Xiaomi Mi A2 का रिव्यू

गैजेट्स 360

गूगल का एंड्रॉयड वन प्रोग्राम उभरते मार्केट के लिया लाया गया था, ताकि यूज़र को किफायती दाम में स्टॉक एंड्रॉयड का अनुभव मिले। हालांकि, शुरुआत में Karbonn, Micromax और Spice के बाद कोई और कंपनी इस प्रोग्राम से नहीं जुड़ी। Google ने 2017 में एक बार फिर एंड्रॉयड वन प्रोग्राम को ज़िंदा करने की कोशिश की। फिर बीते साल भारत में Xiaomi Mi A1 (रिव्यू) लाया गया।

इसके बाद से कई कंपनियां गूगल के एंड्रॉयड वन प्रोग्राम का हिस्सा बनी हैं। लेकिन इनमें से कुछ ने ही भारतीय मार्केट में अपने प्रोडक्ट उतारे। नोकिया ब्रांड के स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी एचएमडी ग्लोबल ने ऐलान किया था कि उसके सभी एंड्रॉयड स्मार्टफोन एंड्रॉयड वन प्रोग्राम का हिस्सा होंगे। मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस 2018 में लॉन्च किए गए Nokia ब्रांड के सभी फोन भारतीय मार्केट में लाए जा चुके हैं। अब Xiaomi ने अपने पहले एंड्रॉयड वन स्मार्टफोन शाओमी मी ए1 के अपग्रेड Mi A2 को पेश किया है। यह स्टॉक एंड्रॉयड के अलावा बेहतर हार्डवेयर के साथ आता है। शुद्ध एंड्रॉयड अनुभव की चाहत रखने वालों को Xiaomi Mi A2 ही खरीदना चाहिए? हमने इसी सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश की है।

 

Xiaomi Mi A2 डिज़ाइन

शाओमी मी ए2 बेहतरीन डिज़ाइन वाला स्मार्टफोन है। यह मेटल यूनीबॉडी के साथ आता है और हाथों में प्रीमियम होने का एहसास देता है। शाओमी मी ए1 की तुलना में पहला बड़ा बदलाव डिस्प्ले में देखने को मिलता है। हैंडसेट में 5.99 इंच का 18:9 आस्पेक्ट रेशियो वाला डिस्प्ले है। इस वजह से फोन लंबा और पतला नज़र आता है। किनारे घुमावदार हैं और इस कारण से हाथों में अच्छी ग्रिप रहती है। रिव्यू के लिया दिया गया ब्लैक वेरिएंट मैट फिनिश के साथ आता है। इस पर फिंगरप्रिंट आसानी से नहीं पड़ते। लेकिन फोन हाथों में आसानी से फिसलता है और हम अपने पाठकों को रिटेल बॉक्स में दिए गए कवर को इस्तेमाल करने का सुझाव देंगे।

पावर और वॉल्यूम बटन दायीं तरफ हैं। इनका रिस्पॉन्स बढ़िया है। हमने पाया कि पावर बटन की पोज़ीशन अच्छी है, लेकिन वॉल्यूम बटन हमारी पसंद से थोड़े ऊपर हैं। Xiaomi ने सेल्फी कैमरे, ईयरपीस, सेल्फी लाइट और नोटिफिकेशन लाइट को डिस्प्ले के ऊपर जगह दी है। डिस्प्ले के नीचे वाला हिस्सा खाली है। स्मार्टफोन में एक रंग वाला नोटिफिकेशन एलईडी दिया गया है।

निचले हिस्से पर यूएसबी टाइप-सी पोर्ट है। इसके दोनों तरफ स्पीकर ग्रिल हैं, लेकिन सिर्फ दायें वाले में लाउडस्पीकर है। आईआर एमीटर भी फोन में मौजूद है जिसकी मदद से फोन का इस्तेमाल रीमोट कंट्रोल के तौर पर किया जा सकता है। इसे टॉप पर सेकेंडरी माइक्रोफोन के साथ जगह मिली है। फोन में 3.5 एमएम हेडफोन जैक नहीं है। इसकी जगह बॉक्स में यूएसबी टाइप-सी डॉन्गल दिया गया है। Xiaomi का दावा है कि उसने बेहतर क्वालिटी वाला एप्लीफायर इस्तेमाल किया है, ताकि स्पीकर और हेडफोन से अच्छी आवाज़ आए।
 

Xiaomi

Xiaomi ने पिछले हिस्से पर डुअल कैमरा सेटअप दिया है, वर्टिकल पोज़ीशन में। पिछले हिस्से पर 12 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 20 मेगापिक्सल का सेकेंडरी लेंस और एलईडी फ्लैश है। कैमरा उभार वाला है। इस वजह से फोन समतल सतह पर उठा हुआ रहता है। फिंगरप्रिंट सेंसर को कैमरा मॉड्यूल के बगल में जगह मिली है। Xiaomi ने मी ए2 में 3000 एमएएच की बैटरी दी है।
 

Xiaomi Mi A2 स्पेसिफिकेशन, सॉफ्टवेयर और फीचर

चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ने Mi A2 में क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 660 प्रोसेसर का इस्तेमाल किया है। इसके साथ एड्रेनो 512 जीपीयू इंटीग्रेटेड है। Xiaomi Mi A2 में 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज दी गई है। अफसोस कि माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट नहीं है, यानी आपको फोन की स्टोरेज से ही समझौता करना पड़ेगा। इस डुअल सिम स्मार्टफोन में दो नैनो सिम स्लॉट के लिए जगह है। दोनों ही सिम पर 4जी और वीओएलटीई के लिए सपोर्ट है।

5.99 इंच का डिस्प्ले फुल-एचडी+ रिजॉल्यूशन वाला है। इसकी पिक्सल डेनसिटी 403 पिक्सल प्रति इंच है। प्रोटेक्शन के लिए कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 का इस्तेमाल हुआ है। व्यूइंग एंगल ठीक ठाक हैं, लेकिन डिस्प्ले बहुत ज़्यादा ब्राइट नहीं होता। आप आउटपुट को भी नियंत्रित नहीं कर पाएंगे। एंबियंट डिस्प्ले फीचर नोटिफिकेशन आने पर फोन को एक्टिव कर देता है।

फोन की बैटरी क्षमता 3000 एमएएच है जो इस प्राइस सेगमेंट के बाकी फोन में मिलने वाली बैटरी की तुलना में छोटी है। उदाहरण के तौर पर, Xiaomi Redmi Note 5 (रिव्यू) 4000 एमएएच की बड़ी बैटरी के साथ आता है। शाओमी मी ए2 में क्वालकॉम के क्विक चार्ज 4+ का सपोर्ट है। लेकिन आपको रिटेल बॉक्स में 10 वॉट का स्टैंडर्ड चार्जर ही मिलेगा। शाओमी मी ए2 के कनेक्टिविटी फीचर में ब्लूटूथ 5.0, डुअल-बैंड वाई-फाई 802.11एसी, जीपीएस, ए-जीपीएस, ग्लोनास और बाइडू शामिल हैं।
 

Xiaomi

Xiaomi ने Mi A2 के कैमरे पर ध्यान केंद्रित रखा है। पिछले हिस्से पर एफ/1.75 अपर्चर वाला 12 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा है। सेकेंडरी कैमरा 20 मेगापिक्सल का है और इसका भी अपर्चर एफ/1.75 ही है। याद रहे कि Mi A1 में सेकेंडरी कैमरे में 2X ऑप्टिकल ज़ूम के लिए ज़ूम लेंस था। लेकिन शाओमी मी ए2 कम रोशनी में अच्छी परफॉर्मेंस देगा।

Xiaomi Mi A2 स्टॉक एंड्रॉयड 8.1 ओरियो पर चलता है। कंपनी ने इसमें अपना फीडबैक, फाइल मैनेजर और मी ड्रॉप ऐप ज़रूर दिया है। फीडबैक ऐप को डिसेबल या अनइंस्टॉल नहीं किया जा सकता, लेकिन बाकी दो ऐप को हैंडसेट से हटाया जा सकता है। कैमरा ऐप को भी शाओमी द्वारा कस्टमाइज़ किया गया है। यह डिफॉल्ट एंड्रॉयड ऐप से अलग है। इस फोन में गूगल के ऐप्स पहले से इंस्टॉल हैं। हमने जब फोन को रिव्यू करना शुरू किया तब यह जून के सिक्योरिटी पैच से लैस था। लेकिन रिव्यू के दौरान इसे अपडेट मिला जिसके बाद फोन अगस्त के सिक्योरिटी पैच से लैस हो गया।

अगर आपको शुद्ध एंड्रॉयड चाहिए तो मी ए2 का सॉफ्टवेयर अनुभव पसंद आएगा। इसमें एक ऐप ड्रॉअर है। आप स्वाइप अप करके सभी इंस्टॉल किए गए ऐप को देख सकते हैं। आप होम स्क्रीन पर दायीं तरफ स्वाइप करके गूगल फीड पा सकते हैं। होम बटन को लंबे वक्त तक दबाकर गूगल असिस्टेंट एक्टिव किया जा सकता है। हमने पाया कि फोन में आईआर एमीटर को इस्तेमाल करने के लिए कोई ऐप मौज़ूद नहीं है। इसका मतलब है कि हैंडसेट को आउट ऑफ बॉक्स रीमोट कंट्रोल के तौर पर नहीं इस्तेमाल किया जा सकता। आप चाहें तो प्ले स्टोर से मी रीमोट ऐप डाउनलोड कर ऐसा कर सकते हैं। शाओमी ने गजेट्स 360 को बताया कि वह अपडेट लाएगी जिसके बाद मी रीमोट ऐप पहले से इस फोन में इंस्टॉल रहेगा। Mi A2 में पावर बटन को दो बार दबाने पर कैमरा ऐप को एक्टिव किया जा सकता है।
 

Xiaomi Mi A2 परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ

हमने Nokia 7 Plus को इस्तेमाल किया है और यह Xiaomi Mi A2 वाले ही प्रोसेसर के साथ आता है। नोकिया का फोन भी स्टॉक एंड्रॉयड पर चलता है। Xiaomi Mi A2 की भी परफॉर्मेंस कुछ ऐसी ही है। हमें मल्टीटास्किंग या फोन के यूआई इस्तेमाल करने के दौरान कोई दिक्कत नहीं हुई। 4 जीबी रैम आम इस्तेमाल के लिए काफी साबित होगा। फिंगरप्रिंट सेंसर फास्ट है और तेज़ी से फोन को अनलॉक करता है।

हमने फोन पर पीयूबीजी, क्लैश रॉयल और ऐसफॉल्ट 9 जैसे गेम खेले। PUBG डिफॉल्ट में मीडियम सेटिंग्स में चला। हमें परफॉर्मेंस से कोई शिकायत नहीं हुई। हमने इस गेम को करीब 25 मिनट तक खेला। इस दौरान पाया कि फोन गर्म जरूर हुआ, लेकिन बहुत ज़्यादा नहीं। ऐसफॉल्ट 9 बिना किसी लैग या परेशानी के चला।
 

Xiaomi

हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में शाओमी के इस फोन की बैटरी ने 8 घंटे 13 मिनट तक साथ दिया जो औसत से कम है। हमारे रिव्यू में Xiaomi Redmi Note 5 Pro (रिव्यू) और Redmi Note 5 ने 16 घंटे तक साथ दिया था, हालांकि ये बड़ी बैटरी के साथ आते हैं। एक्टिव व्हाट्सऐप और जीमेल अकाउंट, करीब घंटे भर की गेमिंग, कुछ वक्त इंस्टाग्राम पर और कुछ फोन कॉल करने पर बैटरी सेवर मोड करीब 7 घंटे 30 मिनट बाद ही एक्टिव हो गया। अगर आपका यूज़र बिहेवियर भी कुछ ऐसा ही है तो साथ में चार्जर रखना ना भूलें। रिटेल बॉक्स के साथ दिए गए चार्जर को हैंडसेट को पूरी तरह से चार्ज करने में करीब 2 घंटे लगते हैं। ऐसे में हम आपको क्वालकॉम क्विक चार्ज सपोर्ट के साथ आने वाले चार्जर को इस्तेमाल करने का सुझाव देंगे।
 

Xiaomi Mi A2 कैमरे

शाओमी ने इस फोन के कैमरा ऐप पर काम किया है और यह स्टॉक एंड्रॉयड कैमरा ऐप से अलग है। आपको शॉट वीडियो, पोर्ट्रेट, स्क्वैर, पनोरमा और एक मैनुअल मोड मिलेगा। मैनुअल मोड में यूज़र व्हाइट बैलेंस, फोकस, शटर स्पीड और आईएसओ को नियंत्रित कर पाएंगे। इस दौरान यूज़र रेगुलर और लो लाइट लेंस के बीच भी चुन सकते हैं। Xiaomi का दावा है कि उसने पोर्ट्रेट मोड में कुछ ऐसे बदलाव किए हैं कि पर्याप्त रोशनी में यह 12 मेगापिक्स के कैमरे को इस्तेमाल करता है और कम रोशनी होने पर 20 मेगापिक्सल वाला सेकेंडरी कैमरा एक्टिव हो जाता है। लेकिन हमने पाया कि ऐसा नहीं होता। जब एक लेंस इस्तेमाल में होता है तो दूसरा डेप्थ सेंसर का काम करता है।

Mi A2 बेहद ही तेज़ी से लाइट की पहचान करके फोकस लॉक करता है। आउटडोर में Mi A2 से ली गई तस्वीरें काफी डिटेल के साथ आती हैं और कलर्स भी सटीक रहते हैं। ज़ूम इन करने पर भी आप तस्वीर में डिटेल देख पाएंगे और नॉयज़ भी ज़्यादा नहीं रहती। हमने यह भी पाया कि कैमरा ऐप ज़रूरत होने पर अपने आप एचडीआर मोड में स्विच कर लेता है। मैक्रोज़ शॉट लेते वक्त ऑटोफोकस तेज़ रहता है। हमने पाया कि मी ए2 बेहद ही छोटे ऑब्जेक्ट पर भी फोकस करने में सक्षम है। मैक्रोज़ शॉट शार्प आए। फोन ने सब्जेक्ट और बैकग्रांउड के बीच स्पष्ट अंतर दिखाया।

कम रोशनी में Mi A2 आईएसओ बढ़ा देता है और शटर स्पीड कम कर देता है, ताकि सेकेंडरी कैमरा को इस्तेमाल में लाने के बजाय प्राइमरी कैमरा ज़्यादा लाइट कैपचर करे। हमारा मानना है कि Xiaomi को कम रोशनी में बेहतर फोटोग्राफी के लिए दिए गए सेकेंडरी को अपने आप इस्तेमाल में लाना चाहिए था। लेकिन आप चाहें तो मैनुअल मोड में जाकर ऐसा कर सकते हैं। इन फोटो में भी डिटेल के साथ तस्वीरें आईं, लेकिन हमने पाया कि डार्क एरिया में एग्रेसिव नॉयज रिडक्शन किया गया है जिससे ज़ूम इन करने पर वाटरकलर इफेक्ट आ जाता है।

Xiaomi Mi A2 के कैमरा सेंपल देखने के लिए इमेज पर टैप करें

सेल्फी भी डिटेल के साथ आते हैं। इंडोर में तस्वीरें शार्प आईं। कम रोशनी वाली परिस्थितियों में सेल्फी फिल लाइट बेहद ही कारगर साबित होता है। एचडीआर सेल्फी कैमरे के लिए भी उपलब्ध है और ज़रूरत पड़ने पर यह अपने आप एक्टिव हो जाता है। आप अपने हिसाब से ब्यूटीफिकेशन का स्तर तय कर सकते हैं।

Xiaomi Mi A2 में आप प्राइमरी कैमरे से 4K वीडियो रिकॉर्ड कर पाएंगे और सेल्फी कैमरे से 1080 पिक्सल तक के। आपके पास प्राइमरी कैमरे से 60 फ्रेम प्रति सेकेंड की दर से 1080 पिक्सल रिजॉल्यूशन के वीडियो शूट करने की सुविधा होगी। लेकिन हमने पाया कि कैमरे को ज़्यादा फ्रेम रेट में फोकस लॉक करने में दिक्कत हो रही थी। रियर कैमरे के लिए वीडियो स्टेबलाइज़ेशन उपलब्ध है।

हमारा फैसला
बजट रेंज में स्टॉक एंड्रॉयड अनुभव के लिए Xiaomi Mi A1 (रिव्यू) हमेशा पहली पसंद रहा। हालांकि, स्थिति बदल चुकी है। खासकर एचएमडी ग्लोबल द्वारा नोकिया एंड्रॉयड वन फोन्स लाए जाने के बाद। ऐसे में Xiaomi को कीमत का खास ख्याल रखना होगा और कंपनी ने नए लॉन्च के साथ कुछ ऐसा ही किया है।

Xiaomi Mi A2 के कैमरे शानदार हैं। देखा जाए तो यह इस प्राइस रेंज के बेहतरीन कैमरा फोन में से एक है। इसके अलावा पावरफुल स्नैपड्रैगन 660 प्रोसेसर अब तक ज़्यादा महंगे फोन का हिस्सा रहा है। ऐसे में बजट दाम में दमदार परफॉर्मेंस की चाहत रखने वाले ग्राहकों को यह फोन ज़रूर लुभाएगा।

Xiaomi Mi A2 की कीमत 16,999 रुपये है। हार्डवेयर को देखते हुए यह बेहद ही आक्रामक दाम है। हालांकि, शाओमी मी ए2 में कुछ कमियां भी हैं। बैटरी क्षमता औसत से कम है। इस वजह से कमज़ोर बैटरी लाइफ मिलती है। Xiaomi ने 3.5 एमएम हेडफोन जैक की छुट्टी कर दी है और माइक्रोएसडी कार्ड के लिए भी कोई स्लॉट नहीं है। खरीदार इन दोनों पहलुओं पर खासा गौर करते हैं। अगर आपको स्टॉक एंड्रॉयड चाहिए और कैमरे भी दमदार होने की ख्वाहिश है तो Mi A2 आपके लिए ही बना है। अगर आपको मीयूआई से कोई दिक्कत नहीं है तो Xiaomi Redmi Note 5 Pro (रिव्यू) अब भी बेहतर विकल्प है और इसकी कीमत भी कम है। हम आपको Honor Play पर नज़र बनाए रखने का सुझाव देंगे।

Products You May Like

Articles You May Like

जेनफोन मैक्स एम1 प्रो vs रेडमी नोट 5 प्रो: जानें फर्क
Huawei Nova 3i vs ओप्पो एफ9
Aate Di Chidi: सज-धज कर तैयार हुईं नीरू बाजवा, बोलीं- पैसे खर्च कर अपने शौक पूरे करूंगी…
फोटो: कोलकाता में नवरात्र की धूम, मां दुर्गा की भक्ति में सराबोर है शहर
वित्त मंत्रालय ने सितंबर की जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *