एचडीएफसी बैंक के डेप्युटी एमडी परेशा सुकथांकर ने पद छोड़ा

बिज़नेस

नई दिल्ली

निजी सेक्टर के दिग्गज बैंक एचडीएफसी के डेप्युटी मैनेजिंग डायरेक्टर परेश सुकथांकर ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। सुकथांकर का पद छोड़ना इंडस्ट्री में चौंकाने वाला कदम माना जा रहा है। इसकी वजह यह है कि उन्हें आदित्य पुरी के उत्तराधिकारी के तौर पर देखा जा रहा था, जो अक्टूबर 2020 में रिटायर होंगे। 51 वर्षीय सुकथांकर एचडीएफसी बैंक के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर भी रह चुके हैं। मार्च 2017 में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की मीटिंग में उन्हें डेप्युटी एमडी के तौर पर जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

सुकथांकर 1994 में एचडीएफसी बैंक से जुड़े थे और उसे देश के दिग्गज वित्तीय संस्थान के तौर पर स्थापित करने में अहम भूमिका निभाने वाले लोगों में से रहे हैं। फिलहाल उनके पास बैंक के क्रेडिट ऐंड रिस्क मैनेजमेंट, फाइनैंस और ह्यूमन रिसोर्स फंक्शन की जिम्मेदारी थी। एचडीएफसी बैंक से जुड़ने से पहले सुकथांकर ने सिटी बैंक के साथ भी करीब 9 सालों तक काम किया था।

यही नहीं भारतीय रिजर्व बैंक और इंडियन बैंक्स असोसिएशन की ओर से गठित कई अहम समितियों के भी वह सदस्य रहे हैं। उन्होंने जमनालाल बजाज इंस्टिट्यूट से मैनेजमेंट में मास्टर्स की डिग्री ली थी। इसके अलावा हार्वर्ड बिजनस स्कूल से उन्होंने अडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम भी किया था।

Products You May Like

Articles You May Like

भारत का कोयला आयात 2018 में 16.4 करोड़ टन रहने का अनुमान: रिपोर्ट
क्या सच में देश में ‘2014 जैसी मोदी लहर’ नहीं? ‘राम मंदिर’ पर क्या है NDA के सहयोगी दलों की राय, 10 बातें
GRE और TOEFL टेस्‍ट कैसे करें क्रैक
माता के इस मंदिर में नवरात्र के दौरान महिलाओं का प्रवेश रहता है वर्जित, वजह केवल एक
कांग्रेस ने गरीबी नहीं, गरीब को हटाया: जावड़ेकर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *