राशि

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी कीगले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला। गगन सम अंग कांति काली, राधिका चमक रही आली।लतन में ठाढ़े बनमाली; भ्रमर सी अलक, कस्तूरी तिलक, चंद्र सी झलक; ललित छवि श्यामा प्यारी की॥ श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी
0 Comments
श्री बांकेबिहारी तेरी आरती गाऊं। कुंजबिहारी तेरी आरती गाऊ।श्री श्यामसुन्दर तेरी आरती गाऊं। श्री बांकेबिहारी तेरी आरती गाऊं॥ मोर मुकुट प्रभु शीश पे सोहे। प्यारी बंशी मेरो मन मोहे।देखि छवि बलिहारी जाऊं। श्री बांकेबिहारी तेरी आरती गाऊं॥ चरणों से निकली गंगा प्यारी। जिसने सारी दुनिया तारी।मैं उन चरणों के दर्शन पाऊं। श्री बांकेबिहारी तेरी आरती
0 Comments
ओम जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा। ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥ओम जय शिव ओंकारा॥ एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे। हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥ओम जय शिव ओंकारा॥ दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे। त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे॥ओम जय शिव ओंकारा॥ अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी। त्रिपुरारी कंसारी कर माला धारी॥ओम जय शिव ओंकारा॥
0 Comments
हस्तरेखा विज्ञान में बताया गया है कि व्यक्ति की हथेली में ना केवल आपकी अमीरी-गरीबी को दिखाता है बल्कि आपके प्रेम के संभव-असंभव हर पहलू को दिखाता है। हाथ की रेखाओं में एक योग बनता है, अगर यह योग किसी की हथेली पर बनता है तो समझ जाएं, उसे जीवन में गुप्त प्रेम होने वाला
0 Comments
हनुमानजी को शाप मिला था कि जब उन्हें अपनी शक्तियों की सबसे अधिक आवश्यकता होगी तब वह अपनी शक्तियां भूल जाएंगे। इस संबंध में रामायण में एक प्रसंग भी आता है, जब हनुमानजी को जामवंत उनकी शक्तियों की दिलाते हैं। केवल हनुमानजी ही नहीं, उनकी माता अंजनी को भी एक शाप भागी बनना पड़ा और
0 Comments
हरा रंग आंखों को हमेशा सुकून देता है। सावन के महीने में तो पूरी प्रकृति ही हरियाली हो जाती है। फिर भी इस महीने में लोग प्रमुखता के साथ हरा रंग पहनते हैं, महिलाएं तो चूड़ियां भी हरे रंग की पहनती हैं। ऐसा क्यों है, इसका अपना धार्मिक महत्व है… 1/3सावन, त्योहार और हम सावन
0 Comments
सावन का महीना चल रहा है और देशभर के शिवालयों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। खासतौर पर सावन सोमवार के दिन मंदिरों में श्रृद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ता है। अगर आप भी सावन में भगवान शिव को प्रसन्न करके आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो उनका पूजन करते समय कुछ बातों का ध्यान
0 Comments
भगवान शिव का पूजन हमें मानसिक शांति देता है। हम भावनात्मक रूप से मजबूती पाने के लिए भी शिव की शरण में जाते हैं और उनसे विनती करते हैं कि हमारे सभी बिगड़े काम संवर जाएं, इस बिनती में बिगड़ी सेहत भी शामिल होती है। शिव का प्रिय महीना सावन चल रह है। यहां जानिए,
0 Comments
मान्यता है कि भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित त्रियुगी नारायण मंदिर में हुआ था। इस मंदिर में आज भी इनके विवाह से जुड़े साक्ष्य मौजूद हैं। यह मंदिर धार्मिक यात्रा करनेवालों और शिव भक्तों के लिए तो हमेशा ही खास महत्व रखता है लेकिन आमजन के बीच
0 Comments
हमारे देश में जीव-जन्तुओं को धर्म और भगवान के साथ जोड़ा गया है। इसके धार्मिक पहलुओं के साथ ही एक कारण मानव के मन में जीव-जन्तुओं के लिए दया भाव पैदा करना भी रहा है। इन जीव जंतुओं में गाय, नंदी, सांप, उल्लू, मोर, चूहा आदि शामिल हैं। सांपों से जुड़ी पर्व नागपंचमी का हमारे
0 Comments
हमारे देश में जीव-जन्तुओं को धर्म और भगवान के साथ जोड़ा गया है। इसके धार्मिक पहलुओं के साथ ही एक कारण मानव के मन में जीव-जन्तुओं के लिए दया भाव पैदा करना भी रहा है। इन जीव जंतुओं में गाय, नंदी, सांप, उल्लू, मोर, चूहा आदि शामिल हैं। सांपों से जुड़ी पर्व नागपंचमी का हमारे
0 Comments
संकलन: आर.डी.अग्रवाललोकमान्य बाल गंगाधर तिलक बचपन से ही सचाई पर अडिग रहते थे। वे स्वयं कठोर अनुशासन का पालन करते थे, परंतु कभी भी किसी की चुगली नहीं करते थे। एक दिन उनकी कक्षा के कुछ छात्रों ने मूंगफली खाकर छिलके फर्श पर बिखेर दिए और पूरी कक्षा में चारों ओर गंदगी फैला दी। कुछ
0 Comments
कुछ झंझट उपस्थित हो सकते हैं, जिन्हें सुलझाने में मशक्कत करनी पड़ेगी। इसलिए शार्टकट का सहारा न लेकर सुरक्षित राह पर चलें।
0 Comments