तुर्की को जवाब, अंदरूनी मामले में दखल ना दो

देश
NBT
हाइलाइट्स

  • एर्दोआन ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद में कश्मीर को लेकर की बयानबाजी
  • कश्मीरियों के संघर्ष की तुलना विश्व युद्ध में विदेशी शासन के खिलाफ तुर्कों की लड़ाई से की
  • पाकिस्तान से उत्पन्न आतंकवाद के गंभीर खतरे के प्रति समझ विकसित करे तुर्की: भारत

नई दिल्ली

पाकिस्तान की संसद में कश्मीर पर बयानबाजी करने वाले तुर्की के राष्ट्रपति को भारत ने साफ-साफ शब्दों में चेतावनी दे दी है। विदेश मंत्रालय ने तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि वह भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं किया करे। इसके साथ ही, भारत ने तुर्की को पाकिस्तान के आतंकवाद पर ध्यान देने की नसीहत दी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति द्वारा दिए गए सभी संदर्भों को भारत खारिज करता है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है जो उससे कभी अलग नहीं हो सकता। एर्दोआन ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद में अपने संबोधन में ‘कश्मीरियों के संघर्ष की तुलना प्रथम विश्व युद्ध के दौरान विदेशी शासन के खिलाफ तुर्कों की लड़ाई से की।’

पढ़ें: कश्मीर पर तुर्की ने पाकिस्तान को दिखाया बड़ा सपना

जम्मू-कश्मीर पर एर्दोआन के बयान को लेकर कुमार ने कहा, ‘भारत जम्मू-कश्मीर के संबंध में दिए गए सभी संदर्भों को खारिज करता है। वह भारत का अभिन्न अंग है जो उससे कभी अलग नहीं हो सकता।’ उन्होंने कहा, ‘हम तुर्क नेतृत्व से अनुरोध करते हैं कि वह भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप ना करे और भारत और क्षेत्र के लिए पाकिस्तान से उत्पन्न आतंकवाद के गंभीर खतरे सहित अन्य तथ्यों की उचित समझ विकसित करे।’

Articles You May Like

सुरक्षा कारणों से J&K में पंचायत उपचुनाव टले
सड़क सुरक्षा सम्मेलन में भाग लेने के लिए स्टॉकहोम रवाना हुए गडकरी
Delhi: भजनपुरा इलाके में कलयुगी पति ने पत्नी की गला दबाकर की हत्या, जानिए क्या थी वजह
शेयर बाजारों में नरम शुरुआत
सारा अली खान ने ‘नागिन धुन’ पर यूं किया रैंप वॉक, दर्शकों में मच गया हल्ला- देखें Video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *