जनगणना: साल 1921 अहम क्यों, जानें खास बातें

शिक्षा

दुनिया के किस देश से या कब जनगणना की शुरुआत हुई यह कहना मुश्किल है लेकिन इतिहासकारों का मानना है कि जनगणना प्राचीन काल में भी होती रही है। दुनिया में सबसे पहले रोम में जनगणना का प्रमाण मिलता है। भारत में अगर जनगणना की बात की जाए तो कौटिल्य के ग्रंथों में इसका उल्लेख मिलता है। वैसे नियमित रूप से जनगणना का काम अंग्रेजों के दौर में शुरू हुआ।

पहली जनगणना 1872 में की गई थी उस समय भारत के वायसराय लॉर्ड मेयो थे।

जनगणना का नियमित काम 1881 में शुरू हुआ। उस समय भारत के वायसराय लॉर्ड रिपेन थे।

1872 से अब तक कुल 15 बार और आजाद भारत में 7 बार जनगणना हो चुकी है।

आखिरी बार 2011 में जनगणना हुई थी और अगली जनगणना 2021 में होगी।

जनगणना हर 10 सालों में होती है।

Products You May Like

Articles You May Like

SP-BSP गठबंधन पर नितिन गडकरी का निशाना: BJP मजबूत नहीं तो बुआ के पास भतीजा क्यों गया
सीता हरण से दुखी होकर यह देवी लंका से आईं कश्मीर, खीर से होती हैं प्रसन्न
शादी के बाद पैदा हुए परस्पर विश्वास और प्रेम की कहानी का लेखा जोखा है ‘सिडक्शन ऑफ ट्रूथ’
जानें, रेलवे की जॉब के लिए हैं क्या योग्यताएं
ममता बनर्जी की रैली के बाद कांग्रेस बैकफुट पर? पीएल पुनिया ने भी कहा- पीएम पद पर फैसला चुनाव के बाद होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *