मध्‍यप्रदेश: मूक बधिर आदिवासी युवती से रेप करने वाला छात्रावास संचालक गिरफ्तार

ताज़ातरीन

भोपाल : मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक मूक बधिर आदिवासी युवती की शिकायत पर पुलिस ने एक छात्रावास संचालक को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ की बैठक के बाद बड़ा बयान दिया है.

कठुआ मामला : गवाह तालिब हुसैन की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार को नोटिस भेजा

शिवराज सिंह चौहान ने कहा ऐसी घटना से मन व्यथित है और आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिले इसके मैंने निर्देश दे दिये हैं. ऐसे छात्रावासों की नियमित मॉनिटरिंग के लिए भी निर्देश दिए गए हैं. लड़कियों के होस्टलों के हर महीने निरीक्षण होगा.
हम यह सोचकर अनुदान देते हैं कि संस्था अच्छे से चल रही है पर कौन वहशी कहां बैठा पता नहीं लगता. अब केवल संस्था के भरोसे इन्हें नहीं चलने देंगे.  अनाथालय, निजी हॉस्टल के लिए भी नियम बनेंगे. इस घटना में अपराधी को कड़ी सजा मिले उसकी कार्रवाई कर रहे हैं. धार जिले की रहने वाली एक युवती की शिकायत पर पुलिस ने भोपाल के छात्रावास संचालक अश्विनी शर्मा को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया है.

मुजफ्फरपुर रेप केस : इस कांग्रेस सांसद ने कहा- पीड़ितों और गवाहों को बिहार से बाहर शिफ्ट करो

Advertisement

टिप्पणियां


वहीं इस घटना को लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस के मुखिया कमलनाथ ने ट्वीट पर राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा है, पहले ही दुष्कर्म में देश में अव्वल, प्रदेश में अब बालिका गृह भी सुरक्षित नहीं. बिहार के मुजफ्फरपुर व UP के देवरिया की तरह MP में भी हुई घटना से प्रदेश हुआ शर्मसार, प्रदेश के सारे छात्रावासों की तुरंत जांच करवाए. बालिकाओं को सुरक्षा दे सरकार घटना से बेखबर मुखिया मामा नृत्य में मस्त.

VIDEO: देवरिया शेल्टर होम मामले पर बोले गृहमंत्री, कोई दोषी बख्शा नहीं जाएगा

 

Products You May Like

Articles You May Like

Kumbh Mela 2019: देखिए कुंभ अबतक की बेहद शानदार तस्वीरें
इस गलती की कीमत आज भी चुका रहे हैं ब्रह्मा जी, करते हैं पत्नी से अलग निवास
विपक्षी एकता- हकीकत या फसाना: ममता के मंच पर एकजुटता तो दिखी, मगर लोकसभा में कांग्रेस ‘किस-किस’ से लड़ेगी?
सन फार्मा ने फॉर्मूलेशन के घरेलू वितरक, अनुषंगियों के लिए ऑडिटर बदला
सुप्रीम कोर्ट में केरल सरकार का देवासम बोर्ड को खत्म करने से इनकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *