भविष्यवाणीः पाकिस्तान में अबकी बार किसकी सरकार?

राशि


सचिन मल्होत्रा,ज्योतिषशास्त्री 

25 जुलाई को पाकिस्तान में नैशनल असेंबली और पांच प्रांतों के चुनाव एक साथ होने जा रहे हैं। सैन्य तख्तापलट के इतिहास से कलंकित पाकिस्तान के लिए यह चुनाव ऐतिहासिक होनेवाला है, जहां 70 सालों में यह दूसरा अवसर होगा जब एक निर्वाचित सरकार चुनावों के बाद असैन्य सरकार को सत्ता सौंपेगी। साल 2013 में आसिफ अली जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को हराकर नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग (N) जिसे वहां नून-लीग भी कहा जाता है, वह सत्ता में आयी थी। नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री रहते हुए मई 2014 में भारत के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्योते पर भारत यात्रा की थी और दोनों देशों के संबंधो में सुधार की कोशिश की जो उनपर अपने देश में भारी पड़ी। पाकिस्तान की सेना और खुफिया एजेंसियो ने न केवल नवाज सरकार को कमजोर किया बल्कि उनके विरुद्ध इमरान खान को बड़े जनांदोलनों के लिए भी उकसाया।

1/3नवाज शरीफ के सितारे क्या कहते हैं

25 दिसंबर 1949 को लाहौर में मेष लग्न और कुंभ राशि में जन्मे नवाज शरीफ इस समय शुक्र में राहु की परिवर्तनकारी विंशोत्तरी दशा में चल रहे हैं। मारकेश शुक्र की दशा में गंभीर रूप से बीमार चल रही उनकी पत्नी के बचने की संभावना कम है तो वही हानि के भाव में बैठे राहु ने उनकी सत्ता छीन उन्हें अपनी बेटी के साथ घोटालों के केस में सजा देकर जेल की सलाखों के पीछे धकेल दिया है।

उनकी पार्टी का चुनाव चिह्न शेर है जो कि अब सेना और इमरान खान की जुगलबंदी के सामने मिमियाता हुआ दिख रहा हैं। हानि के 12वें  घर में बैठे राहु की अन्तर्दशा में उनकी पार्टी को पाकिस्तान के नैशनल असेंबली के चुनावों में शिकस्त मिलनी तय लग रही है। राहु चूंकि 12वें घर में होकर विदेश निर्वासन का भी संकेत दे रहा है तो यह संभावना भी प्रबल है कि हार के बाद वह अपनी सजा माफ कराकर विदेश निर्वासित हो जाएं जैसा कि वह और अन्य पूर्वप्रधानमंत्री पहले भी कर चुके हैं।

2/3बिलावल भुट्टो को मिल सकता है यह स्थान

दिवंगत प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे और जुल्फीकार अली भुट्टो के नाती बिलावल भुट्टो का जन्म 21 सितंबर 1988 को सुबह 09 बज कर 30 मिनट पर कराची शहर में हुआ था। तुला लग्न में जन्मे बिलावल इस समय पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के नेता हैं और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हैं। तुला लग्न और मकर राशि में जन्मे बिलावल भुट्टो अपनी ‘साढ़ेसती’ में चल रहे हैं। उनकी कुंडली में पंचम भाव में बैठे राहु की महादशा में लग्न में बैठे बुध की अन्तर्दशा चल रही हैं जो कि उनको पद-प्राप्ति का आश्वासन दे रही है।

किंतु उनकी कुंडली में वाणी स्थान का स्वामी मंगल छठे घर में कमजोर होकर उनको एक असहज वक्ता बनाता है। बिलावल की कुंडली में चंद्रमा भी पाप-कर्तरी योग में कमजोर स्थिति में है, जिससे इस बात के संकेत मिलते हैं कि उनकी पार्टी का चुनाव चिह्न तीर इस बार अपने निशाने से चूक सकता है। किंतु इन सबके बावजूद बिलावल के पाकिस्तान असेंबली में विपक्ष के नेता बनने की अच्छी संभावना बन रही हैं।

3/3इमरान खान दिखा सकते हैं यह कमाल

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को कप्तान के रूप में 1992 के विश्व-कप में विजय दिलाने वाले इमरान खान ‘बैट’ के चुनाव चिन्ह पर अपनी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के साथ एक बार फिर चुनावी मैदान में जोर-शोर से उतर चुके हैं। साल 2013 के चुनावों में उनकी पार्टी सीटों की संख्या के मामले में तीसरे नंबर पर थी किन्तु इस पर उनको परोक्ष रूप से खेल के ‘अंपायर’ यानि पाकिस्तान आर्मी के बड़े अफसरों का साथ मिल रहा है।

5 अक्टूबर 1952 को सुबह 11 बजकर 50 मिनट पर लाहौर में जन्मे इमरान खान की कुंडली धनु लग्न और मेष राशि की है। इमरान खान की कुंडली में लग्न में बैठा मंगल पंचमेश होकर लग्नेश गुरु के साथ स्थान-परिवर्तन कर एक बड़े राजयोग का सृजन कर रहा है। मंगल की महादशा में वह अपनी टीम को विश्वकप का खिताब दिलाने में सफल हुए थे अब गुरु की महादशा में उनके पाकिस्तान का वजीरे आजम बनाने के आसार लग रहे हैं। गुरु पंचम भाव में चन्द्रमा के साथ सुन्दर गजकेसरी योग बना रहा है। अंतर्दशा नाथ शनि राज-सत्ता के दशम भाव में सूर्य और बुध के साथ राजयोग में सम्मलित है। गुरु में शनि की अंतर्दशा में चल रहे इमरान खान गठबंधन सरकार का मुखिया बनकर सत्ता पर काबिज हो सकते हों।

Products You May Like

Articles You May Like

Huawei Nova 3i vs ओप्पो एफ9
YouTube down: पूरी दुनिया भर में यूट्यूब हुआ डाउन, यूजर्स को हो रही परेशानी
हिज्‍बुल के आतंकी की AMU में नमाज-ए-जनाजा पढ़ने पर 3 छात्रों पर देशद्रोह का केस, कश्मीरी छात्रों ने दी ये ‘चेतावनी’
शस्त्र पूजन: इन देवियों की पूजा करके रावण का वध करने निकले थे भगवान राम
अकबर के नाम रवीश कुमार का वह पत्र, जब सब मोदी नाम की आंधी के खौफ में थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *