दिल्ली जीत के बाद पूरे देश में चुनाव लड़ेगी AAP

देश
NBT

नई दिल्ली

दिल्ली विधानसभा चुनाव में शानदार जीत से उत्साहित आम आदमी पार्टी (आप) ने अपने विस्तार के लिए पूरे देश में स्थानीय निकाय चुनाव लड़ने का फैसला किया है। आप के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने पीटीआई को दिये साक्षात्कार में कहा कि पार्टी ने ”सकारात्मक राष्ट्रवाद” के साथ पार्टी के विस्तार पर चर्चा करने के लिये रविवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है।

रविवार को पार्टी की बैठक में एजेंडा तय होगा

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल के करीबी राय ने कहा कि पार्टी पहले चरण में पंजाब समेत कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव लड़ने पर भी नजरें टिकाए हुए है। उन्होंने कहा, ”रविवार को होने वाली बैठक का एजेंडा बड़े पैमाने पर स्वंयसेवकों को पार्टी शामिल करके हमारे संगठन को राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार देना है।”

दिल्ली के 13 विधायकों पर महिलाओं के खिलाफ संगीन अपराध का आरोप

केजरीवाल की पिछली सरकार में मंत्री रहे राय ने कहा कि लोग फोन नंबर (9871010101) पर मिस कॉल करके ‘आप’ के ”राष्ट्र निर्माण अभियान” से जुड़ सकेंगे।

अरविंद केजरीवाल के शपथग्रहण में किसी सीएम को निमंत्रण नहींअरविंद केजरीवाल के शपथग्रहण में किसी सीएम को निमंत्रण नहींदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह के मंच पर विपक्षी नेताओं के एकता वाली तस्वीर दिखाई नहीं देगी. आम आदमी पार्टी सूत्रों के मुताबिक अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में सिर्फ न्योता दिल्ली वालों के लिए भेजा जाएगा.

पार्टी स्वयंसेवकों को जोड़ेगी

उन्होंने कहा, ”हम इस अभियान के जरिए बड़े पैमाने पर लोगों के बीच जाकर उन्हें स्वयंसेवक बनाएंगे। पार्टी देशभर में स्थानीय निकाय चुनाव लड़ेगी। आम आदमी पार्टी मध्य प्रदेश और गुजरात में आगामी स्थानीय निकाय चुनाव भी लड़ेगी।” उन्होंने कहा, ”हम दिल्ली में सकारात्मक राष्ट्रवाद का प्रसार करेंगे, जो प्रेम और सम्मान पर आधारित होगा। भाजपा का राष्ट्रवाद घृणा और विभाजन पर आधारित है।”

Articles You May Like

बिहार: सिपाही परीक्षा के ऐडमिट कार्ड जारी
मलाइका अरोड़ा ने खोला अपने ऑडिशन से जुड़ा राज, बोलीं- जब 17 साल की थी तब ही….
आर्टिकल 370 पर टूटेगी PDP? एक और इस्‍तीफा
नोरा फतेही के गाने पर रश्मि देसाई संग नाच रहे थे आसिम रियाज, हिमांशी खुराना का यूं आया रिएक्शन- देखें Video
चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी, अब तक 1868 लोगों की हो चुकी है मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *