विचार

बाघ लगातार मर रहे हैं। कहीं उनका शिकार हो रहा है, कहीं वे दुर्घटना में मारे जा रहे हैं, तो कहीं इंसानी आबादी के बीच आ जाने के कारण लोग उन्हें मार दे रहे हैं। बुधवार को ओडिशा के सतकोसिया वन्यजीव अभयारण्य के अंदरूनी क्षेत्र में महावीर नामक एक बाघ मृत पाया गया। इससे देश
0 Comments
भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने बुधवार को जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट के जरिए नवीनतम संचार उपग्रह जीसैट 29 को सफलतापूर्वक कक्षा में पहुंचाकर रॉकेट साइंस के क्षेत्र में एक और मील का पत्थर पार कर लिया। इस ऐतिहासिक उपलब्धि की बदौलत भारत अंतरिक्ष अभियानों के मामले में दुनिया के चुनिंदा देशों के ग्रुप में शामिल हो
0 Comments
देश में बिक रहे करीब 50 फीसदी दूध में मिलावट पाई गई है। यह खुद में काफी परेशान करने वाली खबर है। जांच के लिए उठाए गए नमूनों में कच्चा और प्रॉसेस्ड, दोनों तरह के दूध शामिल हैं। फसाई (फूड सेफ्टी ऐंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया) के सर्वे से यह खुलासा हुआ है। फसाई ने
0 Comments
हिंदी पट्टी के पिछड़ेपन की जड़ें उसके भाषिक चरित्र में भी हैं। जनगणना के आंकड़े बताते हैं कि हिंदी बोलने वाले 52 करोड़ लोगों में केवल 3.2 करोड़ ही द्वैभाषिक हैं। मतलब, इतने ही लोग अपनी भाषा के अलावा अंग्रेजी पढ़-लिख सकते हैं। उनसे काफी कम आबादी वाले कई अन्य भाषा-भाषी अंग्रेजी ज्ञान में उनसे
0 Comments
भारत की डिवेलपमेंट स्टोरी के लिए यह सर्वेक्षण किसी तमाचे से कम नहीं है। वडोदरा के गैर सरकारी संगठन ‘सहज’ और इक्वल मेजर्स 2030 के एक सर्वे के अनुसार भारत में करीब एक-तिहाई शादीशुदा महिलाएं पतियों से पिटती हैं। 15 से 49 साल के आयु वर्ग की महिलाओं में से करीब 27 फीसदी 15 साल
0 Comments
आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव इन दिनों अपने एक निजी फैसले के कारण सुर्खियों में हैं। वह अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक लेना चाहते हैं। चूंकि मामला एक चर्चित सियासी परिवार से जुड़ा है, इसलिए लोग आदतन इसमें मनोरंजन का मसाला ढूंढ़ रहे हैं। तेजप्रताप पर मीडिया का इतना
0 Comments
फाइल फोटो अमेरिका के मध्यावधि चुनाव के नतीजों का संदेश स्पष्ट है कि राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप खुद को बदलें और व्यावहारिक व संतुलित रवैया अपनाएं। गौरतलब है कि अमेरिकी संसद के चुनाव में डेमोक्रैट्स ने निचले सदन प्रतिनिधि सभा में बहुमत हासिल कर लिया है हालांकि सीनेट में रिपब्लिकंस का दबदबा बरकरार रहा। सीनेट की
0 Comments
खाड़ी देशों में कमाने गए हिंदुस्तानी वहां से अपनी गाढ़ी कमाई का जो हिस्सा घर भेजते हैं, उसकी चर्चा हमेशा होती है। लेकिन इसकी जो कीमत उन्हें चुकानी पड़ती है, उस पर अमूमन किसी का ध्यान नहीं जाता। हाल ही में आरटीआई के तहत हासिल की गई सूचनाओं के विश्लेषण से जो चित्र सामने आ
0 Comments
सांकेतिक तस्वीर दिवाली आज है लेकिन इसकी जगर-मगर हफ्ता भर पहले ही दिखने लगी थी। पिछले कुछ सालों से इस त्योहार में खुशी और उत्साह से ज्यादा एक तरह की बेचैनी और हड़बड़ाहट का पुट आ गया है। एक अजीब सी होड़ नजर आती है कि कहीं हम पीछे न रह जाएं। पिछली बार एक
0 Comments
केंद्रीय सूचना आयुक्त (सीआईसी) जिस तरह से भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर को कड़े शब्दों में नोटिस जारी करने को मजबूर हुए हैं, वह इस बात का स्पष्ट संकेत है कि देश की प्रमुख संस्थाओं के शीर्ष पर बैठे लोग सूचना के अधिकार को हलके में ले रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद
0 Comments
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) के लिए जिस धमाकेदार दिवाली तोहफे का ऐलान किया, उसके साथ यह राहत का भाव जुड़ा है कि अर्से बाद सरकार छोटे कारोबारियों की फिक्र करती नजर आई है। आज भी भारत में सबसे ज्यादा नौकरियां इसी सेक्टर में मिलती हैं, लिहाजा एमएसएमई
0 Comments
वर्ष 2030 तक देश के कम से कम 20 शहरों में वहां मौजूद हवाई अड्डे के अलावा एक और हवाई अड्डे की जरूरत पड़ेगी। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के एक अध्ययन के शुरुआती दौर में यह बात सामने आई है। इन शहरों में मुंबई, दिल्ली, गोवा, विशाखापत्तनम, जयपुर, पुणे, पटना, कोलकाता और बंगलुरु शामिल हैं। यह
0 Comments
भारत में बिजनस करना लगातार आसान होता जा रहा है। विश्व बैंक की ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनस’ रैंकिंग में भारत 23 अंकों की छलांग लगाते हुए 77वें पायदान पर पहुंच गया है। साल 2017 में भी ऐसी ही छलांग लगाकर भारत 100वें स्थान पर पहुंचा था। इस इंडेक्स के निर्धारण के लिए कुछ मानक तय
0 Comments
इंसान ने पृथ्वी पर रहने वाले अन्य प्राणियों का जीना मुहाल कर दिया है। वर्ल्ड वाइल्ड फंड (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ) और लंदन की जूलॉजिकल सोसायटी (ज़ेएसएल) द्वारा जारी रिपोर्ट ‘लिविंग प्लैनेट’ के मुताबिक 1970 से 2014 के बीच कशेरुकी (रीढ़ वाले) प्राणियों की 60 फीसदी आबादी खत्म हो चुकी है। 2010 तक इनकी आबादी 48 प्रतिशत बची
0 Comments
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और केंद्र सरकार के बीच बढ़ता मतभेद दुर्भाग्यपूर्ण है। समय रहते इसे सुलझा लेने की जरूरत है। दोनों के बीच असहमति उस वक्त उजागर हुई जब आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने मुंबई में अपने एक भाषण में कहा कि केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता कमजोर पड़ी तो उसके खतरनाक परिणाम
0 Comments
सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर सुनवाई जनवरी तक टाल दी है लेकिन अदालत के इस रुख से मसला ठंडा होता नहीं दिख रहा। राजनीतिक और धार्मिक नेताओं के एक हिस्से ने इसे लेकर जो प्रतिक्रिया जाहिर की है, उसका लोगों में नकारात्मक संदेश गया है। पिछले कुछ समय से सत्तारूढ़ दल और उसके सहयोगी
0 Comments