राशि

भारत में चार चौसठ योगिनी मंदिर हैं, जो दो ओडिशा और दो मध्य प्रदेश में हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के मुरैना में स्थित चौसठ योगिनी मंदिर सबसे प्रमुख और प्राचिन है। यह भारत के उन चौसठ योगिनी मंदिरों में से एक है जो अभी भी अच्छी दशा में बचे हैं। यह मंदिर तंत्र-मंत्र के लिए
0 Comments
चंद्रग्रहण का आरंभ सुबह के 9 बजकर 4 मिनट पर हुआ है! यह 12 बजकर 21 मिनट पर समाप्‍त होगा। आइए देखते हैं इसकी शानदार तस्‍वीरें
0 Comments
शाह शुजा को जब पता चला कि उनकी पुत्री वैराग्यपूर्ण भावनाओं से ओतप्रोत है तो वह सोच में पड़ गए। पुत्री विवाह की उम्र में पहुंच रही थी। काफी सोच-विचार के बाद उन्होंने उसका विवाह एक ज्ञानी फकीर से कर दिया। इसके पीछे उनका आशय था कि उसकी धर्मपरायण भावनाओं को ठेस न पहुंचे और
0 Comments
डॉ. अश्विनी शास्त्री इस सप्ताह का शुभारंभ पौष मास के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि यानी पौष पूर्णिमा के साथ हो रहा है। इससे अगले ही दिन यानी मंगलवार से माघ मास का कृष्ण पक्ष आरंभ हो जाएगा, जो आगामी 4 फरवरी को मौनी अमावस्या वाले दिन समाप्त हो जाएगा। हमारे शास्त्रों में माघ, कार्तिक
0 Comments
समय का देवता हर व्यक्ति के दरवाजे प्रतिदिन नया उपहार लेकर आता है। जो इंसान पूरी जागरूकता से उसका स्वागत करता है, वह धन्य और कृतकृत्य हो जाता है। जो आलस्य और प्रमाद में समय की उपेक्षा व अवज्ञा करता है, वह उसकी दिव्य भेंट से वंचित हो जाता है। विक्टर ह्यूगो ने कहा भी
0 Comments
कुंभ में लोगों के आकर्षण का केन्द्र अमूमन नागा संत ही होते हैं, जो शैव अखाड़ों से संबंध रखते हैं। लेकिन तीन अखाड़े ऐसे भी हैं, जो वैष्णव मत से संबंध रखते हैँ। इन अखाड़ों में नागा सन्यासी नहीं होते। तीनों अखाड़े राम और कृष्ण के विभिन्न रूपों के उपासक हैं और हनुमान इनके मुख्य
0 Comments
21 जनवरी सोमवार को पौष पूर्णिमा के दिन साल 2019 का पहला चंद्रगहण लग रहा है। ग्रहण का आरंभ सुबह 9 बजकर 4 मिनट पर होगा और ग्रहण का स्पर्श 10 बजकर 11 मिनट पर होगा। ग्रहण का मध्य यानी परमग्रास 10 बजकर 42 मिनट पर और स्पर्श समाप्त 11 बजकर 13 मिनट पर होगा।
0 Comments
साल 2019 का पहला चंद्रग्रहण 21 जनवरी को लग रहा है। ग्रहण का सूतक लगा हुआ है और बस कुछ ही देर में ग्रहण शुरू होने वाला है। यह ग्रहण पौष पूर्णिमा पर पड़ रहा है। चंद्रग्रहण होने के साथ लोगों को इससे जुड़े प्रभावों के बारे में भी जानना आवश्यक है। चंद्रग्रहण से आम
0 Comments
इस साल का पहला चंद्रग्रहण दिनांक 21 जनवरी को पड़ रहा है। वैज्ञानिकों के अनुसार जब चंद्रमा, पृथ्वी और सूर्य जब एक ही रेखा में आते हैं तब चांद पर पृथ्वी की प्रच्छाया पड़ती है यह घटना चंद्रग्रहण कहलाती है। चंद्रग्रहण पूर्णिमा को पड़ता है। भारतीय समयानुसार यह चंद्रग्रहण, पौष पूर्णिमा 21 जनवरी को खग्रास चन्द्रग्रहण लगेगा। ग्रहण
0 Comments
(आज बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत का भी जन्मदिन है। उन्होंने फिल्म ‘एमएस धोनी’ से फिल्मों में कदम रखा था। इन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं साथ ही आज जिनका जन्मदिन है उन्हें भी ढेरों बधाई) मंगल चन्द्रमा और राहु वर्ष के स्वामी हैं। जनवरी के शेष पांच दिनों में अच्छी नौकरी के योग है। यदि आप
0 Comments
राष्ट्रीय मिति माघ 01, शक संवत् 1940 पौष शुक्ला पूर्णिमा सोमवार विक्रम संवत् 2075। सौर माघ मास प्रविष्टे 08, जमादि उल्लावल 14, हिजरी 1440 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 21 जनवरी सन् 2019 ई०। सूर्य उत्तरायण, दक्षिण गोल, शिशिर ऋतु। राहुकाल प्रातः 7 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तक। पूर्णिमा तिथि पूर्वाह्न 10 बजकर 46
0 Comments
शास्त्रों में पौष पूर्णिमा पर्व का विशेष महत्व है। इस दिन माघ मास के पवित्र स्नान का शुभारंभ होता है। पौष मास की पूर्णिमा होने के कारण इसे पूषि पूर्णिमा भी कहा जाता है। पूर्णिमा की गणना के अनुसार, इस दिन से पौष मास समाप्त हो जाता है और माघ मास का आरंभ होता है।
0 Comments
ज्योतिषाचार्य आशुतोष वार्ष्णेयज्योतिष शोध संस्थान के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य आशुतोष वार्ष्णेय के अनुसार, पौष पूर्णिमा पर ग्रह पिण्ड चंद्रमा, ग्रह नक्षत्रों की विशेष स्थिति और सुयोग पर अपनी प्राणदायिनी अमृतमयी किरणों का संचरण कर जल में प्राणदायी उर्जा समाहित करेगा। ग्रह नक्षत्रों की गणना अनुसार, पौष पूर्णिमा के दिन पुष्य नक्षत्र देर रात तक रहेगा। मन,
0 Comments
साल का पहला चंद्रग्रहण सोमवार 21 जनवरी, 2019 को सुबह 10.11 बजे से लेकर 11.12 बजे तक के मध्य घटित होगा। भारत में यह ग्रहण दृष्टिगोचर नहीं होगा, बल्कि अमेरिका और यूरोप के कुछ शहरों में नजर आएगा। ज्‍योतिष शास्‍त्र की मानें तो राजनीतिक रूप से यह ग्रहण अजीबोगरीब फैसलों से पूरे विश्व का होश
0 Comments
साल 2019 का पहला चंद्रग्रहण 21 जनवरी को पड़ने वाला है। पौष पूर्णिमा के दिन लगने वाला यह चंद्रग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। ग्रहण के दोषकाल वाले समय को सूतक कहा जाता है, जो ग्रहण से कुछ घंटे पहले ही शुरू हो जाता है। चंद्रग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले से ही शुरू
0 Comments
प्रयागराजआजमगढ़ की रहने वाली 40 साल की मैना देवी कश्यप अब मैनानंद गिरि बन चुकी हैं। एमए-बीएड की शिक्षा हासिल करने के बाद उन्होंने प्रतियोगी परीक्षाओं के जरिए नौकरी पाने की कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिली। जिससे वह तनाव में जी रही थीं। परिवार खेती-किसानी के जरिए चल रहा था लेकिन इतनी शिक्षा हासिल
0 Comments