हादसे में मृत कारोबारी के परिवार को 1.22 करोड़ रुपये का मुआवजा देने का आदेश

बड़ी ख़बर

नई दिल्ली: मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) ने 2014 में हरियाणा में सड़क दुर्घटना में मारे गए एक कारोबारी के परिजन को 1.22 करोड़ रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया है. 

एमएसीटी के पीठासीन अधिकारी अमित बंसल ने दुर्घटना के लिए जिम्मेदार वाहन के बीमाकर्ता इफको-टोक्यो जनरल इंश्यारेंस कंपनी लिमिटेड को मृतक के परिवार को 1,22,44,374 रुपये भुगतान करने का निर्देश दिया. इसमें 89,05,000 रुपये मुआवजा और 33,39,374 रुपये ब्याज है. 

न्यायाधिकरण ने दिल्ली निवासी राजेश जैन के परिवार को मुआवजा प्रदान करने का आदेश दिया. अपनी फैक्टरी से लौटते वक्त पांच जनवरी 2014 को जैन दुर्घटना का शिकार हो गए थे. जैन की पत्नी की शिकायत के मुताबिक हरियाणा के समलखा में एक ट्रक ने उनकी कार को पीछे से टक्कर मार दी. 

टिप्पणियां

VIDEO : नए मोटर विधेयक को मंजूरी

Advertisement

न्यायाधिकरण ने कहा कि दोनों पक्षों की बहस और रिकॉर्ड पर रखे गए सबूत के मद्देनजर साबित होता है कि लापरवाही से ट्रक चला रहे ड्राइवर के कारण दुर्घटना हुई. मृतक के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटे और उनके अभिभावक हैं. आरोपी ट्रक ड्राइवर के पास वैध ड्राइविंग लाइसेंस होने के तथ्य पर विचार करते हुए न्यायाधिकरण ने बीमा कंपनी को मुआवजा अदा करने का आदेश दिया.
(इनपुट भाषा से)

Products You May Like

Articles You May Like

मध्य प्रदेश: विधानसभा का सदस्य बनने के लिए छिंदवाड़ा जिले से ही उपचुनाव लड़ेंगे कमलनाथ
IND vs AUS, 2nd Test, Day 5: पांचवें दिन का खेल शुरू, नजरें विहारी और पंत पर टिकीं
10 साल बाद पाकिस्तान के लिए उड़ान भरेगा ब्रिटिश एयरवेज
BSNL के इस प्लान में अब 561.1 जीबी डेटा व अनलिमिटेड कॉल
‘सेना के पास LAC की कमी, सुरक्षा को खतरा’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *