नासा ने रचा इतिहास, बृहस्पति पहुंचा जूनो अंतरिक्षयान

विज्ञान

नासा के मानवरहित अंतरिक्षयान जूनो ने बृहस्पति की कक्षा में घूमना शुरू कर दिया है। सौरमंडल के सबसे बड़े ग्रह की उत्पत्ति का रहस्य सुलझाने के लिए शुरू किए गए 1.1 अरब डॉलर के इस मिशन की यह एक प्रमुख उपलब्धि है।

नासा की कैलिफोर्निया स्थित जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी में अभियान नियंत्रण से जुड़े एक कमेंटेटर ने कहा, ‘‘बृहस्पति पर स्वागत है।’’ बृहस्पति की लक्षित कक्षा में सौर वेधशाला के सफलतापूर्वक प्रवेश कर जाने पर इस कमरे में लोगों की उल्लास से भरी आवाजें गूंजने लगीं। इस यान ने रात 11 बजकर 53 मिनट पर बृहस्पति की कक्षा में प्रवेश किया।

पांच साल पहले फ्लोरिडा के केप केनवेराल से प्रक्षेपित इस यान ने यहां पहुंचने से पहले 2.7 अरब किलोमीटर का सफर तय किया है।

नासा के प्रमुख जांचकर्ता स्कॉट बोल्टन ने बेहद उल्लास के साथ चिल्लाते हुए कहा, ‘‘हम उसमें पहुंच गए।’’ उन्होंने मिशन कंट्रोल में लगे अपने सहकर्मियों से कहा, ‘‘आप लोग अब तक की सर्वश्रेष्ठ टीम हैं।’’ बोल्टन ने कहा, ‘‘आपने नासा की अब तक की सबसे मुश्किल चीज को अंजाम दिया है।’’

Products You May Like

Articles You May Like

राशिफल 22 अक्टूबरः सप्ताह के पहले दिन इन 6 राशियों में लाभ का योग
CBSE: बदले नियम, खुलेंगे 8000 नए स्कूल
तेज रफ्तार बस की टक्कर के बाद कई वाहन भिड़े, डीटीसी के दो कंडक्टरों की मौत
फोटो: कोलकाता में नवरात्र की धूम, मां दुर्गा की भक्ति में सराबोर है शहर
फरीदाबाद का ‘बुराड़ी कांड’ : चारों मृतकों ने बुराड़ी के कब्रिस्तान में ही दफन किए जाने की जताई इच्छा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *