डेटा खपत बढ़ने से 4जी स्पेक्ट्रम खरीदने की मंशा रखती हैं दूरसंचार कंपनियां: सीओएआई

बिज़नेस
NBT

नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) ने कहा है कि डेटा की बढ़ती मांग को देखते हुये रिलायंस जियो और भारती एयरटेल जैसी दूरसंचार कंपनियां संभवत: प्रस्तावित नीलामी में 4जी स्पेक्ट्रम खरीदना चाहेंगी। सरकार अगले दौर की स्पेक्ट्रम नीलामी इस साल अक्टूबर में आयोजित करने की तैयारी कर रही है। इस नीलामी में सरकार करीब 3.8 लाख करोड़ रुपये मूल्य के 8,000 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगी। इस स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल 4जी सेवाओं के लिए होता है। सीओएआई के महानिदेशक राजन एस मैथ्यूज ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि रिलायंस जियो और भारती एयरटेल ने इस बात का संकेत दिया है कि वे 4जी स्पेक्ट्रम खरीदने की इच्छुक हैं। इसकी वजह बढ़ती मांग और ट्रैफिक के रुख में बदलाव है।’’ हालांकि, इससे पहले सीओएआई ने दूरसंचार क्षेत्र में वित्तीय दबाव के मद्देनजर स्पेक्ट्रम नीलामी का विरोध किया था। सरकार ने पूर्व में हुई नीलामियों तथा नीलामी के आगामी दौर के लिए भुगतान की शर्तों में ढील दी है। पहले कंपनियों को नीलामी में खरीद गए स्पेक्ट्रम का भुगतान आठ किस्तों में करना होता था। अब इसे बढ़ाकर 16 किस्त कर दिया गया है।

Articles You May Like

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को लेकर इटली के डॉक्टर के दावों को बताया गलत
Choked Movie Review: रिलेशनशिप और नोटबंदी की धारदार जुगलबंदी है अनुराग कश्यप की ‘चोक्ड’
रोहित रॉय ने किया पोस्ट, साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत हुए कोरोना से संक्रमित
भारत की क्षमता, संकट प्रबंधन पर है भरोसा, निश्चित ही हम अपनी वृद्धि वापस हासिल करेंगे: मोदी
उत्पाद से जुड़ी प्रोत्साहन योजना पर तीन जून को उपकरण निर्माताओं के साथ बैठक करेगा दूरसंचार विभाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *