CBI विवाद: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मल्लिकार्जुन खड़गे

देश

सीबीआई की आंतरिक जंग में कांग्रेस भी कूदी।
हाइलाइट्स

  • सीबीआई निदेशक को छुट्टी पर भेजने के विवाद में सरकार के फैसले के खिलाफ मल्लिकार्जुन खड़गे कोर्ट पहुंचे
  • खड़गे ने सुप्रीम कोर्ट में सरकार के फैसले के खिलाफ याचिका दायर की है
  • अपनी याचिका में कांग्रेस नेता ने कहा कि नियमों के मुताबिक सीबीआई निदेशक को प्रधानमंत्री द्वारा हटाना अवैध है
  • कांग्रेस सीबीआई में चल रहे घमासान पर लगातार सरकार पर हमला बोल रही है, राहुल गांधी भी इस मुद्दे पर सरकार पर हमला कर रहे हैं

नई दिल्ली

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के अंदरखाने की जंग में अब कांग्रेस भी कूद गई है। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र के सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के फैसले को अवैध बताते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। उन्होंने इसे सीबीआई अधिनियम का उल्लंघन करार देते हुए इसके खिलाफ शनिवार को उच्चतम न्यायालय में याचिका दाखिल की है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता खड़गे ने अपनी याचिका में कहा कि अधिनियम के मुताबिक सीबीआई निदेशक की नियुक्ति या उसे हटाने के बारे में नेता प्रतिपक्ष, प्रधानमंत्री और प्रधान न्यायाधीश की तीन सदस्यीय समिति को ही अधिकार है। इससे पहले राहुल गांधी के नेतृत्व कांग्रेस सीबीआई दफ्तर के बाहर प्रदर्शन भी कर चुकी है।

बता दें कि सीबीआई के टॉप 2 अफसरों के बीच की लड़ाई मीडिया में आने के बाद से सरकार पर विपक्षी दल हमलावर मूड में हैं। प्रतिष्ठित एजेंसी के भीतर की जंग खुलकर पब्लिक में आने के बाद मोदी सरकार ने डैमेज कंट्रोल के तहत सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के पास सीबीआई निदेशक के खिलाफ कार्रवाई का कोई अधिकार नहीं है। खड़गे ने इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर करने की पुष्टि करते हुए बताया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वत: संज्ञान लेते हुए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने की कार्रवाई अवैध है और यह सीबीआई अधिनियम का उल्लंघन भी है।’

congress stages countrywide protest against nda govt over cbi chiefs removal

सीबीआई प्रमुख को हटाने के विरोध में कांग्रेस का देशभर प्रदर्शन
Loading

पार्टी सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस ने खड़गे से कहा था कि वह इस संबंध में याचिका दायर करें। खड़गे सीबीआई निदेशक की नियुक्ति करने वाली समिति के सदस्य भी हैं। बता दें कि सीबीआई में मचे घमासान पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी जमकर निशाना साध चुके हैं। उन्होंने राकेश अस्थाना को पीएम का पसंदीदा अधिकारी बताते हुए भी ट्वीट किया था।

Products You May Like

Articles You May Like

दिल्ली उच्च न्यायालय ने एयरपोर्ट मेट्रो लाइन मामले में मध्यस्थता अदालत के फैसले को खारिज किया
होटेल में नौकरी पर रखे थे 243 रोबॉट्स, अब आधे को निकाला
कुंभ में भीड़ के आंकड़ों की बाजीगरी, मकर संक्रांति पर 2 करोड़ लोगों के स्‍नान करने पर उठे सवाल
जन्मदिन 17 जनवरी: सितंबर 2019 में आर्थिक स्थिति बेहतर होगी
Flipkart Republic Day Sale: 10,000 रुपये से कम कीमत में मिल रहे ये दमदार स्मार्टफोन्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *