रियल इस्टेट सेक्टर की ग्रोथ से बिल्डरों का बढ़ा हौसला

बिज़नेस

बिजनेस डेस्क, मुंबई

रेजिडेंशल प्रॉपर्टी मार्केट में मंदी के बावजूद भारत के कर्मशल ऑफ‌िस स्पेस में 2018 की पहली छमाही में मांग में पिक-अप देखा गया। यही वजह रही कि ऑफ‌िस स्पेस की खपत में लगभग 54% की वृद्धि हुई।

सीआईआई और संपत्ति परामर्श जेएलएल इंडिया की रियल इस्टेट माइलस्टोन नामक एक रिपोर्ट के मुताबिक-पहले छह महीनों में लगभग 8 मिलियन वर्ग फुट अतिरिक्त कार्यालय की जगह ली गई। इस अवधि के दौरान लीज पर लिए गए कुल कार्यालय मुंबई, बेंगलुरू और दिल्ली-एनसीआर समेत सात शीर्ष शहरों में 24 मिलियन वर्ग फीट है।

रिपोर्ट ने इस रोबस्ट ग्रोथ की वजह टेक्नॉलजी, वित्तीय सेवा कंपनियों व डेटा केंद्रों द्वारा होने वाली मजबूत मांग को जिम्मेदार ठहराया।

– मार्केट में लौटा कॉन्फिडेंस

देश के रियल इस्टेट सेक्टर के सभी सेगमेंट में हौसला बढ़ाने वाली ग्रोथ दिख रही है और मार्केट में कॉन्फिडेंस लौट रहा है। कंपनियां और इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स की ओर से ऑफिस स्पेस में इन्वेस्टमेंट और लीजिंग बढ़ी है। रेजिडेंशियल और रिटेल मार्केट में भी सेल्स और इन्वेस्टमेंट में बढ़ोतरी हुई है।

————————————-

– ‘2018 की पहली छमाही में रियल इस्टेट सेक्टर में बड़ा बदलाव हुआ है। सेक्टर के सभी सेगमेंट- रेजिडेंशियल, रिटेल, ऑफिस और इन्वेस्टमेंट की डिमांड में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। इससे मजबूत फंडामेंटल के साथ सेक्टर में रिवाइवल का संकेत मिल रहा है।’

– रमेश नायर, सीईओ और कंट्री हेड, JLL इंडिया

——————————————

कॉरर्पोरेट लीजिंग 54 पर्सेंट बढ़ी

2018 की पहली छमाही में पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में कॉरर्पोरेट लीजिंग एक्टिविटी 54 पर्सेंट बढ़ी है। बेंगलुरु की रियल्टी कंपनी RMZ के मैनेजिंग डायरेक्टर, थिरुमल गोविंदराज ने बताया, ‘BFSI और IT सेक्टर से अच्छी डिमांड मिल रही है।’

– रेरा ने बढ़ाई डिमांड

2018 की पहली छमाही में रेजिडेंशियल सेक्टर में भी सेल्स में अच्छी तेजी आई है। यह वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 25 पर्सेंट बढ़ी है। इसके पीछे दो बड़े कारण हैं। रेरा के लागू होने से बायर्स का मार्केट पर विश्वास लौट रहा है और कैपिटल वैल्यू में तेजी आनी शुरू हो गई है।

– इन्वेस्टर्स की डिमांड

इन्वेस्टर्स की मार्केट में दिलचस्पी बढ़ने से भी देश के रियल इस्टेट मार्केट में तेजी लौटी है। रियल एस्टेट कंपनी प्रेस्टीज ग्रुप के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर (रिटेल, हॉस्पिटैलिटी व बिजनेस डिवेलपमेंट), सुरेश सिंगारावेलु ने बताया, ‘हमारे सभी मॉल्स में डॉमेस्टिक और इंटरनेशनल ब्रैंड्स की ओर से लीजिंग के लिए मजबूत डिमांड मिल रही है।’ कंपनी विभिन्न शहरों में लगभग 30 लाख स्क्वेयर फीट कमर्शियल स्पेस डिवेलप कर रही है।

——————————————–

‘रेरा का मकसद प्रोजेक्ट्स को समय पर पूरा करने को सुनिश्चित करना है। हमें रेजिडेंशियल प्रॉपर्टीज के लिए सभी प्राइस प्वाइंट्स पर अच्छी डिमांड दिख रही है।’

– निरंजन हीरानंदानी,चेयरमैन, हीरानंदानी ग्रुप

—————————————————————–

Products You May Like

Articles You May Like

स्वतंत्रता दिवस के दिन इस देशभक्त का भी जन्मदिन, ऐसे लड़ी आजादी की जंग
Independence Day 2018 Live Updates: राजघाट पहुंच पीएम मोदी ने बापू को दी श्रद्धांजलि, कुछ देर में लाल किले की प्राचीर से देश को करेंगे संबोधित
डॉलर के मुकाबले रुपये के 70 तक गिरने से एक्सपोर्ट्स को यूं फायदा
मेष: धन लाभ का योग है
गोल्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *