेकिन ऐसा संभव न हो तो बाजार से ऐसी मूर्ति खरीदें जिसमें केमिकल का प्रयोग न किया गया हो। धातु की बनी गणेशजी की मूर्तियां भी शुभ मानी जाती हैं।

5/6मूर्ति का रंग होना चाहिए ऐसा

गणेशजी की मूर्ति खरीदते वक्‍त उसका रंग भी मायने रखता है। सफेद रंग की या फिर सिंदुरी रंग की मूर्ति सबसे शुभ मानी जाती है। इससे घर में सुख शांति रहने के साथ ही सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं।

6/6मुख्‍य द्वार के लिए हों ऐसे गणेशजी

घर का वास्तुदोष मिटाने के लिए मेन गेट पर भगवान गणेश की दो मूर्तियों वाली तस्वीर लगाएं जिनकी पीठ आपस में मिली हो।

Products You May Like

Articles You May Like

अंकज्‍योतिष 12 नवंबर: जानें अंकों के खेल से कैसे चमकेगी किस्‍मत
राहुल गांधी का पीएम पर निशाना: मोदी नहीं जानते कि देश को जनता चलाती है, न कि एक व्यक्ति
टैरो राशिफल 12 नवंबर: इन राशियों में आज तनाव के संकेत
सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने माना फ्रांस ने राफेल सौदे का समर्थन करने की कोई ‘स्वायत्त गारंटी’ नहीं दी
सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के नहीं मिले सुबूत, सिर्फ प्रशासकीय चूक का मामलाः सूत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *