मौका: एक्चुअरी बनिए, 15-20 लाख का पैकेज

कैरियर, जॉब junction
सांकेतिक तस्वीरसांकेतिक तस्वीर

एक्चुरियल साइंस से मतलब एक ऐसी विधा से है, जिसके तहत इंश्योरेंस रिस्क, इंश्योरेंस प्रीमियम और इंश्योरेंस कंपनियों के प्रबंधन से संबंधित काम किया जाता है। इसमें जीवन बीमा ही नहीं, प्रॉपर्टी और अन्य मूल्यवान सामग्रियों के बीमे का कारोबार भी शामिल है। एक्चुरियल साइंस के विशेषज्ञ को एक्चुअरी कहा जाता है। उनका मुख्य काम होता है कि आने वाले समय में कारोबार पर किस तरह का असर पड़ सकता है। इसके लिए वे अतीत की घटनाओं का विश्लेषण करते हैं। यानी उनका असल काम इंश्योरेंस रिस्क और प्रीमियम का कैलकुलेशन होता है।

कोर्स के बारे में

कोर्स में बताया जाता है कि कैसे गणित और सांख्यिकीय तरीकों का उपयोग करके रिस्क का आकलन करना है। छात्रों को रिस्क मैनेजमेंट, भविष्य के आकलन के सिद्धांत, खतरे के टेबल के प्रसार, कंप्यूटर की सहायता से रीसर्च, सेकंड्री डेटा का विश्लेषण, बिजनस के क्षेत्र के साथ-साथ बीमा क्षेत्र के आर्थिक खतरों के आकलन के बारे में भी बताया जाता है।

भारत में संभावनाएं

एक्चुरियल साइंस भारत में अपेक्षाकृत नया करियर है। आप बैंकिंग और बिजनस फील्ड में करियर बना सकते हैं। आज के समय में एक्चुअरी को सबसे ज्यादा वेतन दिया जाता है। इस इंडस्ट्री में फ्रेशर को ही 10 लाख रुपये सालाना का पैकेज मिलता है। दुनिया के किसी भी कोने में इस जॉब में काफी पैसा है।

भारत में वेतन

एक्चुरियल साइंस के स्टूडेंट को इंटर्नशिप में ही स्टाइपेंड के तौर पर 40 हजार रुपये का महीना मिल सकता है। भारत में एक एक्चुअरी का वेतन करीब 15 से 20 लाख रुपये है जो उनके कौशल, दक्षता और ज्ञान पर निर्भर करता है।

योग्यता

कई यूनिवर्सिटी एक्चुरियल साइंस में अंडरग्रैजुएट कोर्स और पोस्ट ग्रैजुएट कोर्स ऑफर करती है। सांख्यिकी और गणित पर मजबूत पकड़ होनी चाहिए और उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए। कैंडिडेट का 12वीं कॉमर्स स्ट्रीम से पास होना चाहिए। अलग-अलग संस्थान अपनी प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन करते हैं जिनके आधार पर दाखिला होता है।

एक्चुरियल साइंस एंट्रेंस एग्जाम

इंस्टिट्यूट ऑफ एक्चुअरीज ऑफ इंडिया एंट्रेंस एग्जाम

एक्चुरियल सोसायटी ऑफ इंडिया एंट्रेंस एग्जाम

भारत के टॉप एक्चुरियल साइंस कॉलेज

*
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

* अमिटी स्कूल ऑफ इंश्योरेंस एंड एक्चुरियल साइंस नोएडा

* मणिपुर यूनिवर्सिटी

* बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टेक्नॉलजी

* बिशप हर्बर कॉलेज

* यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास

* यूनिवर्सिटी ऑफ कल्याणी

* गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी

* जयपुरिया इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट

* आरएनआईएस कॉलेज ऑफ इंश्योरेंस

Articles You May Like

‘मोदी इकॉनमी’ की रेटिंग कचरे से भी बुरी: राहुल
भारत की क्षमता, संकट प्रबंधन पर है भरोसा, निश्चित ही हम अपनी वृद्धि वापस हासिल करेंगे: मोदी
नहीं चलेगी चीन की चाल, जानें भारत की तैयारी
कर्ज लेकर खर्च बढ़ाने की नीति से निकलने की कुशल रणनीति की भी जरूरत: सदस्य
रंजीत ने बेटी के साथ ‘महबूबा’ गाने पर किया धमाकेदार डांस, Video देख बॉलीवुड कलाकारों ने भी की तारीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *