पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम मोदी बोले – वह नाम से ही अटल नहीं थे, निर्णय में भी अटल थे

ताज़ातरीन

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि (Atal Bihari Vajpayee Prayer Meeting) देने के लिए आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केवल वह नाम से ही अटल नहीं थे, अपने निर्णय में भी अटल थे. पोखरण परमाणु परीक्षण का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 11 मई को पहला परीक्षण हुआ, इसके बाद पूरी दुनिया भारत के खिलाफ हो गई, लेकिन अटल जी अपने निर्णय से डिगे नहीं. 13 मई को फिर परीक्षण हुआ और उन्होंने इसके जरिये सारी दुनिया को यह संदेश दिया कि भारत किसी से कम नहीं है. कश्मीर का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा यह अटल जी की ही रणनीति थी कि कश्मीर के मुद्दे को विश्व पटल पर अपने नजरिये से लोगों के सामने रखा. पहला मौका था जब विश्व राजनीति में लोग कश्मीर के बजाय आतंकवाद पर चर्चा करने लगे. उन्होंने पूरे विश्व को दो विचार में बांट दिया था कि आप आतंकवाद के खिलाफ हैं या आतंकवाद के साथ हैं. 

यह भी पढ़ें : योगी सरकार का फैसला, अब हर जिले में प्रवाहित की जाएंगी अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां
 

इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में प्रार्थना सभा का आयोजन
पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की याद में इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित प्रार्थना सभा में कहा पीएम मोदी ने कहा कि अटल किशोर अवस्था से लेकर अंत तक जबतक शरीर ने साथ दिया वह देश के लिए ही जिए. पीएम मोदी ने कहा कि जीवन कैसा हो यह हमारे हाथ में है. अटल जी ने जी करके दिखाया कि जीवन कैसा हो, क्यों हो, किसके लिए हो कैसे हो. जीवन सच्चे अर्थ में वहीं जी सकता है जो पल को जीना जानता है और पल-पल को जिसने जीकर के जिंदगी को सजाया, संवारा और जनसामान्य के लिए खपा दिया. किशोर अवस्था से लेकर जीवन के अंत तक शरीर ने जब तक साथ दिया वे जिए, देश के लिए, देशवासियों के लिए, उसूलों के लिए और उस काल में राजनीतिक जीवन में जब राजनीति के मुख्यधारा के निकटवर्ती कोई अन्य विचार या व्यवस्था दूर-दूर तक नजर नहीं आती थी. इतना ही नहीं देश का एक लंबा कालखंड, सार्वजनिक जीवन में खासकर राजनीतिक जीवन में छुआछूत का कालखंड रहा. अपमानित होने के पल-पल प्रयास होते थे. झेलना पड़ता था. 

यह भी पढ़ें : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के ‘हनुमान’ को अब तक नहीं बताई गई उनके निधन की खबर

Advertisement

पीएम मोदी राज्य बंटवारे पर भी अटल जी को किया याद 
उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और झारखंड का विभाजन कर अटल ने यह साबित किया कैसे बिना किसी कटुता के और व्यवस्थाओं में अफरा-तफरी के बिना सबको साथ लेकर निर्णय कैसे किया जाता है. पीएम मोदी ने कहा, ‘आज देश नतीजे देख रहा है कि तीनों राज्य अपने बलबूते पर राज्य का विकास निभा रहे हैं. अटलजी की दूरदर्शिता का परिणाम था कि तीनों राज्यों को हम पनपते देख रहे हैं.’ 

VIDEO : क्या अटल जी जैसी सियासत आज के नेता भूलने लगे हैं?

टिप्पणियां

बता दें कि भारतीय राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले बीजेपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में 16 अगस्त को निधन हो गया. वाजपेयी जी को गुर्दा (किडनी) की नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. मधुमेह पीड़ित 93 वर्षीय भाजपा नेता का एक ही गुर्दा काम करता था.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़ी खबरें यहां पढ़ें 
Atal Bihari Vajpayee: ‘पहरा कोई काम न आया, रसघट रीत चला, जीवन बीत चला’, पढ़ें अटल बिहारी वाजपेयी की बेहद सुंदर कविताएं
देश के इस स्टेशन पर पहली बार मिले दोनों, और भारतीय राजनीति में बन गये एक नाम ‘अटल-आडवाणी’
जब राजीव गांधी की इस बड़ी ‘पहल’ के कारण अटल बिहारी वाजपेयी को मिला था ‘जीवनदान’
अटल बिहारी वाजपेयी कैसे आये थे RSS में, जानें पूरा किस्सा
जब भरी संसद में अटल जी ने ललकारा था- मैं मौत से नहीं डरता, डरता हूं तो सिर्फ…
… जब कांग्रेस ने शेयर की पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की यह दुर्लभ तस्वीर
Atal Bihari Vajpayee Death: अटल बिहारी वाजपेयी ने जब नरेंद्र मोदी को ऐसे किया था प्यार, देखें VIDEO
जब पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की ‘मौत से ठन गई’!
अटल बिहारी वाजपेयी की 6 मशहूर कविताएं

Products You May Like

Articles You May Like

सपना चौधरी ने कार की बैक सीट पर पल्लू लेकर की मस्ती, ‘चलो इश्क लड़ाएं’ पर यूं किया डांस- Video हुआ वायरल
राफेल सौदे पर और तेज हुई सियासी लड़ाई
ये छोटे-छोटे वास्‍तु टिप्‍स आपके बड़े काम भी कर देंगे आसान, आजमाकर देखें…
ओडिशा में PM मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- तालचेर प्लांट अब हमारी सरकार की सफलता का प्रतीक बनेगा
सैमसंग गैलेक्सी जे6+ और गैलेक्सी जे4+ लॉन्च, जानें खूबियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *