फ़िल्म रिव्यू

एक 2 साल की बच्ची घर में बिल्कुल अकेली हो, तो उसका अपना ही घर उसके लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है, इसका रोंगटे खड़े करने वाला सिनेमाई चित्रण है फिल्म ‘पीहू‘। विनोद कापड़ी के निर्देशन में बनी फिल्म ‘पीहू’ इसी सेंट्रल आइडिया पर बुनी गई है कि अगर एक छोटा बच्चा घर में
0 Comments
प्रशांत जैन, नवभारतटाइम्स.कॉम, Fri,16 Nov 2018 16:24:58 +05:30 हमारी रेटिंग 3.5 / 5 पाठकों की रेटिंग 3.5 / 5 कलाकारएडी रेडमायने,जॉनी डीप,जूड लॉ,डैन फॉगलर,कैथरीन वॉटरस्टन निर्देशक डेविड येट्स मूवी टाइपAdventure,Fantasy अवधि2 घंटा 14 मिनट
0 Comments
‘जो मजा बनारस में, वह पेरिस में, न फारस में।’ बनारस की इसी अलहदा संस्कृति और बाजारवाद के जद में इसके बदलते स्वरूप की दास्तान है निर्देशक चंद्र प्रकाश द्विवेदी की फिल्म ‘मोहल्ला अस्सी‘। फिल्म बनारस के बहाने बाजारवाद की चपेट में आकर धराशायी होते सामाजिक और नैतिक मूल्य, धर्म और आस्था के नाम पर
0 Comments
‘हमसे दोस्ती कर लीजिए मिर्जा साहब… हमारी दुश्मनी अच्छी नहीं है!’ साम दाम दंड भेद के दम पर कुछ इसी तरह अंग्रेजों ने भारत के राजाओं को धोखा देकर हिन्दुस्तान पर कब्जा कर लिया था। फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ सन 1795 के उस दौर की कहानी बताती है, जब हिंदुस्तान की तमाम रियासतों पर अंग्रेजों
0 Comments
पिछले कुछ अरसे से संजय मिश्रा ऐसे समर्थ कलाकार साबित हुए हैं, जिनको जेहन में रखकर खास तौर पर कहानियां बुनी जा रही हैं। मसान, आंखों देखी, कड़वी हवा, अंग्रेजी में कहते हैं जैसी कई फिल्में हैं, जिनमें संजय मिश्रा ने अपने सिद्धहस्त अभिनेता होने का परिचय दिया। निर्देशक पवन के चौहान की इक्कीस तारीख
0 Comments
कहानी: औरतें इडियट से ही प्यार करती हैं और प्यार में हर आदमी इडियट बन जाता है। फिल्म ‘जैक ऐंड दिल‘ का यह डॉयलॉग काफी कुछ कहता है। लेकिन कई बार फिल्म निर्माता भी एक अदद फिल्म बनाने की चाहत में ऐसी फिल्म बना देते हैं, जिनका कोई सिर-पैर नहीं होता। फिल्म की कहानी के
0 Comments
चंद्र मोहन शर्मा, नवभारतटाइम्स.कॉम, Fri,2 Nov 2018 09:27:58 +05:30 हमारी रेटिंग 2 / 5 पाठकों की रेटिंग 2.5 / 5 कलाकारजावेद जाफरी,निकी अनेजा,मीनाक्षी दीक्षित,विजय राज,ऋषभ चड्ढा,करण आनंद निर्देशक प्रभुराज मूवी टाइपहॉरर अवधि1 घंटा 50 मिनट
0 Comments
रेखा खान, नवभारतटाइम्स.कॉम, Fri,26 Oct 2018 19:38:53 +05:30 हमारी रेटिंग 1 / 5 पाठकों की रेटिंग 1.5 / 5 कलाकारराजकुमार राव,नरगिस फाखरी,बो डेरेक निर्देशक नमृता सिंह गुजराल मूवी टाइपComedy,Romance,Drama अवधि1 घंटा 30 मिनट
0 Comments
डर एक ऐसी चीज है जिसे हम सब महसूस करते हैं। हम सब जानते हैं कि डर क्या होता है। बावजूद इसके जब कोई डरावनी चीज सामने आती है, तो उसका सामना कम ही लोग कर पाते हैं। मसलन अगर हैलोवीन डे के मौके पर सारे डरावने किरदार जिंदा होकर आपको डराने लगें, तो कोई
0 Comments
काशी (शरमन जोशी) अपनी बहन गंगा और माता-पिता के साथ बनारस में रहता है। अपने पुरखों की विरासत संभालते हुए काशी घाट पर मुर्दों को जलाने का काम करता है। काशी की मुलाकात पत्रकार देबीना (ऐश्वर्या देवन) से होती है, जो उसके साथ बनारस घूमना चाहती है। दोनों के बीच नज़दीकियां भी बढ़ जाती हैं।
0 Comments
टाइम्स न्यूज नेटवर्क, Fri,26 Oct 2018 10:44:51 +05:30 हमारी रेटिंग 3.5 / 5 पाठकों की रेटिंग 3.5 / 5 कलाकारराधिका आप्टे,सैफ अली खान,चित्रांगदा सिंह निर्देशक गौरव के. चावला मूवी टाइपक्राइम,ड्रामा,थ्रिलर अवधि2 घंटा 17 मिनट
0 Comments
टाइम्स न्यूज नेटवर्क, Thu,18 Oct 2018 12:22:09 +05:30 हमारी रेटिंग 2 / 5 पाठकों की रेटिंग 2 / 5 कलाकारअर्जुन कपूर,परिणीति चोपड़ा,सतीश कौशिक निर्देशक विपुल अमृतलाल शाह मूवी टाइपरोमांस,कॉमिडी,ड्रामा अवधि2 घंटा 15 मिनट
0 Comments
फर्ज कीजिए कि आप कॉलेज के बाद नौकरी कर रहे हैं और अपनी गर्लफ्रेंड के साथ शादी करके लाइफ सेटल करने की प्लानिंग भी कर रहे हैं। उधर आपके पापा भी अब रिटायरमेंट के नजदीक हैं। तभी अचानक आपको पता चले कि आपकी मम्मी प्रेगनेंट हैं और घर एक और नन्हा मेहमान आने वाला है,
0 Comments
महात्मा गांधी ने कहा था कि धरती पर इंसान की जरूरत के लिए पर्याप्त साधन हैं, उसके लालच के लिए नहीं। निर्माता आनंद एल राय और सोहम शाह की ताजातरीन पेशकश तुंबाड का मूल यही है। ज्यादा पाने का लालच इंसान को कई बार शैतान बना देता है। तुंबाड इशारों-इशारों में आपको ऐसे ही रहस्यमयी,
0 Comments
कुछ वक्त पहले काजोल और शाहरुख की सुपरहिट जोड़ी ‘दिलवाले’ में नजर आई, लेकिन फिल्म बॉक्स आफिस पर कुछ खास नहीं कर पाई। इस फिल्म के बाद काजोल ने एकबार फिर लंबा ब्रेक लिया और अब अपनी होम प्रॉडक्शन कंपनी के बैनर तले बनी बनी इस फिल्म में यकीनन साबित कर दिखाया कि ऐक्टिंग के
0 Comments
आपने किसी समझदार इंसान के मुंह से सुना होगा कि जिस बात को अंजाम तक ले जाना मुमकिन न हो, उसे एक खूबसूरत मोड़ देकर छोड़ दो! निर्माता महेश भट्ट की ‘जलेबी’ भी एक ऐसी ही लवस्टोरी है, जो प्यार के सफर पर एक अलग अंजाम तक पहुंचती है। फिल्म की शुरुआत में एक तलाकशुदा
0 Comments