यूपी : इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल ने कहा, आरक्षण मांगोगे तो जमीन पर बिठाएंगे…

बड़ी ख़बर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में हाथरस के एक इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल ने अपने कॉलेज के व्‍हाट्सऐप ग्रुप में लिख दिया है कि अगर अनुसूचित जाति के लोग गैर बराबरी के नाम पर आरक्षण मांगेंगे तो फिर हम उनके साथ छुआछूत भी करेंगे और उन्‍हें जमीन पर बिठाएंगे. इसके खिलाफ स्‍कूल में प्रदर्शन हुआ. प्रशासन ने कहा है कि प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई होगी.

बागपत के अकरूर इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल एसके शर्मा ने कॉलेज के शिक्षकों का एक व्‍हाट्सऐप ग्रुप बना रखा है, जिसमें वो कॉलेज से जुड़े मुद्दों पर पोस्‍ट डालते हैं. इस बार उन्‍होंने आरक्षण पर अपने विचार डाल दिए. उन्‍होंने लिखा कि अगर आरक्षण होगा तो फिर एससी/एसटी वालों से छुआछूत भी होना चाहिए. और पुराने रिवाज की तरह उन्‍हें नीचे भी बिठाएंगे. एससी/एसटी वालों को शर्म नहीं आती कि क्‍या सुप्रीम कोर्ट का फैसला गलत है?’

प्रिंसिपल एससी शर्मा के इस व्‍हाट्सऐप ग्रुप में कॉलेज के दलित शिक्षक भी हैं. एक दलित शिक्षक रामतेज कहते हैं कि, ‘प्रिंसिपल की इस पोस्‍ट से सिर्फ दलित ही नहीं बल्कि हर इंसाफपसंद शख्‍स को चोट पहुंची है. आज के समय दलितों को जमीन पर बिठाने की बात कोई कैसे कह सकता है.’

Advertisement

टिप्पणियां


दलित अधिकार कार्यकर्ता और पूर्व आईपीएस एचआर दारापुरी ने NDTV से कहा कि, ‘ये दलितों के लिए प्रिंसिपल साहब की दुर्भावाना है. आरक्षण के खिलाफ होना कोई नई बात नहीं. देश में तमाम लोग आरक्षण के खिलाफ हैं. लेकिन आरक्षण देने के बदले उनसे छुआछूत मानने और हमें जमीन पर बिठाने की बात भी नहीं करते. व्‍हाट्सऐप पर सार्वजनिक रूप से ऐसा लिखने से पता चलता है कि दलितों के लिए वो कितनी नफरत से भरे हैं.’

इसे लेकर अकरूर इंटर कॉलेज के छात्रों ने प्रदर्शन किया और प्रिंसिपल का पुतला फूंका. प्रिंसिपल का पुतला फूंका. प्रिंसिपल एसके शर्मा की इस टिप्‍पणी पर हंगामे के बाद वो छुट्टी पर चले गए. बागपत के एसडीएम अरुण कुमार ने कहा कि प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Products You May Like

Articles You May Like

प्रयागराज: 14 लोगों से भरी नाव पलटी, 3 की मौत
Xiaomi Redmi Note 6 Pro खरीदना हुआ आसान, ओपन सेल बुधवार से
IGNOU OPENMAT 2018 का रिजल्‍ट जारी
छत्तीसगढ़ में चुने गए 27 फीसदी विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज 
ऐक्वामैन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *