Partial Solar Eclipse 2018: इस सूर्य ग्रहण पर सुनें ये भोजपुरी भजन और सूर्य मंत्र…

बॉलीवुड, मनोरंजन

नई दिल्ली: Partial Solar Eclipse 2018: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2018) 11 अगस्त को है और आंशिक सूर्य ग्रहण (Partial Solar Eclipse) को दुनिया के कई हिस्सों में देखा जाएगा लेकिन भारत में नहीं देखा जा सकेगा. आंशिक सूर्य ग्रहण भारत में 1:32 पर शुरू होगा और शाम पांच बजे खत्म होगा. साल के इस तीसरे सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2018) को  दक्षिण कोरिया, उत्तरी अमेरिका, उत्तर पश्चिमी एशिया,  चीन और मॉस्को समेत कई देशों में देखा जा सकेगा. ग्रहणों को लेकर हमेशा से कई तरह की बातें जुड़ी रहती हैं. लोग इन्हें अपशकुन से जोड़कर भी देखते हैं. भगवान सूर्य को प्रसन्न करने के लिए कई मंत्रों का भी जाप किया जाता है और भोजपुरी में भगवान सूर्य की महिमा कहते कई भजनों की रचना की गई है, और सूर्य के मंत्रों का जाप भी किया गया है.

Advertisement

सूर्य ग्रहण के मौके पर लोग अपनी आस्था के मुताबिक भगवान सूर्य को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं. कई लोग मंत्रों का जाप करते हैं तो कई लोग सूर्य चालीसा भी पढ़ते हैं. वैसे भी देखा गया है कि सूर्य ग्रहण के मौके पर कई भजनों और मंत्रों को लेकर गूगल पर सर्च एकदम से बढ़ जाती है. यही नहीं, लोग कई मंत्रों का जाप करते हैं. हालांकि ये सबकी अपनी आस्था की बात है. लेकिन इन मंत्रों और भजनों को लेकर क्रेज बढ़ ही जाता है.

भोजपुरी सिंगर स्मिता सिंह का भजन ‘सूर्य भगवान रौर कीर्ति महान’ खूब वायरल हो रहा है. इस सॉन्ग में स्मिता ने भगवान सूर्य की महिमा को बताया है. ये भजन कर्णप्रिय है, और भगवान सूर्य के भक्तों के लिए एकदम सही है. इसके लिरिक्स संजय तिवारी ने लिखे हैं. 

टिप्पणियां

भाई अंकुश राजा का सॉन्ग ‘जय हो सूरज भगवान’ में सिंगर ने भगवान सूर्य जैसी शक्ति की दरकार की है, ताकि वे देश के दुश्मनों से लड़ सके. इसमें भी भगवान सूर्य की महिमा को समझा जा सकता है. 

 …और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें…

Products You May Like

Articles You May Like

जन्मदिन 17 दिसंबरः देखें कैसा रहेगा अगला एक साल आपका
राशिफल 15 दिसंबरः शाम तक चंद्रमा और मंगल मिलकर आपकी राशि पर क्या असर डालेंगे देखें
सूर्य आए धनु राशि में, अगले 1 महीने शनि के साथ मिलकर इन 7 राशियों को दिलाएंगे धन लाभ
वीवो नेक्स ड्यूल डिस्प्ले vs मैजिक 2 vs मेट 20 प्रो: खूबियां और अंतर
व्यवस्था से अलग रहकर काम नहीं कर सकते नियामक: जेटली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *