दुनिया के सबसे ‘खतरनाक’ हैकर्स खाली कर रहे ATM,जानें बड़ी बातें

टेक

दुनिया के सबसे ‘खतरनाक’ हैकर्स खाली कर रहे हैं ATM, जाानें 10 बड़ी बातें

Web Title:world’s most dangerous hackers are ’emptying’ atms

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

1/11

सबसे बड़ी एटीएम चोरी के बारे में जानें बड़ी बातें
साइबरक्राइम की घटनाओं में पिछले कुछ सालों में जबरदस्त बढ़ोतरी देखी गई है। आजकल मैलवेयर अटैक्स, हैकिंग जैसी घटनाएं आम हैं और इनके जरिए साइबर क्रिमिनल्स का निशाना बनते हैं टारगेट यूजर्स या ग्रुप्स। पिछले कुछ समय में एटीएम हैंकिंग से जुड़ी कई घटनाएं भी सामने आईं हैं। हम स्कीमर के जरिए होने वाली एटीएम हैकिंग की बात नहीं कर रहे, बल्कि हम बात कर रहे हैं दुनियाभर के उन साइबरक्रिमिनल्स की जो एक साथ एक समय पर ही कई देशों के एटीएम को खाली कर देते हैं।

सिक्यॉरिटी फर्म सिमैंटेक की लेटेस्ट रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि एशिया और अफ्रीका में सबसे हाई-प्रोफाइल और खतरनाक साइबरक्रिमिनल्स का ग्रुप कई देशों के एटीएम को ‘खाली’ कर रहा है। अभी तक यह ग्रुप एटीएम से करोड़ो रुपये चुरा चुका है। जानें इस सबसे खतरनाक फिनैंशल धोखाधड़ी के बारे में सबकुछ…

2/11

एटीएम फ्रॉड के बारे में अमेरिकी अधिकारियों ने जारी की चेतावनी

 एटीएम फ्रॉड के बारे में अमेरिकी अधिकारियों ने जारी की चेतावनी

हाल ही में US-CERT, डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्यॉरिटी, डिपार्टमेंट ऑफ ट्रेज़री और एफबीआई ने एटीएम चोरी को लेकर चेतावनी जारी की है। नए अलर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में एटीएम पर हो रहे साइबर हमलों के पीछे Hidden Cobra का हाथ है।

3/11

Lazarus: अधिकतर एटीएम हैकिंग के पीछे है यह ग्रुप

 Lazarus: अधिकतर एटीएम हैकिंग के पीछे है यह ग्रुप

सिमैंटेक के मुताबिक, अधिकर एटीएम हैकिंग की घटनाओं को Lazarus नाम के ग्रुप द्वारा अंजाम दिया जा रहा है। इस ग्रुप का यूएस कोड नेम Hidden Cobra है। यह ग्रुप साइबरक्राइम और जासूसी दोनों में ही बहुत ज्यादा ऐक्टिव है। शुरुआत में इस ग्रुप को इसके जासूसी ऑपरेशंस और हाई-प्रोफाइल अटैक्स के लिए जाना जाता था। इनमें 2014 में सोनी पिक्चर्स पर हुआ अटैक भी शामिल है। Lazarus का नाम WannaCry रैनसमवेयर में भी जुड़ा। इन रैनसमवेयर ने भारत में 2016 में बैंक्स और दूसरे संस्थानों को अपनी चपेट में लिया था।

4/11

FASTCash: ऑपरेशन ‘ATM hack’ का दूसरा नाम

 FASTCash: ऑपरेशन 'ATM hack' का दूसरा नाम

जैसा कि नाम से जाहिर होता है FASTCash नाम के इस ऑपरेशन का उद्देश्य है एटीएम में मौज़ूद कैश को टारगेट करना।

5/11

अब तक की सबसे बड़ी एटीएम चोरी: एक साथ 30 देशों के एटीएम हुए खाली

 अब तक की सबसे बड़ी एटीएम चोरी: एक साथ 30 देशों के एटीएम हुए खाली

Lazarus का नाम सबसे ज्यादा वित्तीय चोरी वाले अटैक में भी शामिल रहा है। इसमें बंग्लादेश सेंट्रल बैंक से 81 मिलिययन यूएस डॉलर की चोरी और WannaCry रैनसमवेयर का नाम शामिल है अमेरिकी अधिकारिकों द्वारा जारी की गई चेतावनी के मुताबिक, 2017 में 30 अलग-अलग देशों में एक साथ एटीएम से कैश निकाला गया। 2018 में एक और बड़ी घटना हुई, जिसमें 23 अलग-अलग देशों में एटीएम से चोरी हुई। अभी तक Lazarus FASTCash द्वारा करोड़ो रुपये की चोरी किए जाने का अनुमान है।

6/11

बैंक नेटवर्क को निशाना बनाना

 बैंक नेटवर्क को निशाना बनाना

धोखाधड़ी से पैसे निकालने के लिए, Lazarus ने सबसे पहले बैंक्स के नेटवर्क में सेंधमारी की और एटीएम ट्रांजेक्शन को हैंडल करने वाले ऐप्लिकेशन सर्वर को स्विच कर लिया। सिमैंटेक की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है।

7/11

बिना सपॉर्ट वाले ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते बैंक पर होते हैं अटैक

 बिना सपॉर्ट वाले ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते बैंक पर होते हैं अटैक

FASTCash के सभी अटैक में अभी मामलों में अभी तक पता चला है कि अटैकर्स ने AIX ऑपरेटिंग सिस्टम के अनसपॉर्टेड वर्ज़न पर चलने वाले बैंकिंग ऐप्लिकेशन सर्वर्स को हैक किया।

8/11

ज़ीरो बैलेंस अकाउंट में होती है सबसे ज्यादा सेंधमारी

ज़ीरो बैलेंस अकाउंट में होती है सबसे ज्यादा सेंधमारी

US-CERT की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ज़ीरो बैलेंस या मिनीमम अकाउंट ऐक्टिविटी वाले अकाउंट्स को सबसे ज्यादा हैकिंग के लिए निशाना बनाया गया।

9/11

किस तरह अंजाम दिए जाते हैं साइबर अटैक

 किस तरह अंजाम दिए जाते हैं साइबर अटैक

अधिकतर ऑपरेशंस के बारे में बहुत स्पष्ट जानकारी नहीं है, लेकिन सिमैंटेक के मुताबिक, ‘संभव है कि अटैकर्स खुद ही अकाउंट खोल रहे हों और उन अकाउंट्स के जारी किए गए कार्ड्स के साथ विड्रॉ रिक्वेस्ट कर रहे हों।’ या फिर संभव है कि अटैक के लिए साइबर अपराधी चोरी किए गए कार्ड्स का इस्तेमाल कर रहे हों।

10/11

मैलवेयर के चलते चोरी होता है कैश

मैलवेयर के चलते चोरी होता है कैश

एक बार बैंक सर्वर्स तक पहुंचने के बाद, मैलवेयर (Trojan.Fastcash) लागू कर दिया जाता है। इस मैलवेयर के चलते Lazarus कैश विड्रॉ की रिक्वेस्ट को टर्न ऑन करता है और फर्जी अप्रूवल भेजता है, जिसके जरिए एटीएम से कैश चोरी किया जाता है।

Products You May Like

Articles You May Like

Honor 10 Lite के सारे स्पेसिफिकेशन सार्वजनिक
विदुर नीतिः ये चीजें जवानी और धन का कर देती हैं नाश
Chhath Pooja 2018: जानें, डूबते सूर्य को क्यों दिया जाता है अर्घ्य
इंदिरा गांधी : भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री
इसी को कहते हैं सृष्टि में प्रलय, इस तरह मिलती है मुक्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *