सीनियर स्टाफ को 3-5% सैलरी हाइक देगी इन्फोसिस

बिज़नेस
हाइलाइट्स

  • इन्फोसिस के ज्यादातर एंप्लॉयीज को अप्रैल महीने में इन्क्रिमेंट्स मिल गए थे
  • सीनियर लेवल के एंप्लॉयीज को जुलाई महीने से इन्क्रिमेंट्स मिलने थे, जो नहीं मिले
  • AVPs, VPs, SVPs और EVPs के सैलरी इन्क्रिमेंट्स के लिए बातचीत हो रही है
  • इन्फोसिस मेंइस रैंक के कुल 500 स्टाफ हैं

शिल्पा फडनीस, बेंगलुरु
इन्फोसिस जनवरी महीने में अपने सीनियर लेवल एग्जिक्युटिव्स की सैलरी बढ़ा सकती है। कंपनी में डिजिटल कॉन्ट्रैक्ट्स के तहत नियुक्त स्टाफ के लिए परफॉर्मेंस इंसेटिव्स पर ज्यादा जोर दिए जाने की भी उम्मीद है। इन्फोसिस के ज्यादातर एंप्लॉयीज को अप्रैल महीने में इन्क्रिमेंट्स मिल गए थे। हालांकि, सीनियर लेवल के एंप्लॉयीज को जुलाई महीने से इन्क्रिमेंट्स मिलने थे, जो नहीं मिले।

सूत्रों के मुताबिक, असोसिएट वाइस प्रेजिडेंट्स (AVPs) , वाइस प्रेजिडेंट्स (VPs), सीनियर वाइस प्रेजिडेंट्स (SVPs) और एग्जिक्युटिव वाइस प्रेजिडेंट्स (EVPs) के सैलरी इन्क्रिमेंट्स के लिए बातचीत हो रही है और बजट भी फाइनल किया जा रहा है। गौरतलब है कि इस रैंक में कुल 500 स्टाफ हैं।

सूत्र बताते हैं कि पिछले वर्ष की तरह इस बार भी इन्हें 3 से 5 प्रतिशत तक की हाइक दी जाएगी। करीब 100 से 150 एग्जिक्युटिव्स को प्रमोशन दिए जाने की भी उम्मीद है। आईटी इंडस्ट्री में नई डिजिटल टेक्नॉलजी के आगमन और बिजनस मॉडल में बदलाव के बाद सीनियर लेवल कंपेनसेशन पर करीबी नजर रखी जा रही है। इस वजह से परफॉर्मेंस आधारित इंसेंटिव्स पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है।

पहले शीर्ष अधिकारियों को रेवेन्यू और ऑपरेटिंग मार्जिन के पारंपरिक आधार पर कंपेनसेशन दिया जाता था, लेकिन अब इन्फोसिस ने इसे डिजिटल परफॉर्मेंस से जोड़ दिया। अनुमान जाताया जा रहा है कि यही पद्धति सेल्स और डिलिवरी से जुड़े निचले स्तर के अधिकारियों के साथ भी लागू होगी जिनके लिए हर वर्ष 15 से 30 करोड़ डॉलर का रेवेन्यू जुटाने का टारगेट होता है।

Products You May Like

Articles You May Like

चाणक्य नीति: इन चार चीजों में पुरुषों से आगे रहती हैं महिलाएं
साप्‍ताहिक राशिफल 15 से 21 अप्रैल वृश्चिक: नवीन योजनाएं क्रियान्वित होंगी
VIDEO: आजम खान की एक और बदजुबानी, MP के विदिशा में पत्रकारों से कही यह बात…
आपसी झगड़े में पत्नी और तीन बच्चों को मारी गोली, खुद भी दे दी जान
अब कांग्रेस का दरवाजा नहीं खटखटाएगी ‘आप’, गठबंधन के नहीं अब कोई आसार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *