द नन

फ़िल्म रिव्यू

बॉलिवुड में आजकल हॉरर फिल्मों के नाम पर सिर्फ 1920 सीरीज की फिल्में ही आती हैं। ऐसे में भारतीय दर्शकों के पास हॉरर फिल्मों के नाम पर सिर्फ हॉलिवुड की हॉरर फिल्में देखने का ही ऑप्शन है। बेशक वहां भी शैतान से जुड़े ढेरों किस्से हैं, जिन पर हॉलिवुड के निर्माता अक्सर फिल्में बनाते रहते हैं। हॉलिवुड की चर्चित हॉरर फिल्मों में कंज्यूरिंग सीरीज़ की फिल्मों को दर्शकों ने काफी पसंद किया है। ‘द नन‘ कंज्यूरिंग सीरीज़ की ही अगली फिल्म है, जिसे इस सीरीज का सबसे ख़ौफनाक किस्सा बताया जा रहा है। फिल्म के क्रेज का आइडिया इसी बात से लगाया जा सकता है कि ‘द नन’ का सुबह का शो हाउसफुल था।

इस फिल्म की कहानी की शुरुआत 1952 में रोमानिया के सैंट कार्टा में एक ऐबी (ऐसी जगह जहां नन रहती हैं) से हुई थी। माना जाता है कि उस ऐबी के एक दरवाजे में शैतान रहता है और उससे आगे गॉड का राज नहीं है। इसी वजह से आसपास के लोग उससे दूर रहते हैं। एक दिन एक नन उस दरवाजे के भीतर गई और शैतान के हाथों मारी गई, जबकि दूसरी नन ने शैतान से बचने के लिए पहले से की गई प्लानिंग के तहत फांसी लगा ली। उसकी लाश वहां सब्जियां लाने वाले एक आदमी मोरिस को मिली। जब यह खबर फैली, तो उसके बाद वैटिकन ने एक जांच दल गठित किया।

उसमें एक पादरी फादर एंथनी बुर्के (डेमियन बिहिर) और एक नन सिस्टर इरीन (टेसा फार्मिगा) जिसने अभी तक शपथ नहीं ली, को रोमानिया भेजा। वे दोनों उस सब्जी वाले के साथ वहां जाते हैं। फादर एंथनी एक ऐसे पादरी हैं, जो अक्सर ऐसी घटनाओं की जांच करते हैं। वहां इन दोनों के साथ अजीब-अजीब घटनाएं होती हैं, लेकिन हिम्मत नहीं हारते और उस रहस्यमय ऐबी से जुड़े रहस्य का खुलासा करने का फैसला करते हैं। सब्जी बेचने वाला मोरिस भी उन दोनों का साथ देने का फैसला करता है। क्या फादर और सिस्टर ऐबी के शैतान को काबू कर पाते हैं? आखिर उस ख़ौफनाक ऐबी का राज क्या है? इस ख़ौफनाक सवाल का जवाब आपको थिअटर जाकर ही मिल पाएगा।

हॉलिवुड की तमाम हॉरर फिल्मों की तरह इस फिल्म में भी शैतान और चर्च की जंग दिखाई गई है। हालांकि, इस बार चर्च की ओर से मोर्चा किसी पादरी की बजाय एक नन ने संभाला है। सिस्टर इरीन के रोल में टेसा फार्मिगा ने अच्छी ऐक्टिंग की है। खासकर शैतान से लड़ाई के सीन में वह जोरदार लगती हैं। वहीं डेमियन ने भी ठीकठाक ऐक्टिंग की है। उधर मोरिस के रोल में जोनस भी दर्शकों का मनोरंजन करते हैं। फिल्म की शूटिंग भी कहानी की डिमांड के मुताबिक डरावनी लोकेशन पर की गई है। हॉरर फिल्मों में बैकग्राउंड स्कोर बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस फिल्म में शैतान से जंग के सीन आपको खासे डरावने लगते हैं। वहीं खौफनाक ऐबी के भीतर के सीन भी खतरनाक हैं। अगर आपको हॉरर फिल्में देखना पसंद है, तो आपको नन से जरूर मुलाकात करनी चाहिए।

Products You May Like

Articles You May Like

होठों की मुस्कान के बारे में वेदों में कही गई हैं ये बातें
उभरती प्राद्योगिकी के कारण करीब दो अरब युवाओं के पीछे छूटने का खतरा: रिपोर्ट
Ayushman Bharat: जल्द होगी 1 लाख आयुष्मान मित्रों की भर्ती, इतनी होगी सैलरी
पप्‍पू और लड़की
हाथ देखकर जानें, किस देवी देवता की पूजा से प्राप्‍त होगा उत्‍तम फल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *