सरकार नियमों में ढील, धनराशि के लिए आरबीआई पर दबाव जारी रखेगी

बिज़नेस

नई दिल्ली
आरबीआई के साथ जारी गतिरोध के बीच सरकार अधिक कर्ज देने के लिए नियमों में ढील देने और 9.6 लाख करोड़ रुपये की आरक्षित राशि में से कम-से-कम एक तिहाई राशि के हस्तानांतरण के लिए केंद्रीय बैंक पर दबाव देना जारी रखेगी। इस मामले से जुड़े एक सूत्र ने यह जानकारी दी। हाल के दिनों में विभिन्न मुद्दों को लेकर आरबीआई और सरकार के बीच दरार और चौड़ी हो गई है।

सरकार ने हाल में एनपीए नियमों में ढील देकर कर्ज सुविधा बढ़ाने सहित कई मुद्दों के समाधान के लिए आरबीआई अधिनियम के उस प्रावधान का उल्लेख किया है, जिसका उपयोग पहले कभी नहीं किया गया। आरबीआई कानून की धारा 7 के तहत सरकार चाहती है कि आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल तीन चिंताओं को दूर करे। ये चिंताएं अधिशेष कोष, कर्ज और वृद्धि को गति देने के लिये एनपीए नियमों में ढील और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के समक्ष नकदी संकट को दूर करने से जुड़ी हैं।

आरबीआई निदेशक मंडल की 19 नवंबर को आयोजित होने वाली बैठक में इस मुद्दे को उठाए जाने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक सरकार कर्ज सुविधा बढ़ाने के लिए एनपीए नियमों में ढील देने और 9.6 लाख करोड़ रुपये की आरक्षित राशि में से कम-से-कम एक तिहाई के हस्तानांतरण के लिए आरबीआई पर दबाव बनाना जारी रखेगी।

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक केंद्रीय बैंक इससे सहमत नहीं है और वह अपने बही-खाते को मजबूत रखने के लिए अपने पास लाभांश रखना चाहती है।

Products You May Like

Articles You May Like

नजमा अख्तर बनीं जामिया मिलिया इस्लामिया की पहली महिला वाइस चांसलर
इस एक्ट्रेस ने ठुकराई दो करोड़ रुपये की डील, वजह जानकर आप भी कहेंगे ‘शाबाश’
बजरंगबली पर बयान देकर फंसे थे योगी, अब उन्हीं की शरण में पहुंचे, आज हनुमानगढ़ी और रामलला के करेंगे दर्शन
अनिल अंबानी पर राहुल गांधी के हमले के बीच मुकेश अंबानी कांग्रेस उम्मीदवार का समर्थन करते दिखे
सिंह राशिफल 14 अप्रैल: प्रयास करने से कार्य में सफलता मिलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *